पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सुविधा:अब डॉक्टर ऑनलाइन जुड़ेंगे अपने मरीजों से चेकअप के बाद बीमारी का इलाज भी बताएंगे

पंचकूला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ई-संजीवनी एप को लेकर बुधवार को डीसी ने हेल्थ डिपार्टमेंट के अफसरों के साथ बैठक की। - Dainik Bhaskar
ई-संजीवनी एप को लेकर बुधवार को डीसी ने हेल्थ डिपार्टमेंट के अफसरों के साथ बैठक की।
  • ई-संजीवनी एप डाउनलोड करो, बीमारियों का घर बैठे इलाज पाओ
  • रोज सुबह 10 से 1 और 3 से 5 बजे तक मिलेंगे डॉक्टर

जिस तरह प्राइवेट अस्पतालाें के डाॅक्टर मरीजाें के साथ ऑनलाइन जुड़कर उनकी बीमारियाें का इलाज बताते हैं, ठीक उसी तरह अब सरकारी अस्पताल के डाॅक्टर भी आपकाे माेबाइल पर मिलेंगे। आप बिना किसी फीस के डाॅक्टराें से अपनी बीमारी के बारे में पता कर सकते हैं।

इसके लिए आपकाे सुबह 6 या 7 बजे अस्पताल में पहुचंकर कार्ड बनवाने के लिए घंटों लाइनाें में भी नहीं लगना पड़ेगा। आपकाे सिर्फ अपने माेबाइल में ई-संजीवनी एप डाउनलाेड करनी होगी। इस पर आप डाॅक्टराें से भी छाेटी माेटी बीमारी काे लेकर चेकअप करना सकते हैं।

ई-संजीवनी एप पर साेमवार से शनिवार तक डाॅक्टर उपलब्ध रहेंगे। राेजाना सुबह 10 से दोपहर 1 बजे और शाम 3 बजे से 5 बजे तक ई-संजीवनी ओपीडी प्राेग्राम शुरू किया गया है। ई-संजीवनी ओपीडी काे बेहतरीन ढंग से चलाने के लिए डीसी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियाें की मीटिंग ली।

इसमें डीसी मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि ई-संजीवनी ओपीडी लाेगाें के लिए बेहतरीन योजना है। इसके लिए अस्पताल में हेल्प डेस्क भी बनाया गया है, जिससे मरीज को पूरी जानकारी देने के साथ-साथ परामर्श देकर मानसिक रूप से भी सशक्त बनाया जा रहा है।

सीएमओ डाॅ. जसजीत काैर ने बताया कि ई-संजीवनी के जरिए लाेगाें को अब हर छोटी समस्या के लिए अस्पताल आने की आवश्यकता नहीं है। काेराेना काल के बाद लाेग अपनी छाेटी बीमारियाें काे लेकर अस्पतालाें में नहीं आना चाहते। इसके लिए ही लाेगाें की सुविधा के लिए ई-संजीवनी एप के जरिए लाेगाें काे बिना घर से निकले उनकी बीमारी और इलाज के लिए सुविधा शुरू की गई है।

इसमें लाेग अपनी बीमारियाें के बारे में माेबाइल एप के जरिए बात कर सकते हैं और लाेगाें काे अगर काेई दवाई लिखी जाएगी ताे वह भी ई-पर्ची से वह प्राप्त कर सकते हैं। अगर काेई भी इसकी सुविधा लेना चाहता है ताे वेे अपने माेबाइल में ई-संजीवनी एप डाउनलाेड करें, इस पर अपनी बीमारी के बारे में घर बैठे ही डाॅक्टर से राय ले सकते हैं।

200 से ज्यादा डाॅक्टर हैं रजिस्टर्ड...
सिविल सर्जन ने बताया कि अब तक जिले में 200 से ज्यादा डाॅक्टराें को रजिस्टर्ड किया गया है। सभी लाेगाें तक पहुंचने के लिए ई-संजीवनी एप के माध्यम से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। डीसी की ओर से की गई बैठक में सभी काे कहा गया है कि अब ई-संजीवनी एप डाउनलोड करने के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़े और यह एप डाउनलोड करवाएं।

इसके लिए बाल सदन, रेडक्रास, बाल कल्याण परिषद और अन्य वेलफेयर एसोसिएशंस को भी एप से जोड़ा जाए, ताकि ई-संजीवनी ओपीडी के माध्यम से अधिक से अधिक लाेगाें को इसका फायदा दिया जा सके। जिले के हेल्थ वैलनेस सेंटर और आयुर्वेदिक अस्पतालों के डाॅक्टराें को भी इसमें शामिल किया जाए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें