पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रशासन की सख्ती:अवैध हुक्का बार पर कार्रवाई के आदेश और 48 जगहों पर रेड के बाद 1 केस दर्ज

पंचकूला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पंचकूला, कालका, पिंजौर में 30 से ज्यादा अवैध हुक्का बार पर कार्रवाई के गृहमंत्री ने दिए थे आदेश

मंगलवार को पंचकूला, कालका व पिंजौर एरिया में अवैध तौर पर चलने वाले हुक्का बारों को बंद करने के आदेश गृह मंत्री अनिल विज ने दोपहर करीब 12 बजे जारी किए। साथ ही उन्होंने एक घंटे में जिले के सभी हुक्का बारों को बंद कर उनके खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश पंचकूला पुलिस को दिए।

बावजूद पंचकूला पुलिस ने खानापूर्ति कर जिले में अलग-अलग 48 जगहों पर छापा मारा और एक के खिलाफ केस दर्ज कर मामले में इतिश्री कर ली। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या हुक्का बार पुलिस और प्रशासन की शह पर चल रहे थे। रेड के दौरान सेक्टर-5 के वैदा हुक्का बार मालिक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस ने हुक्का बार मालिक शिवम पाठक के खिलाफ धारा 188, 269 और 270 के तहत मामला दर्ज किया है। मंगलवार की सुबह पूर्व डिप्टी सीएम चंद्रमोहन बिश्नोई ने अंबाला स्थित गृह मंत्री अनिल विज के घर जाकर पंचकूला में अवैध तौर पर चलने वाले हुक्का बार को बंद करवाने के लिए ज्ञापन दिया था। जिसके बाद विज ने पुलिस को जिले में अवैध हुक्का बार को बंद करने के आदेश जारी किए थे। मौके पर पूर्व डिप्टी सीएम के साथ कांग्रेस नेता विजय बंसल, दीपांशु बंसल सहित कई लोग थे।

शहर में 12 अवैध हुक्का बार और कार्रवाई एक के खिलाफ

पंचकूला के सेक्टरों में 12 अवैध हुक्का बार है। हैरानी की बात यह है कि गृह मंत्री के आदेश के बाद उनमें से सिर्फ एक पर कार्रवाई हुई। सेक्टर-5 में तीन, सेक्टर-8 में 2 और सेक्टर-11 में तीन अवैध हुक्का बार हैं। पिंजौर के बुर्जकोटियां रोड पर 10 से ज्यादा अवैध हुक्का बार हैं। जहां रोज देर रात 2 बजे तक पार्टियां चलती हैं, लेकिन कोई पुलिस कार्रवाई नहीं होती है। वहीं, कालका में भी करीब आधा दर्जन अवैध हुक्का बार चल रहे।

डस्टबिन तक साफ करवा दिए

दरअसल गृह मंत्री अनिल विज के आदेश के बाद जिले में अवैध तौर पर चल रहे हुक्का बार मालिकों को पहले ही पुलिस रेड की सूचना मिल गई थी, जिसके बाद हुक्का बार मालिकों ने बार बंद कर दिए। यहां तक कि हुक्का बार मालिकों को फोन कर बार के भीतर पूरी तरह से डस्टबिन तक साफ करने के मैसेज भेज दिए।

वहीं, जब इस मामले में डीसीपी मोहित हांडा से बात करने की कोशिश की गई लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया।

खबरें और भी हैं...