पुलिस की नाकामी:सीसीटीवी कैमरों से महीने में 1667 चालान काटने वाली पुलिस नहीं ढूंढ पाई एक कार

पंचकूला3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 30 जून को दो लोगों को टक्कर मारकर फरार हुआ था कार चालक, बुजुर्ग की हुई थी मौत

लाखाें रुपए खर्च करने के बाद पंचकूला की सड़काें पर चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। इनकी क्वालिटी ऐसी है कि अगर गाड़ी में काेई बिना सीट बेल्ट भी है ताे उसका फाेटाे समेत चालान घर पहुंच जाता है। इनकी बदौलत ही पंचकूला पुलिस एक महीने में यािन जून में ही 1667 वाहनों के चालान तक काट चुकी है। लेकिन दूसरी ओर एक कार चालक दाे लाेगाें काे टक्कर मार कर फरार हाे जाता है।

इस हादसे में 60 साल के बुजुर्ग की माैके पर ही माैत हाे जाती है, जबकि 45 साल का व्यक्ति घायल हाे जाता है। इस मामले में 6 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस कार का पता नहीं लगा पाई। हालांकि, जहां हादसा हुआ और कार जिस रास्ते से गुजरी वहां हाई क्वालिटी के कैमरे भी लगे हुए थे।

1 जुलाई काे पुलिस ने दर्ज की थी एफआईआर

सेक्टर-7 पुलिस चाैकी में 1 जुलाई काे मामला दर्ज किया था। पुलिस ने मृतक भैरु बागरिया के बेटे जगदीश बागरिया की शिकायत पर पुलिस ने 279 और 304ए आईपीसी के तहत केस दर्ज किया। जगदीश ने बताया कि 30 जून रात साढ़े 8 बजे के करीब उन्हें किसी ने सूचना दी कि काेई बुजुर्ग सूरज थिएटर के सामने खून से लथपथ पड़ा है।

हादसे में भैरु के सर पर काफी ज्यादा चाेट लगी थी, जिससे उनकी माैके पर ही माैत हाे गई थी। घायल यूनुस अली के भाई अबरार अली ने बताया कि उसका भाई जनरल अस्पताल सेक्टर 6 में भर्ती है। उन्हें कूल्हे के आसपास कई जगहाें पर फ्रेक्चर है।

सीसीटीवी कैमराें काे खंगाला जा रहा है: एएसआई

अभी तक इस कार का नंबर ट्रेस नहीं हाे पाया है। हादसा 30 जून रात 8 बजे के करीब का है, जिसकी फुटेज रेड बिशप और यहां से चंडीगढ़ की ओर से जाने वाली सड़क पर लगे सीसीटीवी कैमराें में भी देखी गई। उस दिन रात 8 बजे के बाद से इन लाइट प्वाइंट पर एक सफेद रंग की कार ताे दिखाई दे रही है, जिस पर डेंट भी पड़ा हुआ है, लेकिन उस कार का नंबर पूरा साफ नहीं दिखाई दे रहा। अब चंडीगढ़ एरिया में सड़काें पर लगे सीसीटीवी कैमराें काे खंगाला जा रहा हैं। -एएसआई अर्जुन सिंह, आईओ, सेक्टर-7 पुलिस चाैकी

खबरें और भी हैं...