हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण / पंचकूला के दो सेक्टर्स की रेजिडेंशियल और कमर्शियल प्रॉपर्टी की होगी ऑक्शन

There will be auction for residential and commercial properties of two sectors of Panchkula
X
There will be auction for residential and commercial properties of two sectors of Panchkula

  • कोरोना काल में पहली बड़ी ऑनलाइन ऑक्शन, एचएसवीपी ने शुरू कर दी तैयारी
  • इस बार प्रॉपर्टी के रिजर्व प्राइस पहले नहीं बताएगा एचएसवीपी, ऑक्शन 30 प्रॉपर्टी

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 08:33 AM IST

पंचकूला. (अमित शर्मा) कोरोना के चलते सब काम रुके हुए थे। लेकिन अब ‘न्यू नॉर्मल’ की तरफ कदम बढ़ गए हैं। इसी कड़ी में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) 7 जुलाई से 30 जुलाई तक अलग-अलग तारीखों पर रेजिडेंशियल और कमर्शियल प्रॉपर्टी की ऑनलाइन ऑक्शन करने जा रहा है।

ऑक्शन में पंचकूला के सेक्टर-21, एमडीसी सेक्टर-6 और सेक्टर-23 की प्रॉपर्टी को एचएसवीपी ने शामिल किया है। ऑक्शन में कुल 30 प्रॉपर्टी रखी गई हैं, जिसकी लिस्ट पंचकूला इस्टेट ऑफिस ने हेड ऑफिस को भेज दी है।  एचएसवीपी ने ऑक्शन में कई तरह के बदलाव किए हैं।

अब ऑक्शन में रखी गई प्रॉपर्टी का रिजर्व प्राइस सार्वजनिक नहीं होगा। अब ऑक्शन से थोड़ी देर पहले ही रिजर्व प्राइस बताया जाएगा। ऑनलाइन बोली लगाने के बाद ही बोलीदाता को उसकी पसंद की प्रॉपर्टी की जानकारी मिलेगी। एचएसवीपी की ओर से पंचकूला के दो सेक्टर्स की प्रॉपर्टी को ऑक्शन में शामिल किया जा सकता है, लेकिन इस्टेट ऑफिस ने तीन सेक्टर्स की प्रॉपर्टी को प्रपोज्ड किया है। अब एचएसवीपी के एडमिनिस्ट्रेटर हेड क्वार्टर की ओर से इस बारे में सर्वे करवाया जा रहा है। नए पैटर्न के हिसाब से पंचकूला, गुरूग्राम, फरीदाबाद, रोहतक, हिसार में एक सेक्टर कमर्शियल तो दूसरा कमर्शियल कैटेगरी में रखा गया है। 

इस डेट को होगी ऑक्शन

  • ऑक्शन पंचकूला, गुरूग्राम, फरीदाबाद, रोहतक और हिसार में होगी।
  • रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी की ऑक्शन 7, 8, 9, 21, 22, 23 जुलाई को होगी। 
  • वहीं कमर्शियल प्रॉपर्टी की ऑक्शन 14,15,16, 28, 29, 30 जुलाई को होगी। 
  • ऑक्शन में पार्टिसिपेट करने के लिए 1 जुलाई से रजिस्ट्रेशन शुरू हो जाएगी।

रेजिडेंशियल कैटेगरी: सेक्टर-21 और सेक्टर-23 से 10 मरले के 10 प्लॉट
पंचकूला सेक्टर-21 और सेक्टर-23 को ऑक्शन की लिस्ट में शामिल किया गया है। सेक्टर-21 में 60 से ज्यादा प्लॉट्स खाली पड़े हैं। सेक्टर-23 में भी 50 से ज्यादा प्लॉट्स खाली हैं। ऑक्शन के लिए 10 मरला कैटेगरी के 10 प्लॉट्स फाइनल किए जाने हैं। यह काम एडमिनिस्ट्रेटर हेडक्वार्टर की टीम करेगी। इन प्लॉट्स का फिजिकली सर्वे होने के बाद यह फाइनल किया जाएगा। सेक्टर-21 में 2100 से 2600 तक के प्लॉट नंबर में काफी प्लॉट्स लोगों ने सरेंडर कर दिए थे। अब इन्हें ऑक्शन में रखा गया है।

कमर्शियल कैटेगरी: एमडीसी सेक्टर-6 के 10 बूथ
कमर्शियल प्रॉपर्टी के हिसाब से एमडीसी सेक्टर-6 को पसंद किया गया है। एमडीसी सेक्टर-6 के 10 बूथों को इस ऑक्शन में रखा जाएगा। हालांकि अभी इस सेक्टर की मार्केट को डेवलप नहीं किया गया है। 2018-19 के बजट के हिसाब से इस सेक्टर में शॉपिंग कॉम्प्लेक्स को बनाने में 5 करोड़ रुपए खर्च किए गए थे। यहां पार्किंग, सड़कें और लाइट्स पर काम हुआ था। अब इस सेक्टर के बूथों को ऑक्शन में रखा जा रहा है।

ऐसे समझिए: दो स्लैब में बांटी ऑक्शन

फर्स्ट स्लैब... अगर 1 से 10 नंबर तक के बूथों के लिए ऑनलाइन ऑक्शन होनी है तो बोली से कुछ देर ही पहले ही रिजर्व प्राइस बताया जाएगा। जिसकी बोली सबसे ज्यादा चढ़ेगी, उसे यह चूज करने का मौका मिलेगा कि उसे 1 से 10 नंबर तक बूथों में कौन सा बूथ चाहिए। 

सेकेंड स्लैब... 10 मिनट के दौरान अगर सबसे ज्यादा बोली लगाने वाले अलॉटी की प्रॉपर्टी पर किसी अन्य ने बोली लगाकर दावा किया तो चूज किए गए बूथ नंबर पर बोली लगेगी। यहां सेकेंड स्लैब शुरू हो जाएगी। इस दौरान बोली लगाने वाले को 10-10 मिनट का समय मिलेगा। ये समय 5 बार बढ़ाया जा सकता है। सैकेंड स्लैब में लगने वाली बोली फर्स्ट स्लैब से दोगुनी हो जाएगी। यानी 50 लाख रुपए प्रॉपर्टी वैल्यू पर प्रति बोली 10 हजार, एक करोड़ तक 20 हजार और एक करोड़ से ऊपर 40 हजार रुपए की बोली लगाई जा सकेगी।

इसके बाद बाकी प्राॅपर्टी पर लगेगी बोली
जब एक प्रॉपर्टी पर बोली लगाकर उसे कोई अलॉटी ले लेगा तो उसके बाद बाकी बची प्रॉपर्टी पर बाकी अलॉटी बोली लगा सकते हैं। इसके बाद दोबारा ऑक्शन ऐसे ही चलती रहेगी। पहले लगी बोली के अनुसार ही अगली बोली लगाई जाएगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना