समस्या:ईंटें ढोने वाली ट्रैक्टर-ट्राॅलियाें से ट्रैफिक प्रभावित

बरवाला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तमाम यातायात नियमों की अनदेखी कर पुलिस का मजाक बनाया जा रहा, कार्रवाई करने की मांग

रायपुररानी/बरवाला में यातायात व्यवस्था बुरी तरह से चरमराई हुई है। यूं कहें की पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी लेकिन, इसके बावजूद पुलिस भारी वाहनों तथा ओवरलोड वाहनों पर कार्रवाई नहीं कर रही है जिससे हादसों का हमेशा ही डर बना रहता है। मुख्य सड़कों पर इन दिनों तो ट्रैक्टर-ट्राॅलियों में बड़ी संख्या में इंटें लादकर ले जाई जा रही है।

ईंटें ट्रॉली में ऊपर तक भरने के कारण बाहर लटकती रहती है। ऐसे वाहनों के पीछे चलने वाले वाहनों के साथ हमेशा ही खतरे का डर बना रहता है। चूकिं ट्रैक्टर-ट्राॅली से कई फीट बाहर निकली ईंटें कभी भी बड़े हादसे को अंजाम दे सकती है लेकिन फिर भी पुलिस ऐसे वाहनों पर कार्रवाई करने की बजाय केवल नजर हटाकर छोड़ देती है।

बता दें कि ट्रैक्टर-ट्राॅलियों का पंजीकरण खेती संबंधित कार्य के लिए होता है। मगर, बड़ी संख्या में ट्रैक्टर मालिक इनका व्यवसायिक उपयोग कर रहे हैं। जबकि किसी भी सामान को लाने-ले-जाने की अनुमति ट्रैक्टर-ट्राॅलियों को नहीं होती है। बहरहाल, पुलिस के पास सड़क अवरोध के तहत कई कार्रवाई करने के प्रावधान है।

बावजूद इसके पुलिस की ओर से किसी तरह की कार्रवाई नहीं की जाती है। नतीजा क्षेत्र की ट्रैफिक व्यवस्था आज तक नहीं सुधर सकी है। तमाम यातायात नियमों की अनदेखी कर पुलिस का मजाक बनाया जा रहा है। एक बड़ी खामी यह भी है कि अगर पुलिस सड़कों पर दौड़ने वाले ओवरलोड वाहनों पर कार्रवाई शुरू भी कर दें तो इन वाहनों को छोड़ने के लिए सिफारिशें आने लगती है। पुलिस को मजबूरन ऐसे वाहनों को कई बार छोड़ना पड़ता है। इस वजह से 50 फीसदी से अधिक ओवरलोड वाहनों को बिना कार्रवाई किए छोड़ दिया जाता है। सिर्फ इक्का-दुक्का वाहनों पर कार्रवाई की जाती है।

यातायात नियमों की अनदेखी करने वालों पर कार्रवाई होगी

सड़क पर यातायात नियमों की अनदेखी करने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। ट्रैक्टर-ट्राॅलियों में यदि ओवरलोड इंटे भरकर गैरकानूनी तरीके से ढोई जा रही हैं। इनके ऊपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी और उनके चालान भी किए जाएंगे। यहां तक ऐसे वाहनों को इंपाउंड भी किया जाएगा क्योंकि लोगों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

- राजबीर, इंचार्ज, पुलिस चौकी रामगढ़।

खबरें और भी हैं...