पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हादसा:24 साल के युवक की करंट लगने से हुई थी मौत, अब बिजली पोल से बोर्ड हटवाने में लगा विभाग

पिंजौर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पोल पर लगे नेताओं के बोर्ड। - Dainik Bhaskar
पोल पर लगे नेताओं के बोर्ड।
  • पिंजाैर व कालका में बिना अनुमति के बिजली पोल व जगह-जगह पर नेताओं के लगे हुए होर्डिंग

मंगलवार को पिंजौर मेन बाजार में शिवा काॅम्प्लेक्स के प्रवेश पर सड़क किनारे लगे बिजली विभाग के ट्रांसफार्मर के पास होर्डिंग लटका रहे एक युवक को करंट लग गया था जिसे पहले सेक्टर-6 पंचकूला ले जाया गया जहां पर डाॅक्टर्स ने हालत गंभीर होते देख उसे पीजीआई भेज दिया पीजीआई में इलाज के दौरान युवक की मौत हो गई।

मृतक की पहचान विक्की 24 साल अस्थाई निवासी भीमा देवी काॅलोनी पिंजौर के नाम से हुई। मृतक के पिता ने पिंजौर पुलिस को बताया कि उनकी बेटा विक्की पिंजौर मेन बाजार में नरुला फ्लेक्स के सुखजीत सिंह के पास काम करता था।

मंगलवार को शिवा काॅम्प्लेक्स के पास फ्लेक्स बोर्ड लगा रहा था जिससे वो बिजली की तारों से टकरा गया, जिसको इलाज के लिए सेक्टर-6 पंचकूला उसके बाद पीजीआई ले जाया गया जहां पर उसकी मौत हो गई। मामले की जांच कर रहे एचसी संजय कुमार ने 174 के तहत कार्रवाई कर दी।

उधर बिजली विभाग कर और से भी पिंजौर थाने में लिखित पत्र में शिकायत करते हुए उक्त मामले की जानकारी दी। विभाग के मुताबिक ऐसी लापरवाही जान के लिए खतरनाक है, इस मामले में जो भी दोषी हो उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

बिना अनुमति के लगे जगह-जगह होर्डिंग

पिंजौर-कालका शहर में पिछले कई महीनों से होर्डिंग वार चल रही है, जगह-जगह नेताओं के होर्डिंग लगे हुए है। ऐसी जगह जहां पर होर्डिंग लगा आते-जाते ज्यादा से ज्यादा लोग देख सके वहां पर एक नेता का बोर्ड लगता है तो उसके ऊपर ही दूसरे नेता व उसके भी ऊपर तीसरे नेता का होर्डिंग टंगा नजर आता है, पिंजौर में प्रवेश करते ही रोड किनारे जहां भी जगह मिली वहीं पर बोर्ड लगा दिए गए।

शहर में ज्यादातर जगहों पर नगर परिषद की बिना अनुमति के ही होर्डिंग लगे हुए है जिहे पहले न तो नगर निगम ने हटवाया और अब उन्हें न ही नगर परिषद हटवा रही है। कई जगह पर हरियाणा के मुख्यमंत्री व सरकार के मंत्रियों और नेताओं आदि के साथ स्थानीय नेताओं, पदाधिकारियों की फोटो वाले भी होर्डिंग लगे हुए है जिन्हें उतरवाने में प्रशासन के अधिकारी व कर्मी भी हिम्मत नहीं जुटा पाते।

पिंजौर प्रवेश पर ही मल्लाह चौक के पास रोड किनारे डेढ़ साल पूर्व केवल एक ही बोर्ड लगा हुआ था परंतु अब देखते ही देखते वहां पर कई बोर्ड नजर आने लगे है। जहां यह बोर्ड लगे हुए है उन्हें लोगों ने बिजली के खंभों पर से ही बांधकर लटका दिया जिसको लेकर संबंधित विभाग के अधिकारी भी इस पर कोई ऐतराज तक नहीं जताया। उधर पिंजौर थाने के सामने अग्रसेन चौक पर भी बिना अनुमति के होर्डिंग लगे हुए देखे जा सकते है।

विभाग के एसडीओ एसके शर्मा ने कहा कि जो भी बिजली के पोल पर बोर्ड लगे है उन्हें उतरवाने का काम शुरू कर दिया गया है अगर दुबारा से वहां पर बोर्ड लगा हुआ दिखाई दिया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। कहा कि नगर परिषद की भी जिम्मेदारी बनती है कि बिना अनुमति व बिना परमिशन वाली जगह पर लगे बोर्ड को हटवाए व लगाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करे। नप एरिया में बिना अनुमति के लगे बोर्ड के बारे में बात करने के लिए कई बार नप के अधिकारियों को फोन किया परंतु उन्होंने फोन ही नहीं उठाया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार अपनी ही दुकानों पर बोर्ड लगाने के लिए उनके मालिक को नगर निगम या नगर परिषद को 1125 रुपए प्रति स्केयर फीट और उस पर 18 प्रतिशत जीएसटी के हिसाब से जमा करवाने पड़ते है यह केवल एक महीने के लिए ही है।

परंतु प्रशासन के इस आदेश का कहीं पर भी कोई पालन होता नहीं दिखाई दे रहा, अपनी दुकान या शोरूम के बाहर तो दूर की बात यहां पर तो बिजली के सरकारी पोल, पेड़ों व सरकारी दीवारों पर भी बिना किसी अनुमति के ही होर्डिंग लगे हुए है।

पहले भी हो चुके हैं करंट के कई हादसे
बिजली की तारों की चपेट में आने से क्षेत्र में कई बड़े हादसे भी हो चुके है जिसमें विगत 14 अगस्त 2020 को गांव सीतोमाजरा में बिजली की लटकती तारों की चपेट में आने से प्रीतम काॅलोनी मढ़ावाला निवासी दिनेश 20 साल की मौत हो गई थी। जिसमें मढ़ावाला पुलिस ने बिजली विभाग पिंजौर के खिलाफ धारा 304ए के अर्तगत लापरवाही का मामला दर्ज किया था।

इसके अलावा विगत 15 अक्टूबर 2020 को पिंजौर दून क्षेत्र के गांव लोहगढ़ के निवासी रविंद्र सिंह के 6 साल के बेटे प्रभजोत करंट लगने से घायल हो गया था। जिसे उपचार के लिए पीजीआई चंडीगढ़ ले जाया गया जहां पर डाॅक्टर्स को प्रभजोत का पूरा हाथ काटना पड़ा था, उसके बाद परिजनों की शिकायत पर बिजली विभाग के अधिकारियों के खिलाफ मामला भी दर्ज हुआ था।

विभाग की खुली आंख
बड़ी हैरानी की बात है कि शहर में पिछले कई सालों से बिजली के पोल व ट्रांसफार्मर के आसपास भी कई बोर्ड लगे हुए है परंतु अभी तक बिजली विभाग का इस पर कोई ध्यान ही नहीं गया मंगलवार को जानलेवा हादसा होने के बाद विभाग की आंखें खुली और बिजली के पोल से बोर्ड हटवाने शुरू कर दिए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें