गंभीर हो जाएं / प्रधानमंत्री का खुले में शौच मुक्त का सपना पूरा कैसे होगा

How will the Prime Minister's dream of open defecation be fulfilled
X
How will the Prime Minister's dream of open defecation be fulfilled

दैनिक भास्कर

May 25, 2020, 05:00 AM IST

पिंजौर. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा देश में खुले में शौच मुक्त अभियान को एक अंदोलन की तरह चलाया गया। जिसे हरियाणा सरकार ने भी प्रदेश में चलाकर इसके लिए सरकारी अधिकारियों को इस पर सक्रियता से काम करने आदेश भी दिए। परन्तु कालका-पिंजौर दोनो शहरो में इस अभियान को गम्भीरता से नही लिया जा रहा। 
वाहवाई लुटने के लिए दोनो शहरो में कई जगहो पर छोटे-छोटे शौचालय लगा दिए गए। परन्तु शौचालय लगाकर दुबारा से इनकी किसी ने भी कोई सुध तक लेना ठीक नही समझा। दोनो शहरो में करीब चार हरे रंग के शौचालय लगाए गए है। जिसमें एक पिंजौर मेन बाजार धारामंडल के सामने, दूसरा कालका सरकारी कालेज के सामने रोड़ किनारे और कालका कालिका जी माता मंदिर से आगे परवाणु बैरियर से पहले सडक़ किनारे शौचालय रखे गए। शौचालयो की ऐसी हालत से प्रधानमंत्री का खुले अमें शौच मुक्त का सपना कैसे होगा पूरा। पिंजौर में भी धारामंडल के सामने रोड़ किनारे रखे हुए शौचालय पर जब से रखा गया है तब से ही उसका ताला लगा हुआ है। 
अभी तक उसके ताले की चाबी ही नही मालूम किसके पास है। इसके आसपास भी गंदगी पड़ी हुई है। स्थानीय संजय कुमार, रामपुरी, संजीव वर्मा ने बताया कि पिंजौर मेन बाजार में कहीं पर भी शौचालय नही है एक गत वर्ष लगाया गया तो उसे खोला ही नही गया। 
दुकादारो को मजबूरन शौच के लिए पास ही गुरूद्वारा साहिब और मंदिर में बने शौचालयों में जाना पड़ता है। कहा कि पिछले कई वर्षो से दुकानदारो द्वारा नगर निगम को पिंजौर मेन बाजार में शौचालय बनवाने के लिए मांग की जा रही है परन्तु अभी तक नही बन पाया। प्राप्त जानकारी के अनुसार शौचालयों पर डीएलएफ कम्पनी के बोर्ड लगे हुए है, जिन्हे कम्पनी द्वारा अपनी पब्लिकसीटी पाने के लिए इन शौचालयो को बनवाकर अलग अलग जगहो पर लगवाया गया। परन्तु अब इनमें न तो पानी की व्यवस्था है न ही इनमें कोई सफाई होती है उल्टा इनमें जमा गन्दगी से लोगो को वहां से निकलना तक मुशकिल हो गया है।

कालका निवासी शरणजीत ग्रोवर ने बताया कि कालका कालेज के सामने पड़े शौचालय में गदंगी भरी हुई है वहां से आने वाली बदबू से कालेज को छात्रो के लिए बड़ी परेशानी बनी हुई है। कहा कि खुले में शौच मुक्त व स्वच्छता रखने के लिए यह शौचालय लगाए गए थे परन्तु अब यह ओर ज्यादा गंदगी का अडडा बन चुके है। न तो इनमें पानी की व्यवस्था है न ही इनमें पानी है। कालका कालिका जी मंदिर के पास शौचालयो का भी बुरा हाल है। लोग मजबूरी में खुले शौच जा रहे है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना