पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आक्रोश:19वें दिन भी दुकानदारों का पुराने सर्वे वाले आरयूबी के विरोध में धरना जारी

पिंजौर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • संघर्ष की लड़ाई में दुकानदारों के समर्थन में आए शहर के पूर्व पार्षद

वीरवार को पिंजौर-कालका रेलवे फाटक के पुराने सर्वे वाले आरयूबी निर्माण के विरोध में दुकानदारों के धरने को 19वां दिन हो गया। पिछले 19 दिनों से आरयूबी के विरोध में बैठी पिंजौर-कालका वेलफेयर एसोसिएशन, मार्केट वेलफेयर एसोसिएशन पिंजौर और दुकानदारों की अभी तक सुनवाई होती नहीं दिखाई दे रही।

हालांकि पार्टी नेताओं के आश्वासन के मुताबिक दुकानदारों की मांग वाली फाइल उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के कार्यलय में कार्रवााई के लिए पड़ी है परंतु दुकानदारों के पास अभी तक कोई लिखित में कुछ नहीं होने के कारण वो धरने पर डटे हुए है। धरने का सर्मथन देने के लिए नगरपालिका के पूर्व उपाध्यक्ष अमरचंद धीमान, पूर्व पार्षद जगमोहन धीमान और पूर्व पार्षद लाजपत पहुंचे।

पूर्व उपाध्यक्ष धीमान ने अपने संबोधन में कहा कि ऐसी मंदी और कोरोना काल में तो सरकार को व्यापारियों के हर सुख-दुख में साथ आना चाहिए ताकि व्यापारी वर्ग के हालात ठीक हो और वो अच्छा कारोबार करके सरकार को टैक्स दे सके परंतु ऐसे हालात में सरकार द्वारा इनकी अनदेखी करना गलत है, इन व्यापारियों से हमारे क्षेत्र की शान भी है क्योंकि शहर की हर दुख-सुख की घड़ी में इनका अहम योगदान रहता है।

लाॅकडाउन के दौरान सरकार के आदेश पर इन व्यापारियों ने निस्वार्थ हजारों जरूरतमंदों को खाना दिया और सूखा राशन बांटा है इसलिए सरकार को इन्हें बर्बाद होने से बचाना चाहिए। उधर पूर्व पार्षद जगमोहन धीमान व लाजपत ने कहा कि वो भी दुकानदारों के साथ है इस लड़ाई में वो उनका हर समय साथ देगें।

धरनास्थल पर आए पार्षदों का आभार प्रकट करते हुए एसोसिएशन के चेयरमैन संतराम शर्मा ने कहा कि उनकी इस मांग के बारे में जो भी सुनता है वो उसे जायज बताता है यही कारण है कि उनके इन 19 दिनों के धरने में प्रतिदिन कोई न कोई सर्मथन देने पहुंच रहा है और पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे है।

कोरोना काल में वैसे ही हर किसी का कारोबार ठप होने के कगार पर पहुंच गया है। ऊपर से इन सैकड़ों दुकानदारों को बर्बाद करके इन पर ओर ज्यादा आर्थिक संकट देने का काम किया जा रहा है। इन त्योहारों के दिनों में ही अधिकतर दुकानदारों की पूरे साल की कमाई निर्भर रहती है। अगर दुकानदार ऐसे ही धरने पर बैठे रहे तो उनके पूरे एक साल का नुकसान हो जाएगा।

चौधरी ने कहा कि अगर सरकार दुकानदारों के बारे में नहीं सोचती तो कम से कम अपने लिए ही सोच ले कि सरकार का करोड़ों रुपए जिस प्रोजेक्ट में बच रहा है उसी पर काम करवाने के लिए हरी झंडी दिखाए। चौधरी ने कहा कि जब से प्रदेश व केंद्र में भाजपा ने सत्ता संभाली है, तब से हर वर्ग के लोगों को अपने हकों की लड़ाई के लिए मजबूरन सड़कों पर उतरना पड़ रहा है।

किसान जो देश की जनता का पेट भरती है। उसी को सरकार अनदेखा करके उन पर कानून थोपने का काम कर रही है। आज किसानों को अपने हकों के लिए सड़कों पर आना पड़ गया है। एक तो पहले से ही किसान सरकार की अनदेखी का शिकार थे। अब जबरदस्ती कानून बनाकर उन पर थोपने का काम किया जा रहा है। हैरानी की बात है कि संबंधित विभाग पिछले करीब एक साल से ज्यादा हो गया।

पिंजौर-कालका मेन रोड की कारेपटिंग तो करवा नहीं पा रहा, बजट न होने की बात सुनने को मिलती है परंतु करोड़ों रुपए ज्यादा लगाकर नए सर्वे वाले आरयूबी पर काम करने में लगे हुए है। इस मौके पर रविंद्र अरोड़ा, एसोसिएशन महासचिव आरडी गौतम, सिमरप्रीत सिंह शैरी, गौरव वर्मा, वरुण गुप्ता, अरुण शर्मा आदि भी मौजूद रहे।

विधायक ने व्यापारियों की समस्या को लेकर सीएम को लिखा पत्र
सरकार के सरकारी खजाने को प्रदेश के विकास के लिए भरने वाला व्यापारी वर्ग आज अपने हकों व बर्बादी से बचने के लिए सड़कों पर धरना देने को मजबूर हो चुका है। यही कारण है कि आज जनता की हितैशी कहने वाली भाजपा सरकार की पोल खुल चुकी है। पिंजौर-कालका रेलवे फाटक पर बनाए जा रहे पुराने सर्वे वाले आरयूबी के विरोध में पिछले करीब 19 दिनों से धरने पर बैठे व्यापारियों की सरकार कोई सुध नहीं ले रही।

यह बात कालका विधायक प्रदीप चौधरी ने जारी करते हुए कही। उन्होंने इस समस्या को लेकर सीएम को पत्र भी ईमेल के माध्यम से भेजा है। जिसमें विधायक ने सीएम से मांग करते हुए कहा कि व्यापारी उस काम के लिए संघर्ष कर रहे है, जिसका फायदा हर तरफ से सरकार को ही है। फिर भी सरकार व्यापारियों की मांग को गभीरता से नहीं ले रही।

तभी तो करीब 300 मीटर लंबा जो आरयूबी करीब 11 करोड़ की लागत से 6 महीने में बन सकता है। उसे छोड़ कर 700 मीटर लंबा आरयूबी करीब 25-26 करोड़ की लागत से बनाने का खेल चल रहा है। जिसके बनने में अढ़ाई साल का वक्त लगेगा। लंबे आरयूबी से आसपास की आवाजाही भी प्रभावित होगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें