पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुआयना:धान की कटाई के बाद खेत में आग न लगाने की व्यवस्था जांचने पहुंचे डीसी

रायपुररानी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गांव टाबर में मुकेश आहूजा पराली की पैकिंग देखते हुए। - Dainik Bhaskar
गांव टाबर में मुकेश आहूजा पराली की पैकिंग देखते हुए।
  • फसल की कटाई के बाद खेत में आग लगाने वाले 14 किसानों के काटे चालान

धान की कटाई के बाद अब जहां एक और कृषि विभाग किसानों पर सख्ती बरत रहा है। वहीं किसानों को जागरूक करने में भी जुटा हुआ है। इसी कड़ी को लेकर बुधवार को रायपुररानी ब्लॉक के गांव टाबर में एक किसान संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें किसानों को धान की कटाई के बाद बचे अवशेषों की पैकिंग करने का तरीका बताया गया।

इस व्यवस्था को देखने के लिए पंचकूला उपायुक्त मुकेश आहूजा मौके पर पहुंचे और उन्होंने पूरी व्यवस्था को देखा और कृषि विभाग और किसानों की सराहना करते हुए कहा कि समस्या से निपटने के लिए यही एक बेहतरीन तरीका है। उन्होंने यह भी कहा कि पंचकूला की स्थिति काफी ठीक है।

कृषि विभाग ने बीते 1 सप्ताह में 14 किसानों के काटे चालान: कृषि विभाग की टीम ने ऐसे करीब 14 से 15 किसानों के चालान काटे हैं। जिन किसानों के द्वारा खेत में धान की फसल की कटाई के बाद आग लगाई गई। हालांकि कई जगह पर कृषि विभाग के अधिकारियों को विरोध का सामना भी करना पड़ा।

लेकिन कृषि विभाग के द्वारा टोडा, नटवाल, ककराली सहित काफी गांवों में विभागीय कार्रवाई की गई। कृषि विभाग 2 एकड़ में आग लगाने वाले किसानों को ढाई हजार रुपए, 2 एकड़ से 5 तक और 5 हजार, 5 एकड़ से ऊपर 10 से 15 हजार तक जुर्माना कर रहा है। जो किसान जुर्माना नहीं भरेंगे, उन पर कानूनी कार्रवाई करने का भी प्रावधान रखा गया है।

कृषि विभाग की टीम लगातार किसानों को इस बात के लिए जागरूक कर रही है कि किसान धान की कटाई के बाद खेत में आग नहीं लगाए। आज गांव टाबर में डीसी साहब आए थे। उन्होंने पराली नहीं जलाने को लेकर पराली की घास की पैकिंग की व्यवस्था को देखा और उन्होंने किसानों की इस पहल की सराहना भी की।

कृषि विभाग ने ऐसे करीब 14 किसानों का चालान भी काटा है। जो धान की कटाई के बाद खेत में आग लगाते थे।फिर भी कृषि विभाग इस बात पर ज्यादा जोर दे रहा है कि किसान ज्यादा से ज्यादा जागरूक हो। पिछली बार की अपेक्षा इस बार आंख के मामले कम आ रहे हैं। - कृष्ण कुमार, खंड कृषि अधिकारी रायपुररानी

खबरें और भी हैं...