बचाव / वासुदेवपुरा में खांसी, जुकाम व बुखार से ग्रस्त परिवार को सेक्टर-6 भेजा

Sent Vas-VI to family suffering from cough, cold and fever in Vasudevapura
X
Sent Vas-VI to family suffering from cough, cold and fever in Vasudevapura

  • कोरोना वायरस के बचाव के लिए घर-घर जाकर इकट्‌ठा किया जा रहा ब्योरा

दैनिक भास्कर

Apr 13, 2020, 05:00 AM IST

पिंजौर . कोरोना वायरस के बचाव को लेकर सरकार द्वारा प्रदेश में पूरी तरह से लाॅकडाउन किया हुआ है। इस दौरान मेडिकल स्टाफ व आशा वर्कर द्वारा गांवों में जाकर हर गांव के लोगों का पूरा ब्योरा इकट्‌ठा किया जा रहा है। शनिवार को पिंजौर दून क्षेत्र के गांव वासुदेवपूरा में आशा वर्कर किरण बाला भी गांव के सभी घरों में जाकर अपनी ड्यूटी कर रही थी। इसी दौरान उन्हे एक मुस्लिम परिवार में खांसी, जुकाम व बुखार से ग्रस्त एक बुजुर्ग मिला। किरण बाला ने बताया कि वो गांव के एक घर में दो बार गई परन्तु उसका दरवाजा नही खोला। फिर किसी ने पड़ोसियों को बताया कि वो घर में ही है काफी कोशिश के बाद दरवाजे पर एक बुजुर्ग इस्लाम खांसी करते हुए आया जिस पर शक हुआ तो इसकी जानकारी डाॅक्टर को दी गई इस दौरान गांव के नम्बरदार सुरिन्द्र ने पिंजौर पुलिस को भी सूचना दे दी। 
इस्लाम से पूछने पर उसने बताया कि वो घर में अकेला है बाकी उसके बेटे मीर हसन के साथ दो दिन पहले काम पर गए है। लाॅकडाउन में काम पर जाने के बारे में इस्लासम ने कहा कि वो जीप में जगंल के रास्ते लेबर को भठों पर ले जाता है। आशा वर्कर ने बताया कि वहां पर लोगों ने बताया कि ईस्लाम के घर में उसका परिवार हर रोज रात करीब पौने 12 बजे आते है और सुबह तड़के ही निकल जाते है। इस जानकारी के बाद मौके पर पहुंचे सीएचसी नानकपुर के डाॅक्टर मुनीष गर्ग ने ईस्लाम समेत उसके परिवार को भी चैकअप के लिए ले जाने को कहा जिसके लिए एम्बुलेंस में ईस्लाम के परिवार वाले व अन्य रिश्तेदारों समेत कुल 9 लोगों को ले जाने के लिए गांव रामनगर खोली पहुंचे जहां पर कई लोगों ने उन्हे न ले जाने पर हगांमा भी किया काफी देर बाद पुलिस ने ईस्लाम समेत उसकी पत्नी हसीना, बेटा शारूख, पुत्रवधु रूकसाना, बेटा इंतजार, मीर हसन निवासी वासुदेवपुरा, संत कुमार, विकास, फिरदौस निवासी रामनगर खोली को एंबुलेंस में चैकअप के लिए बिठाया।
 डाॅक्टर ने उन्हे चैकअप के लिए सेक्टर 6 पचंकूला भेजा। डाॅक्टर मुनीष गर्ग ने बताया कि उन्होने कुछ 9 लोगों को चैकअप के लिए सेक्टर 6 पचंकूला भेजा है अभी तक इनमें से किसी की भी रिपोर्ट नही आई। उधर पिंजौर थाना प्रभारी यशदीप सिंह ने बताया कि उन्हे शनिवार शाम को फोन आया था जिस पर उन्होंने पीसीआर भेज दी थी। आशा वर्कर ने कहा कि ग्रामिणों ने कथित तौर पर बताया है कि मीर हसन हर रोज अपने उक्त परिवार सदस्यों समेत अन्य कुछ लोगों को बलैरो जीप में चरनियां व आसपास ईंटो के भट्‌ठों पर लेबर को लेकर सुबह तड़के ले जाता है रात को करीब पौने 12 बजे वापिस लाता है। लाॅकडाउन से बचने के लिए जीप में करीब 8 से 10 लोगों को जगंल के रास्ते चोरी छीपे ले जाता है। मीर हसन ने बताया कि गांव रामनगर खोली में एक ईंट का भट्‌ठा है। जहां 250 से 300 लेबर वाले रहते है। तो मैं उनको गाड़ी में राशन देने और दवाइयां देने जाता हूं। जिससे कि गांव वाले मुझसे चिढ़ते है। इसलिए वह मुझ पर गलत आरोप लगाते रहे है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना