पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समस्या:गर्मी में 4 घंटे लगा बिजली कट, पानी के लिए भी तरसे लोग, किया प्रदर्शन

जीरकपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ढकौली की ममता एनक्लेव, ग्रीन सिटी, लक्ष्मी एन्क्लेव व आसपास के एरिया में वीरवार तड़के करीब 4 बजे बिजली सप्लाई बंद हो गई। इसके बाद करीब 4 घंटे बाद सप्लाई बहाल हुई। बिजली बंद रहने से सुबह 5 बजे से शुरू होने पानी पानी की सप्लाई रूकी रही। बाद में जब 8 बजे सप्लाई बहाल हुई तो पानी की सप्लाई शुरू की गई। इसके बाद पानी की सप्लाई शुरू तो हुई पर लो प्रैशर से।

यहां ममता एन्क्लेव में रहने वाली एडवोकेट नीतू खुराना ने कहा कि रात 9 बजे एक फेस बंद हो गया। इसके बाद लो वोल्टेज से बिजली सप्लाई हुई। रात 12 बजे के बाद पूरी कॉलोनी में बिजली बंद हो गई। सुबह 8 बजे बिजली बहाल हो सकी। इसके बाद पानी के लिए परेशानी हुई। रात को गर्मी में रहने के बाद सुबह पानी के लिए भी परेशान होना पड़ा।
ग्रीन सिटी में भी लो प्रैशर से मिला पानी : यहां ममता एन्क्लेव के साथ ही ग्रीन सिटी है। यहां ग्रीन सिटी के प्रधान राजेश शर्मा ने बताया कि बिजली और पानी के लिए इन दिनाें पब्लिक परेशान हो रही है। सुबह बिजली बहाल हुई पर लो वोल्टेज से। इसलिए यहां कई घराें में पूरा पानी नहीं मिला। 8 बजे से पहले कई लोगों को अपने काम पर जाना होता है। पानी मिलने से लोग बिना नहाए ही ऑफिस व अपने काम पर गए।  कई दिनों से यह  परेशानी लगातार बनी हुई है। बिजली जाने के साथ ही पानी की सप्लाई पर इसका असर पड़ता है।
बेहतर सप्लाई देने का दावा कर रहा पाॅवरकाम : ढकौली एरिया में बिजली सप्लाई दुरुस्त करने का दावा किया जा रहा है। पर यहां के लोगों का आरोप है कि यह दावा ही है। हकीकत में यहां रोजाना बिजली व पानी के लिए परेशानी हो रही है। एमसी के पास पावर बैकअप की व्यवस्था नहीं है। बिजली कभी भी बंद हो जाती है। ऐसे में पावरकाम का बेहतर बिजली सप्लाई देने का दावा लोगों के साथ छलावा ही साबित हो रहा है।

जीरकपुर में पावरबैक जरुरी टयूबवेल के लिए : यहां बिजली सिस्टम का कोई भरोसा नहीं कि कब गुल हो जाए। इसलिए यहां पानी सप्लाई देने के लिए पाॅवर बैकअप की जरूरत है। जीरकपुर में बिजली सप्लाई की सबसे ज्यादा मार पानी की सप्लाई पर पड़ती है। इसके बावजूद यहां ट्यूबवेल्स पर पावर बैकअप नहीं है। ऐसा नहीं कि इनके पास पाॅवर बैकअप के लिए जेनरेटर सेट नहीं है। यहां कुछ साल पहले कई लाख कीमत के 10 से ज्यादा जेनरेटर सेट खरीदे गए थे। 1-2 साल चलाने के बाद उनको कबाड़ की तरह ही छोड़ा गया है। इन जेनरेटर सेट खरीदने पर इतनी बड़ी पूंजी इसलिए खर्च की गई कि पब्लिक को सहुलियत मिलेगी। हैरानी की बात है।
सभी जेनरेटर ट्यूबवेल्स के आसपास पड़े खुले में खराब हो रहे हैं। न तो ये पब्लिक के काम आ रहे हैं। न जरूरत पड़ने पर काम आ सकेंगे। इनकी मेंटनेंस न होने से अब चालू करने के लिए भी लाखों रुपए लगेंगे। अगर इनका इस्तेमाल नहीं हो रहा है तो सुरक्षित जगह पर तो इनको रखा जा सकता है।

  • एक फीडर की केबल जलने के कारण यह परेशानी हुई है। उसे ठीक कर दिया गया है। बाकी शहर में बिजली सप्लाई बेहतर कर दी है। - एचएस कंग एसडीओ सबडिवीजन ढकौली
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने के लिए प्रयासरत रहेंगे। घर में किसी नवीन वस्तु की खरीदारी भी संभव है। किसी संबंधी की परेशानी में उसकी सहायता करना आपको खुशी प्रदान करेगा। नेगेटिव- नक...

    और पढ़ें