पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जीरकपुर:बिल्डर ने तोड़ी सीवर लाइन, एमसी ने पहले काम रोका, फिर दी अनुमति

जीरकपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नाभा साहिब के पास बिल्डर के काम में लगी लेबर। - Dainik Bhaskar
नाभा साहिब के पास बिल्डर के काम में लगी लेबर।
  • एमसी को पता ही नहीं कौन सीवर लाइनें तोड़कर जोड़ रहा है कनेक्शन, न ही चेकिंग करते हैं अफसर

पटियाला रोड पर गुरुद्वारा नाभा साहिब के नजदीक सड़क तोड़कर सीवरेज का कनेक्शन तोड़ने वाले एक बिल्डर का काम जीरकपुर एमसी ने पहले तो रोक दिया। बाद में काम करने की परमिशन दे दी। बिल्डर ने जेसीबी मशीन से सड़क पर लगी इंटरलॉक टाइल्स उखाड़ दी। बिल्डर ने कहा कि उसने ईडीसी चार्ज जमा किए हैं। 

सीवरेज के कनेक्शन के लिए चार्जेज जमा किए हैं। इसलिए उसका काम रोकना गलत है। यहां एमसी के पास इस बात की जानकारी ही नहीं कि कौन सीवरेज व पानी के कनेक्शन ले रहा है। किसने फीस दी है। किसने नहीं दी है। किसी बात की न तो चेकिंग हो रही है। न ही सुपरविजन हो रही है। अगर कहीं से शिकायत आ जाती है तो तब एमसी में संबंधित अफसर कुछ हरकत में आते हैं।

पूरे शहर में पानी का जमकर मिसयूज हो रहा है पर कार्रवाई नहीं हो रही है। जीरकपुर में पानी िमसयूज हो रहा है। एमसी लोगों के हित के लिए हित के लिए हर घर को पानी तो मुहैया करवा रही है, पर कई लोग इसका गलत फायदा उठा रहे हैं। एमसी द्वारा अब तक यहां पानी के कनेक्शन पर मीटर नहीं लगाए गए हैं। इससे पता नहीं चलता कि किसने कितना पानी इस्तेमाल किया। इस बात का डर न होने की वजह से कई लोग पानी काे खूब बर्बाद कर रहे हैं।

एमसी का पानी की सप्लाई पर कोई कंट्रोल न होने की वजह से यहां दर्जनों सर्विस स्टेशनों में गाड़ियां धोने की वजह से हर रोज हजारों लीटर पानी का इस्तेमाल हो रहा है। इसकी कोई भी कीमत एमसी को नहीं मिलती है। लोगों को पीने के लिए जो पानी सप्लाई किया जाता है, उसी पानी को स्टाेर कर लोग बॉटलों और बड़े कैन में भरकर बेचने का धंधा भी चलाया जा रहा है। अगर इन सभी लोगों की वेरीफिकेशन कर इन्हें मीटर के आधार पर पानी दिया जाए तो हर महीने एमसी को लाखों रुपए की कमाई होगी। इस समय जीरकपुर के ढकोली में कई लोगों ने पानी बेचने का धंधा शुरू किया हुआ है। 

हर घर के लिए तय हो, कितना पानी मिलेगा फ्री
जीरकपुर में एक कनेक्शन पर निशुल्क पानी देने की एक सीमा तय होनी चाहिए। उससे ज्यादा पानी का इस्तेमाल करने पर फीस वसूली जानी चाहिए। इससे लोग पानी का इस्तेमाल सोच-समझ कर करेंगे और जो ज्यादा इस्तेमाल करेंगे उसकी कीमत एमसी को मिलेगी। इससे एमसी को शहर में वाटर सप्लाई सिस्टम को और मजबूत करने में वित्तीय सहायता भी मिलेगी। इस समय जीरकपुर में 80 के करीब ट्यूबवेलों से पानी सप्लाई किया जा रहा है और सभी घरों और दुकानों में बिना मीटर के पानी दिया जा रहा है।  

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें