लापरवाही:हादसों को बुलावा दे रही ओपन ड्रेन

जीरकपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चंडीगढ़-अंबाला हाईवे के साथ बनी ड्रेन खुली। - Dainik Bhaskar
चंडीगढ़-अंबाला हाईवे के साथ बनी ड्रेन खुली।

जीरकपुर में चंडीगढ़-अंबाला हाईवे के साथ बनी ड्रेन हादसों को बुलावा दे रही है। यह ड्रेन कई जगह खुली पड़ी है। इस हाईवे पर हर समय ट्रैफिक चलता रहता है। अक्सर वाहन संतुलन खोकर ड्रेन से टकरा जाते हैं। कई बार ड्रेन में वाहनों के फंसने की घटनाएं हो चुकी हैं। ऐसे में यह ड्रेन लाइन जानलेवा हादसे का कारण भी बन सकती है।

हालांकि इस बॉक्स टाइप ड्रेन लाइन को कंक्रीट के बने स्लैब्स से कवर किया हुआ है। ड्रेन का ज्यादातर हिस्सा कवर है लेकिन कई जगह ड्रेन पर रखे गए स्लैब गायब हैं। ड्रेन काफी गहरी भी है। सड़क पर चलते किसी दोपहिया का संतुलन बिगड़ जाए तो वह ड्रेन में गिर सकता है। जीरकपुर के सिंगपुरा ट्रैफिक लाइट पॉइंट से लेकर मैट्रो मॉल तक की दूरी में कई जगह ड्रेन लाइन के स्लैब गायब हैं।

लोगों का कहना है कि इस ड्रेन में गिर कर किसी की जान भी जा सकती है। ड्रेन के कारण वाहन तो कई बार दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं। ड्रेन काफी गहरी और सड़क के बिल्कुल साथ बनी होने के कारण सड़क पैदल या वाहनों में चलने वाले लोगों के लिए हर समय खतरा बना रहता है। अक्सर पैदल चलने वाले लोग स्लैब पर चलने लगते हैं। कई जगह ड्रेन के स्लैब्स फिक्स नहीं हैं। ऐसे में पैर रखने पर स्लैब हिलते हैं।

चंडीगढ़ से जीरकपुर की ओर आने पर गेटवे ऑफ पंजाब के पास हाईवे पर बनी ड्रेन का काफी हिस्सा ओपन है। यहां हादसा होने का डर रहता है। ड्रेन में इतनी जगह है कि पूरा मोटरसाइकिल समा सकता है। लोगों की मांग है कि नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) को इस ड्रेन को पूरी तरह कवर करवाना चाहिए।

खबरें और भी हैं...