पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रोटेस्ट:तीन घंटे तक गाड़ियों में ही फंसे रहे लोग

जीरकपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कृषि बिलों के विरोध में किसानों का सिंगपुरा और पटियाला चौक पर चक्काजाम, गाड़ियों की लगी लंबी लाइनें
  • दोपहर 12 बजे से तीन बजे तक सड़कों पर ही डटे रहे प्रदर्शनकारी
  • चंडीगढ़ बॉर्डर पर सिर्फ एंबुलेंस को दिया रास्ता, बाकी वाहन नहीं छोड़े

कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए किसानों, राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को तीन घंटे चक्काजाम रखा। जीरकपुर में चंडीगढ़ बैरियर पर पुलिस ने नाकेबंदी की। जीरकपुर से चंडीगढ़ की ओर जाने वाले वाहनों को एंट्री नहीं मिली, सिर्फ टू-व्हीलर्स को चंडीगढ़ जाने दिया गया।

सिंगपुरा, पटियाला चौक, पंचकूला चौक, मैक डी चौक के साथ जीरकपुर-पटियाला हाईवे पर छत के नजदीक एरोसिटी चौक पर किसानों ने प्रदर्शन किया। लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। चंडीगढ़ बॉर्डर पर जीरकपुर से जाने वाली गाड़ियों को रोकने के बाद लोगों को यू-टर्न लेकर पंचकूला होते हुए चंडीगढ़ जाना पड़ा।

चंडीगढ़ बॉर्डर पर जीरकपुर और चंडीगढ़ पुलिस तैनात रही, सिर्फ एंबुलेंस को निकलने दिया गया। लोगों में इस बात को लेकर नाराजगी रही कि पुलिस ने वैकल्पिक रूट बनाए बिना जगह-जगह ट्रैफिक डायवर्ट किया, इसी कारण वे जाम में फंसे। सुबह से पुलिस ने पूरे शहर में नाकेबंदी शुरू कर दी थी और 10 बजे से विभिन्न किसान संगठनों और कांग्रेस-अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने भी इस जाम को समर्थन किया। बसें न चलने से कई घंटे करना पड़ा इंतजार

चक्काजाम के दौरान बस सर्विस पूरी तरह बंद रही। ऐसे में जीरकपुर से अंबाला या पंजाब के अन्य शहरों में जाने वाली सवारियों को परेशानी हुई। लोगों को घंटों तक यहां बसों का इंतजार करना पड़ा। कुछ लोग प्राइवेट कैब आदि बुक कर निकले। किसानों की ओर से शहर में कई जगहों पर सड़कें रोकी गई।

किसानों की ओर से वीआईपी रोड पर ट्रैफिक जाम किया गया। यहां भी पुलिस ने पैंटा होम चौक के पास एक लेन बंद की। रेजिडेंट्स को इससे खासी परेशानी हुई। लोगों में इस बात की नाराजगी रही कि ट्रैफिक जाम होने के बाद जाम में फंसे लोगों की बिल्कुल भी सुनवाई नहीं हुई। हालांकि, जाम के दौरान कोई अप्रिय घटना नहीं घटी।

किसान बोले- बिल वापस न लेने तक करते रहेंगे विरोध

केंद्र के कृषि बिलों का विरोध कर रहे किसानों ने डेराबस्सी हलके में अंबाला-चंडीगढ़ हाईवे पर दप्पर टोल प्लाजा, नारायण अंबाला हाईवे, तसिंबली टी पॉइंट पर सड़क पर ट्रैफिक जाम कर दिया। हाइवे पर किसान जत्थेबंदियों के अलावा सियासी नेताओं ने 12 बजे से 3 बजे तक रोड जाम कर धरना दिया।

भारतीय किसान यूनियन कादियां के जिला मोहाली के प्रधान राजिन्दर सिंह प्रेमी, किसान एकता सिद्धुपुर के मोहाली के महासचिव साहब सिंह, ब्लाॅक डेराबस्सी के प्रधान जसवंत सिंह कुल्ला, मनप्रीत सिंह अमलाला, कर्म सिंह के नेतृत्व में उदयवीर सिंह, एसजीपीसी सदस्य निरमैल सिंह जौला, अमरीक मलकपुर, आम आदमी पार्टी के कुलजीत रंधावा, स्वीटी शर्मा, सुभाष शर्मा आदि ने विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों के साथ दप्पर टोल प्लाजा पर ट्रैफिक आवाजाही बंद कर दी।

किसानों की सुध नहीं, कॉर्पोरेट घरानों को लाभ देने में लगी है केंद्र सरकार
वक्ताओं ने कहा कि केंद्र सरकार जहां किसानों को खत्म करने पर तुली है, वहीं मजदूर, आढ़ती, ट्रासपोर्ट और छोटे व्यापारी को बर्बाद करते हुए कॉर्पोरेट घरानों को लाभ देने में लगी है। वक्ताओं ने केंद्र सरकार की मोदी सरकार से काले कानून वापस लेने की पुरजोर मांग की। किसानों का संघर्ष उस समय तक चलता रहेगा, जब तक मोदी सरकार किसान विरोधी काले कानूनों को वापस नहीं ले लेती।

वैकल्पिक रूटों से मिली थोड़ी राहत...

किसानों के आंदोलन के मद्देनजर पुलिस को अंबाला-चंडीगढ़ हाईवे का अंबाला की ओर से आ रहा ट्रैफिक झरमड़ी से और चंडीगढ़ से आ रहा ट्रैफिक लैहली से संपर्क सड़कों पर डाइवर्ट करना पड़ा। हालांकि, वैकल्पिक रूटों की व्यवस्था के बाद हाईवे पर वाहनों की लंबी कतारें तो नहीं लगी, लेकिन ट्रैफिक बुरी तरह प्रभावित रहा।

इस दौरान जाम में एंबुलेंस भी फंस गई। हालांकि, पुलिस ने तुरंत कदम उठाते हुए एंबुलेंस के लिए रास्ता खुलवाया। प्रदर्शन कर रहे लोगों ने भी एंबुलेंस के लिए तुरंत रास्ता खोला। बाकी कोई वाहन जाने नहीं दिए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें