परेशानी / पावरकॉम के खिलाफ दुकानदारों का प्रोटेस्ट, सप्लाई में सुधार की मांग

X

  • जीरकपुर में बिजली संकट गहराया, रात-दिन 3 से 4 घंटे तक गुल हो रही बत्ती

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

जीरकपुर. जीरकपुर में बिजली की सप्लाई में कोई सुधार नहीं हो रहा है। जैसे-जैसे गर्मी प्रचंड हो रही है, बिजली बार-बार बाधित हो रही है। सोमवार रात शहर की कई कॉलोनियों में बिजली की सप्लाई पूरी तरह से प्रभावित रही। लोग गर्मी में सो नहीं सके। रात 12 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक करीब 3 घंटे बिजली की आपूर्ति बंद रही। इससे लोगों का बुरा हाल रहा। 
मंगलवार को दिन में भी यही हाल रहा। बिजली आती-जाती रही, ऐसे में लोग गर्मी से परेशान रहे। बिजली बार-बार जाने से नाराज दुकानदारों ने पावरकॉम के खिलाफ अपना रोष जताया। मार्केट के प्रधान बलविंदर क्वात्रा ने कहा कि कोरोना की वजह से पहले ही कारोबार ठप पड़ा हुआ है। रही-सही कसर बिजली बंद कर पावरकॉम पूरी कर रहा है। हालत यह है कि इन्वर्टर भी पूरा चार्ज नहीं हो पाता और इससे पहले ही बिजली सप्लाई बंद हो जाती है। ग्राहकों का आना ताे दूर की बात, खुद दुकानदार भी अपनी दुकानों में नहीं बैठ पा रहे हैं। 
ऐसी स्थिति पहले नहीं थी। अब यहां लोग एक ओर पावरकॉम को मोटे बिजली बिल दे रहे हैं, दूसरी ओर लोगों को बिजली के लिए परेशान होना पड़ रहा है। कारोबार की हालत इतनी खराब है कि दूध, आइसक्रीम, कोल्ड ड्रिंक्स का कारोबार पूरी तरह से बिजली पर डिपेंड होने से घाटे में जा रहा है। सामान भी खराब हो रहा है। इसके साथ ही बिजली से चलने वाले उपकरणों के खराब होने पर उनकी रिपेयर का काम भी नहीं हो पा रहा है। उन्होंने पावरकॉम से बिजली की सप्लाई में सुधार लाकर लोगों को राहत दिलाने की मांग की। कहा कि जब लोग बिल देने में कंजूसी नहीं करते तो पावरकॉम को भी पूरी सुविधा दे।  
कुछ दिन पहले पावरकॉम ने दावा किया था कि अब शहर की बिजली व्यवस्था सुधार दी गई है और बिजली कटौती नहीं होगी। लेकिन लोग कह रहे हैं कि रोजाना तो घंटों की बिजली कटौती हो रही है। पावरकाॅम ने ऐसी कौन सी व्यवस्था की थी जिसके करने के बाद भी बिजली कटौती हाे रही है।

इसलिए हो रही बिजली कटौती
जीरकपुर में बिजली लाइनें और ट्रांसफार्मर बेहद खस्ताहालत में हैं। ये मौजूदा बिजली लोड झेलने की हालत में नहीं हैं। इसलिए जब भी रात को एसी, कूलर चलने शुरू होते हैं, उस दौरान बिजली लाइनों और ट्रांसफार्मरों पर लोड बढ़ जाता है और लाइनों में खराबी आ जाती है। उसके बाद पावरकॉम के पास मेंटेनेंस के लिए कर्मचारियों की कमी है। फाॅल्ट आने के बाद लाइनें समय पर ठीक नहीं हाेती। इसलिए लोगों को ये परेशानी झेलनी पड़ रही है। जब तक पावरकॉम ट्रांसफार्मरों की क्षमता नहीं बढ़ाएगा और तारें दुरुस्त नहीं करेगा, तब तक लोगों को कोई राहत नहीं मिलने वाली। 

बुरी तरह से प्रभावित हो रहा कोरोबार
सुरेश सिंगला ने कहा कि उनका किरयाने का काम है। बिजली न होने की वजह से ग्राहक नहीं आ रहे हैं। सारा दिन बिना बिजली के दुकानदार भी अंदर नहीं बैठ पा रहे हैं। इन्वर्टर भी लंबे बिजली कट की वजह से कारगर साबित नहीं हो रहे हैं। वहीं सतीश ने कहा कि उनका कपड़े का काम है। कपड़ा तभी बिकता है जब उसकी स्टिचिंग हाे पाए। बिजली न होने से टेलर शॉप पर काम नहीं हो रहा, इसलिए लोग कपड़े भी नहीं खरीद रहे हैं। वैसे भी दुकान में बैठना मुश्किल हो रहा है। ग्राहक बाहर से ही लौट जाते हैं। मेंटेनेंस के नाम पर पावरकॉम अकसर कट लगाता है, सुधार हो नहीं रहा।  

  • बिजली की लाइनों की मरम्मत का काम चल रहा था, इसके कारण थोड़ी देर के लिए बिजली की कटौती की गई। अब सप्लाई ठीक कर दी गई है। -खुशविंदर सिंह, एक्सईएन, पावरकॉम

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना