लेट-लतीफी:स्टेडियम का एक कोना गड्ढे में, लेवलिंग के लिए दीवार बनाकर भरवाएंगे मिट्‌टी

बैकुंठपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला मुख्यालय के ग्राम पंचायत सलका अमीर बाग में बन रहा स्टेडियम। - Dainik Bhaskar
जिला मुख्यालय के ग्राम पंचायत सलका अमीर बाग में बन रहा स्टेडियम।

जिला मुख्यालय के ग्राम पंचायत सलका अमीर बाग में 4 करोड़ 92 लाख से बन रहे स्टेडियम का निर्माण कार्य करीब 85 फीसदी पूरा हो गया है, लेकिन एक कोना अब भी गड्ढे में है। मैदान लेवलिंग के लिए पीडब्ल्यूडी विभाग काे यहां रिटर्निंग वॉल बनाकर बड़ी मात्रा में मिट्टी फीलिंग करवानी होगी। खिलाड़ियों की भावनाओं से जुड़ा यह प्रोजेक्ट मार्च 2023 तक पूरा हो जाएगा।

स्टेडियम निर्माण कार्य एक वर्ष में पूरा करने का लक्ष्य था। यह अलग बात है कि तीन वर्ष होने को हैं पर अभी तक इसका लाभ खेल प्रेमियों को नहीं मिल सका है। स्टेडियम तैयार होने में बड़ी बाधा यह है कि मैदान का एक कोना गड्ढे में है, जिसे लेवलिंग कराने के लिए विभाग को बड़ी मात्रा में मिट्टी फीलिंग करवानी होगी। स्टेडियम की बिल्डिंग, स्ट्रक्चर वर्क पूरा किया जा चुका है। बिल्डिंग से ग्राउंड का दृश्य अब साफ दिखने लगा है। अब बिल्डिंग का इंटीरियर वर्क, एक भवन की छत ढलाई, फ्लोरिंग, टाइल्स, पेंट कलर कार्य बाकी है।

इसके बाद इलेक्ट्रिकल व वायरिंग कार्य को पूरा किया जाएगा। पीडब्ल्यूडी विभाग के अफसरों का कहना है कि जल्द ही कोरिया के खिलाड़ियों को सर्वसुविधायुक्त स्टेडियम की सौगात मिलेगी। खेल मानकों के अनुसार बनाए गए ग्राउंड में प्रेक्टिस कर खिलाड़ी अपनी प्रतिभा को निखार सकेंगे। स्टेडियम का निर्माण 2 जुलाई 2020 तक पूरा करना था, लेकिन पहले कोरोना, फिर बारिश और अब अन्य कारणों से स्टेडियम का निर्माण पूरा नहीं हो सका है। स्टेडियम के लिए विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत व सांसद ज्योत्सना महंत ने भूमिपूजन किया था।

स्टेडियम की सड़क चौड़ी करने की जरूरत
स्टेडियम आने के लिए स्टेट हाइवे से लगा मार्ग सकरा है, जिसके चौड़ीकरण की जरूरत है। सलका पेट्रोल पंप के सामने से अमीर बाग में जाने के लिए रास्ता बना है। स्टेडियम पहुंच मार्ग के लिए हालही में सीसी सड़क का निर्माण किया गया है।

ग्राउंड छोटा.. बड़े टूर्नामेंट आयोजित नहीं हाे सकेंगे
नए साल पर मार्च महीने तक एजेंसी इसे पीडब्ल्यूडी विभाग को हैंडओवर कर देगी। ग्राउंड छोटा होने के कारण यहां बड़े आयोजन नहीं हो सकेंगे। किसी टूर्नामेंट के हिसाब से मैदान में सुविधाएं भी नहीं हैं। दर्शक स्टेडियम के चारों ओर बैठकर मैच देख लें ऐसा भी यहां मुमकिन नहीं नजर आ रहा है। अफसरों का भी मानना है कि स्टेडियम को एथलीट खिलाड़ियों के लिए खासतौर पर विकसित किया जाएगा। स्टेडियम में फुटबॉल, क्रिकेट मैच भी करवाए जा सकते हैं, लेकिन बड़े फुटबॉल या क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन यहां नहीं हो सकेंगे।

काम जल्द पूरा कराने का प्रयास है: एसडीओ
पीडब्ल्यूडी एसडीओ एसके मिश्रा ने बताया कि स्टेडियम का निर्माण जल्द से जल्द पूरा करवाने का प्रयास है। लेवलिंग के लिए वॉल बनाकर मिट्टी फीलिंग करवाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...