कोरोनाकाल के दो साल पूरे:21 दिन से संक्रमण दर शून्य, मई में 3292 की जांच हुई, सभी निगेटिव

बालोद9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में 14 मई 2020 को कोरोना का पहला संक्रमित डौंडी ब्लॉक के ग्राम कोकान में मिला था। इस लिहाज से शनिवार को जिले में कोरोनाकाल के दो साल पूरे हुए। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार जिले के 5 ब्लॉक में 14 मई 2020 से अब तक 29 हजार 363 लोग कोरोना की चपेट में आ चुके है। जिसमें 28 हजार 889 डिस्चार्ज हो चुके हैं। इस दौरान कुल 474 संक्रमिताें की मौत हुई है।

तीसरी लहर में अब कोरोना संक्रमण की रफ्तार धीमी पड़ गई है। इसका अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि 23 अप्रैल के बाद से जिले में एक भी पॉजिटिव केस नहीं मिला है। 21 दिन से सुखद स्थिति बनी हुई है। हालांकि दूसरे राज्य में केस मिल रहे हैं इसलिए यहां भी रोजाना सैंपलिंग टेस्टिंग का दौर जारी है। ऐसे में आने वाले समय में स्थिति कुछ भी हो सकती है। स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन की ओर से लोगों से अपील की गई है कि दूसरे राज्य से आने के बाद स्वेच्छा से कोरोना जांच करवा लें, ताकि संक्रमण न फैलें। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 13 मई तक 6 लाख 15 हजार 136 सैंपल की जांच हो चुकी है।

जनवरी व फरवरी में हुई थी 24 माैतें
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार कोरोना की तीसरी लहर में एक जनवरी से 13 मई तक कुल 91 हजार 995 सैंपल की जांच हुई। जिसमें 2 हजार 94 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें से जनवरी व फरवरी मंे कुल 24 संक्रमितों की मौत हुई थी। मार्च व अप्रैल और मई में अब तक एक भी मौत नहीं हुई।

वहीं तीसरी लहर में कोरोना की चपेट में आने वाले ज्यादातर मरीज होम आइसोलेट हुए। अस्पताल आने की नौबत नहीं पड़ी। इसलिए भी सुखद स्थिति बनी। स्वास्थ्य विभाग के अधिकांश 98% मरीज घर में ही रहकर कोरोना को मात देने में सफल रहे है। देश के कई राज्य में कोरोना केस बढ़ रहे है इसलिए आगे कुछ भी स्थिति हो सकती है। पहले की तुलना में अब कम लोग कोरोना जांच करवा रहे हैं।

राहत: फरवरी के बाद एक भी मौत नहीं हुई
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 30 अप्रैल तक 6 लाख 11 हजार 844 सैंपल की जांच हुई थी। इस दौरान 29 हजार 363 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई यानी इतने संक्रमित मिले थे। जिसमें 28 हजार 889 डिस्चार्ज हो चुके थे। वहीं 31 मार्च तक 6 लाख 3 हजार 301 सैंपल की जांच हो चुकी थी। जिसमें 29 हजार 361 संक्रमित मिले थे। इनमें से 28 हजार 886 लोग डिस्चार्ज हो चुके थे। विभाग के अनुसार फरवरी माह में 10 संक्रमितों की मौत हुई थी।

सैपलिंग टेस्टिंग की रफ्तार घटते क्रम पर

  • जनवरी- 31 दिन में 37 हजार 268 सैंपल की जांच हुई। जिसमें 1654 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें 14 मौत हुई थी।
  • फरवरी- 28 दिन में 27 हजार 475 सैंपल की जांच हुई थी। जिसमें 422 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें से 10 संक्रमितों की मौत हुई थी।
  • मार्च- 31 दिन में 15 हजार 417 सैंपल की जांच हुई थी। जिसमें 16 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें से सभी रिकवर हुए। एक भी संक्रमित की मौत नहीं हुई।
  • अप्रैल- 30 दिन में 8 हजार 543 सैंपल की जांच हुई। जिसमें सिर्फ 2 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। सभी रिकवर हो गए। एक भी संक्रमित की मौत नहीं हुई।
  • मई- इस माह के 13 दिन में 3 हजार 292 सैंपल की जांच हो चुकी है। सभी निगेटिव रहे।
खबरें और भी हैं...