मूकदर्शक बनी पुलिस:4 जिले से पहुंचे क्रांति सेना के लोगों ने व्यापारियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, 12 घायल, चार लोग गंभीर

गुंडरदेही/ बालोदएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
क्रांति सेना के युवाओं ने बुधवार को दुकान बंद न करने का हवाला देकर व्यापारियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, दूसरे जिले के लोग गुंडरदेही पहुंचकर मारपीट करते हुए। - Dainik Bhaskar
क्रांति सेना के युवाओं ने बुधवार को दुकान बंद न करने का हवाला देकर व्यापारियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, दूसरे जिले के लोग गुंडरदेही पहुंचकर मारपीट करते हुए।

पाटेश्वर धाम विवाद व तुएगोंदी पथराव मामले में बुधवार को जिला बंद का आह्वान विभिन्न संगठनों ने किया था। गुंडरदेही में दोपहर 12.30 से 2 बजे तक 4 जिले से पहुंचे क्रांति सेना के युवाओं ने दुकान बंद न करने का हवाला देकर दौड़ा-दौड़ाकर व्यापारियों व आम लोगों की पिटाई कर दी।

जिससे 12 लोगों को चोटें आई है। जिसमें 4 गंभीर है। व्यापारियों के अनुसार एक जिप्सी में 8 लोग सवार होकर राजधानी के खामतराई थाना क्षेत्र से पहुंचे थे। मेटाडोर में और स्कार्पियो बोलेरो में कार्यकर्ता हाथ में डंडा लाठी लेकर दुकान में घुसकर मारपीट की। घटना के बाद बैंक ऑफ बड़ौदा के सामने चक्काजाम की स्थिति बन गई थी। गुंडरदेही से चार व्यापारी को शंकराचार्य दुर्ग भिलाई रेफर किया गया है।

घायल रजा गोलू, बक्स, नवीन जैन, प्रशांत जैन ने बताया कि छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना के लोग आए और दुकान बंद करने को लेकर मारपीट किया। एसडीओपी राजेश बागड़े ने कहा कि क्रांति सेना के लोगों ने व्यापारियों से मारपीट की है, जांच कर रहे हैं। दोषियों पर उचित कार्रवाई करेंगे। गुंडरदेही एसडीएम प्रेमलता चंदेल ने कहा कि सर्व आदिवासी समाज ने पाटेश्वर धाम को लेकर बंद की सूचना दी थी पर कौन से व्यक्ति इस तरह व्यापारियों पर हमला किया है।

जिम्मेदारों ने कहा
48 घंटे बाद दुकान बंद रखकर प्रदर्शन करेंगे: व्यापारी संघ के अध्यक्ष दर्शन जैन, महेश चांडक ने कहा व्यापारियों के साथ इस तरह की घटना को अंजाम देने वालों पर तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए। इस घटना के बाद से काफी सहमे हुए हैं अन्यथा 48 घंटे बाद गुंडरदेही व्यापारी संघ अपनी दुकान बंद रख कर कार्रवाई की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन और चक्काजाम भी करेंगे।

सभी को जल्द गिरफ्तार करेंगे
एसपी जीआर ठाकुर ने बताया कि गुंडरदेही में लगभग 10 लोगों को चोटें आई है। मारपीट करने वाले लोग दूसरे जिले रायपुर, दुर्ग, भिलाई से यहां अचानक पहुंचे थे। कुछ लोगों की पहचान कर ली गई है, जिप्सी के अलावा और किस-किस गाड़ी से आए थे, उसके बारे में भी पता कर लिए है। जल्द दोषियों की गिरफ्तारी होगी।

निष्पक्षता से जांच हो
छत्तीसगढ़िया क्रान्ति सेना के प्रदेशाध्यक्ष अमित बघेल ने कहा कि गुंडरदेही मारपीट मामले में वायरल हो रहे वीडियो में दिख रहे लोग छत्तीसगढ़िया क्रान्ति सेना से नहीं है। वीडियो की निष्पक्षता से जांच होनी चाहिए। सब राजनीतिक साजिश के तहत बदनाम करने की नीयत से ऐसा किया जा रहा है।

मारपीट के बाद घायल लोगों को सीएचसी गुंडरदेही में भर्ती कराया गया।
मारपीट के बाद घायल लोगों को सीएचसी गुंडरदेही में भर्ती कराया गया।

घटना की निंदा की गई
सर्व आदिवासी समाज के अध्यक्ष थानसिंह मंडावी ने कहा हम शांतिपूर्ण ढंग से व्यापारियों को समर्थन मांगे हैं पाटेश्वर धाम की घटना को लेकर आज जो व्यापारियों के साथ जो घटना हुई है उसका हम निंदा करते हैं। आरोपियों पर तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए। छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना के कार्यकर्ता दुष्यंत साहू ने कहा मैं जिप्सी चलाता हूं और क्रांति सेना के सदस्य हूं और मेरी जिप्सी में सात आठ लोग आए थे।

खबरें और भी हैं...