चौपाल में रखी मांग:बोर की दूरी में 300 मीटर की बाध्यता को खत्म किया जाए

डौंडी10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डौंडी. चौपाल में किसानों को सरकारी योजनाओं की जानकारी दी गई। - Dainik Bhaskar
डौंडी. चौपाल में किसानों को सरकारी योजनाओं की जानकारी दी गई।

सहकारिता विभाग ने शुक्रवार को उप मंडी प्रांगण में किसान चौपाल लगाई। जिसमें धान के बदले अन्य फसल लेने विभागीय अधिकारियों ने जानकारी दी।

खैरवाही के किसान बड़कूलाल, पर्वतबाई, सल्हाईटोला के टेकराम गोर, द्रोपदी बाई, कटरेल की रजईबाई, बेलरगोंदी के एवनसिंह, कामता के सहदेव राम, हेमलाल कुंजराम, सुकलुराम, डौंडी के विष्णुराम ने कहा कि खेतों में एक बोर से दूसरे बोर की दूरी 300 मीटर की बाध्यता को सरकार खत्म करें, क्योंकि इससे बड़े किसानों को ही लाभ मिलता है और छोटे किसान इसके लाभ से वंचित हो जाते हैं। क्षेत्र की सभी सोसायटियों में धान बीज, खाद आदि का भंडारण पर्याप्त मात्रा में होना चाहिए, ताकि किसानों को भटकना न पड़े। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक डौंडी के मैनेजर संतोष राई ने बताया कि किसानों के लाभ के लिए शासन योजना चला रही हैं।

जिसमें गोल्डन क्रेडिट कार्ड, होम लोन आदि भी शामिल है। किसान आवश्यक दस्तावेज लेकर आएंगे तो लाभ दिलाया जाएगा। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लेने के लिए हर किसान को अब अलग से फाॅर्म भरना पड़ेगा। चौपाल में सतीश यादव, सहायक प्रबंधक कचरूराम खरे, जालमसिंह सिवाना, कपिल चिन्दा, करतेश कुमार गौर थे।

खाद-बीज का अग्रिम उठाव कर परेशानी से बचें: कृषि विभाग डौंडी के वरिष्ठ अधिकारी जेआर नेताम ने कहा कि सोसायटियों में खाद-बीज का भंडारण हो चुका है। किसान अग्रिम उठाव कर परेशानी से बचें। धान की खेती में वर्मी कंपोस्ट खाद का अधिक से अधिक उपयोग करें। धान के बदले सुगंधित धान ब्लेक राईस की अधिक से अधिक रकबा में बोनी करें। धान के बदले के अरहर, उड़द, मूंग, मक्का, कोदो, रागी की फसल लेने के लिए प्रोत्साहित किया। इस दौरान क्षेत्र के किसानों को सरकारी योजनाओं की जानकारी दी गई।

खबरें और भी हैं...