रामलिंगेश्वर मंदिर में मत्था टेक बस्तर दौरे की शुरुआत:CM ने जगरगुंडा को तहसील बनाने की घोषणा की; सी-मार्ट' का किया लोकार्पण

जगदलपुर/ सुकमा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोंटा पहुंचते ही सीएम ने सबसे पहले भगवान की पूजा अर्चना की है। - Dainik Bhaskar
कोंटा पहुंचते ही सीएम ने सबसे पहले भगवान की पूजा अर्चना की है।

भेंट-मुलाकात अभियान के तहत सीएम भूपेश बघेल बुधवार से बस्तर दौरे पर हैं। वो आज यहां सुकमा जिले के कोंटा पहुंचे हुए हैं। सीएम ने अपने दूसरे दौर की शुरुआत भगवान के दर पर मत्था टेक कर की है। सीएम निर्धारित समय पर कोंटा पहुंच गए थे। इसके बाद उन्होंने यहां राम लिंगेश्वर मंदिर में पूजा अर्चना की है और प्रदेश की खुशहाली की कामना की है।

कोंटा पहुंचने पर कांग्रेस नेताओं ने उनका स्वागत किया है।
कोंटा पहुंचने पर कांग्रेस नेताओं ने उनका स्वागत किया है।

कोंटा पहुंचने पर उनका कंग्रेस नेताओं और प्रशासनिक अधिकारियों ने स्वागत किया। हेलीपैड पर उतरने के बाद सीएम सीधे मंदिर पहुंचे। इसके बाद सीएम ने कोंटा के ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया है। यहां उन्होंने स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया। मुख्यमंत्री ने दवाइयों की उपलब्धता की जानकारी भी ली। साथ ही सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में मौजूद बुजुर्ग मरीज के साथ बैठकर उनसे बातचीत की है। यहां निरीक्षण करने के बाद सीएम ने चौपाल लगाई और लोगों की समस्या सुनी।

कोंटा में सीएम की चौपाल।
कोंटा में सीएम की चौपाल।

जगरगुंडा को तहसील बनाने की घोषणा

सीएम भूपेश बघेल ने यहां कहा कि इस दौरे का मुख्य उद्देश्य एक ही है कि शासन की योजनाओं का क्रियान्वयन जमीनी स्तर पर हो रहा है कि नही। वहीं गोधन योजना, कृषि न्याय योजना का क्रियान्वयन जमीनी स्तर पर ईमानदारी से हो इसका ध्यान अधिकारियों को देना होगा। महंगाई पर सीएम ने केंद्र की सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि केंद्र की सरकार ने आम जनता पर कुल्हाड़ी मारा है। पेट्रोल, डीजल, गैस के दाम बढ़ने से गरीब और गरीब होता जा रहा है। इसके अलावा उन्होंने यहां कुछ बड़ी घोषणाएं भी की हैं। उन्होंने कहा कि जगरगुंडा को तहसील और दोरनापाल को पूर्ण तहसील का दर्ज दिया जाएगा।

ये घोषणएं भी कीं

  • कोंटा ब्लॉक के बंडा गांव और जगरगुंडा में बिजली सब स्टेशन
  • कोंटा में 30 बिस्तर अस्पताल को 50 बिस्तर करने की घोषणा की गई।
  • कोंटा सामुुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डाक्टर एवं स्टाफ निवास का निर्माण किया जाएगा।
  • दुब्बाकोटा में खेल मैदान का निर्माण किया जाएगा।
  • छत्तीसगढ़ की सीमा पर छत्तीसगढ़ द्वार का निर्माण।
  • एर्राबोर में मिनी स्टेडियम का निर्माण।
सीएम ने बच्चों से भी बातचीत की।
सीएम ने बच्चों से भी बातचीत की।

कोंटा के बाद सीएम भूपेश छिंदगढ़ पहुंचे थे। छिंदगढ़ में स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने विद्यालय में समर कैंप में आए बच्चों से भेंट की उनसे पढाई एवं अन्य गतिविधियों की जानकारी ली है।

सी मार्ट का किया लोकार्पण

चौपाल में लोगों से भेंट-मुलाकात करने के बाद मुख्यमंत्री सुकमा पहुंचे। यहां सीएम ने सुकमा जिला मुख्यालय में 58 लाख की लागत से निर्मित सी-मार्ट (छत्तीसगढ़ मार्ट) का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने मार्ट से कोदो, कुटकी, रागी, सुगंधित चावल, तिखुर, मसाले खरीदे और मार्ट की बोहनी कराई। यहां से सीएम ने कुल 1348 रुपए के उत्पादों को खरीदा है। इस प्रकार वह सुकमा 'सी-मार्ट' के फर्स्ट कस्टमर बने।

वहीं जिला मुख्यालय में बस स्टैंड के पास अब एक ऐसी दुकान का संचालन होगा, जहां एक ही छत के नीचे सुकमा की जनता को स्थानीय तौर पर बनाए गए ढेरों उत्पाद मिलेंगे। मुख्यमंत्री ने नवनिर्मित सी-मार्ट के सभी उत्पादों का अवलोकन किया और संचालकों से उत्पादों के संबंध में जानकारी ली। सी मार्ट का संचालन समिति शक्ति महिला समूह ग्राम संगठन द्वारा किया जा रहा है।

चौपाल में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।
चौपाल में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।

सरगुजा दौरे से हुई थी शुरुआत

सीएम भूपेश ने प्रदेश के सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों में भेंट-मुलाकात कर रहे हैं। भेंट-मुलाकात अभियान के पहले चरण में मुख्यमंत्री 4 से 11 मई तक सरगुजा संभाग में थे। इस दौरान उन्होंने तीन जिलों के आठ विधानसभा में जनता के बीच पहुंचकर शासकीय योजनाओं को क्रियान्वयन और जनता को मिल रहे लाभ को जाना था।

सीएम ने कोंटा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया।
सीएम ने कोंटा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया।

2 जून तक बस्तर दौरा

इधर, भूपेश बघेल बस्तर के सभी विधानसभा क्षेत्रों का दौरा 2 जून तक पूरा कर लेंगे। यात्रा के तीसरे चरण की शुरुआत 30 मई से होगी। इस दौर में नारायणपुर, कांकेर, अंतागढ़ और भानुप्रतापुर विधानसभा क्षेत्रों में मुख्यमंत्री की चौपाल लगनी है। यह चरण पूरा करने के बाद मुख्यमंत्री एक बार फिर सरगुजा संभाग की विधानसभा सीटों के लिए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...