CG के लोगों ने देखी आंध्र प्रदेश की संस्कृति:डी पुरंदेश्वरी ने तेलगु में दिया भाषण, आंध्र के कलाकारों ने दी शानदार परफॉर्मेंस

जगदलपुर11 दिन पहले

छ्त्तीसगढ़ के जगदलपुर में मंगलवार की शाम भाजपा का 'एक भारत श्रेष्ठ भारत' के तहत कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इस कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के अलावा आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और ओडिशा राज्य से भी नेता और समाज के सदस्य शामिल हुए। पूरा कार्यक्रम आंध्र प्रदेश की संस्कृति पर ही आधारित था। साथ ही नेता से लेकर समाज के लोग आंध्र प्रदेश की पारंपरिक वेशभूषा धारण किए हुए थे। कार्यक्रम के माध्यम से बस्तर के लोग आंध्र प्रदेश की संस्कृति से रूबरू हुए।

इस कार्यक्रम में BJP की राष्ट्रीय महामंत्री डी पुरंदेश्वरी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव, बस्तर प्रभारी संतोष पांडेय, समेत पूर्व मंत्री केदार कश्यप, महेश गागड़ा समेत अन्य भाजपा के दिग्गज नेताओं ने शिरकत की। इस दौरान डी पुरंदेश्वरी ने कार्यक्रम में मौजूद लोगों को तेलगु में भाषण दिया। उन्होंने कहा कि, देश के हर राज्य के लोग एक दूसरे राज्य की कला और संस्कृति से रूबरू हों। एक दूसरे को समझे। इसी उद्देश्य से एक भारत श्रेष्ठ भारत की शुरुआत की गई है। उन्होंने कहा कि, जगदलपुर में आयोजित कार्यक्रम में लोगों से मिली और अपनी बातें रखी।

ये भी पढ़ें- 'हिंदू-मुस्लिम दोनों एक-दूसरे की सोच को समझें':BJP की राष्ट्रीय महामंत्री डी पुरंदेश्वरी बोलीं- एक भारत श्रेष्ठ भारत के तहत हम इसी ओर बढ़ रहे

प्रदेश संयोजक बोले- पूरा भारत एक समान

एक भारत श्रेष्ठ भारत के प्रदेश संयोजक श्रीनिवास राव मद्दी ने कहा कि, जिस तरह से पूरे देश में जातिवाद और क्षेत्रवाद फैलाया जा रहा है। इसको लेकर हम एक संदेश देना चाहते हैं कि, पूरा भारतवर्ष एक है। चाहे हम किसी भी प्रांत में रहे और भाषा का उपयोग करें। हम सब एक हैं। उन्होंने कहा कि, इस कार्यक्रम में छ्त्तीसगढ़ के अलावा, ओडिशा, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश से भी लोग पहुंचे थे।

सांस्कार्यक्रमों का हुआ आयोजन

आंध्र प्रदेश और छत्तीसगढ़ के कलाकारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया। आंध्र प्रदेश के कलाकारों ने पारंपरिक वेशभूषा धारण कर पारंपरिक नृत्य किया। साथ ही छत्तीसगढ़ के कलाकारों ने यहां की परंपरा को नृत्य के रूप में प्रस्तुत किया। देर रात तक सांस्कृतिक कार्यक्रम चलते रहे। इस मौके पर सैकड़ों लोग मौजूद थे। इसके आंध्र प्रदेश के फेमस करीब 10 प्रकार से ज्यादा पकवान बनवाए गए थे। बस्तर के लोगों ने आंध्र के फूड का भी स्वाद लिया।

क्या है एक भारत श्रेष्ठ भारत?

लोगों में क्षेत्रवाद की जगह राष्ट्रवाद की भावना जागृत हो। संस्कृति का आदान-प्रदान हो। लोगों में प्रवासी की फीलिंग्स न हो। लोग सोचें कि हम किसी एक प्रदेश के नहीं बल्कि भारत देश के रहने वाले हैं। भाजपा नेताओं ने बताया कि, पीएम नरेंद्र मोदी की मंशा है कि किसी को यह नहीं लगना चाहिए कि हम बाहर के हैं। आप भी हमारे, हम भी आपके हैं। यही भाव पैदा करने के लिए यह कार्यक्रम किए जा रहे हैं।