41 दिन से धरना में बैठे रसोइया संघ का दर्द:बोले- 1500 में जिंदगी कैसे चलाएं, सरकार बनने से पहले जो वादा किए थे उसे निभाएं

जगदलपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जगदलपुर में रसोइया संघ ने रैली निकाली। - Dainik Bhaskar
जगदलपुर में रसोइया संघ ने रैली निकाली।

छ्त्तीसगढ़ के जगदलपुर में 3 सूत्रीय मांगों को लेकर रसोइया संघ धरने पर बैठा हुआ है। उनके धरने को 41 दिन पूरे हो गए हैं। लेकिन, मांगों को पूरा करने सरकार की तरफ से कोई दिलचस्पी अब तक नहीं दिखाई गई है। बदले में कुछ दिन पहले आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने संघ के सदस्यों को मांगे पूरी नहीं करने और नई भर्ती करने की बात कही थी। जिसका वीडियो भी वायरल हुआ था। संघ के सदस्यों का कहना है कि 1500 रुपए मानदेय में जिंदगी कैसे चलाएं?

जगदलपुर में रैली निकाली।
जगदलपुर में रैली निकाली।

गुरुवार को जगदलपुर में रसोइया संघ ने विशाल रैली निकाली। मांग पूरी करने मुख्यमंत्री के नाम जिला प्रशासन के अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा गया। रसोइया संघ ने कहा कि छत्तीसगढ़ में जब भाजपा की सरकार थी तो उस समय हम मानदेय बढाने की मांग को लेकर हड़ताल पर बैठे हुए थे। जब कांग्रेसी हमारे पास आए और सरकार बनने पर मांग पूरी करने का वादा किया था। लेकिन, अब जब सरकार को बने 4 साल हो गए हैं तो मांग पूरी नहीं की जा रही है।

जन तक मांग पूरी नहीं होगी, तब तक धरना में बैठे रहेंगे।
जन तक मांग पूरी नहीं होगी, तब तक धरना में बैठे रहेंगे।

रसोइया संघ ने कहा कि, संभाग के सभी रसोइया श्रमिकों को 1500 रुपए की जगह कलेक्टर दर पर मानदेय दिया जाए। इसके अलावा बिना किसी कारण के रसोइया कर्मियों को काम से निकाल दिया जाता है। ऐसा बिल्कुल भी न किया जाए। इसके साथ ही उन्होंने सरकार से कहा है कि जबतक मांग पूरी नहीं होगी तब तक वे इसी तरह धरना पर बैठे रहेंगे।

खबरें और भी हैं...