बस्तर में नदी-नाले उफान पर, आने-जाने पर प्रतिबंध:इंद्रावती नदी पर बने पुल के ऊपर से बह रहा पानी; राहत सामग्री स्टॉक करने के निर्देश

जगदलपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रशासनिक अमला मैदान में उतर व्यवस्था बनाने में जुटा हुआ है। - Dainik Bhaskar
प्रशासनिक अमला मैदान में उतर व्यवस्था बनाने में जुटा हुआ है।

छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में लगातार हो रही बारिश की वजह से नदी-नाले उफान पर हैं। बस्तर की जीवनदायिनी कही जाने वाली इंद्रावती नदी का भी जल स्तर लगातार बढ़ रहा है। अब जगदलपुर में इंद्रावती नदी पर बने पुराने पुल और गोरिया बहार नाला के ऊपर से पानी बह रहा है। कोई हादसा न हो इसलिए बस्तर जिला प्रशासन ने इन दोनों जगहों से लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया है। साथ ही यहां सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

बस्तर में पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश हो रही है।
बस्तर में पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश हो रही है।

जगदलपुर के SDM ओमप्रकाश वर्मा ने बताया कि, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में सतत निगरानी रखे हुए हैं। आवश्यक सुरक्षा सहित अन्य व्यवस्था बनाने की तैयारियां की गई है। इंद्रावती नदी पर बने पुराने पुल और गोरिया बहार नाला के ऊपर से पानी का बहाव होने के कारण आवश्यक सुरक्षा के तहत आवागमन को प्रतिबंधित किया गया। साथ ही मौके पर होमगार्ड के जवानों को भी तैनात किया गया है। किसी को भी पानी के नजदीक जाने नहीं दिया जा रहा है।

मौके पर जायजा लेने पहुंचे अफसर।
मौके पर जायजा लेने पहुंचे अफसर।

जलभराव वाले इलाके में राहत सामग्री स्टॉक करने दिए निर्देश
कलेक्टर चंदन कुमार ने अतिवृष्टि से जलभराव वाले क्षेत्र में बाढ़ आपदा प्रबंधन हेतु आवश्यक तैयारी करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने प्रभावित क्षेत्रों में राहत शिविर के लिए जगहों के चिंन्हाकन के साथ-साथ खाद्यान सामग्री, पेयजल व्यवस्था, दवाइयों की उपलब्धता और राहत बचाव के लिए आवश्यक तैयारी रखने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर के निर्देश के बाद अधिकारी मैदान में उतर गए और लगातार हालातों का जायजा ले रहे हैं।

राशन से भरा ट्रैक्टर पानी में बह गया।
राशन से भरा ट्रैक्टर पानी में बह गया।

ऐसे बढ़ रहा इंद्रावती नदी का जलस्तर
मौसम वैज्ञानिकों की माने तो पिछले 24 घंटों में जगदलपुर में 58mm से अधिक बारिश रिकॉर्ड की गई है। बस्तर जिले में इंद्रावती नदी का जलस्तर भी लगातार बढ़ते जा रहा है। सोमवार को इंद्रावती नदी का जलस्तर दोपहर 12 बजे तक 4.270 मीटर दर्ज किया गया था। वहीं अगले दिन मंगलवार को 24 घंटों में दोपहर 12 बजे तक इसमें 1.870 मीटर की बढ़ोतरी के साथ 6.140 मीटर जलस्तर दर्ज किया गया है।

बरसाती नाले में बहता ट्रक।
बरसाती नाले में बहता ट्रक।

बीजापुर में ऐसे हैं हालात
इधर, बारिश की वजह से बस्तर के बीजापुर जिले में सबसे ज्यादा हालात बेकाबू हो रहे हैं। छोटी-बड़ी नदियां उफान पर है। रविवार को एक जी दिन में दो अलग-अलग हादसों में राशन से भरा ट्रैक्टर और PDS के चावल से भरा ट्रक पानी में बह गया था। इसके अलावा कुछ दिन पहले सर्चिंग से लौट रहे CRPF की कोबरा बटालियन का एक जवान भी बरसाती नाला पार करते वक्त तेज बहाव के साथ बह गया था। बाद में जवान की लाश मिली थी।

खबरें और भी हैं...