आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के हत्यारे को उम्रकैद:एक तरफा प्यार में चाकू मारा, फिर पत्थर से कुचला था सिर; भागते हुए पुलिस ने पीछा कर पकड़ा

​​​​​​​बेमेतरा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कमलेश को हत्या का दोषी ठहराते हुए कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई। - Dainik Bhaskar
कमलेश को हत्या का दोषी ठहराते हुए कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई।

छत्तीसगढ़ के बेमेतरा में आंगनबाड़ी की महिला कार्यकर्ता के हत्यारे कमलेश साहू (30) को ADJ कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। हत्यारा कमलेश साहू आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से एक तरफा प्यार करता था। उसे पाने में नाकाम होने पर घर छोड़ने के बहाने कमलेश ने पहले पेट में चाकू मारा, फिर पत्थर से सिर कुचल कर हत्या कर दी थी। इसके बाद भागते हुए पुलिस ने उसे पीछा कर पकड़ लिया था। मामला बेरला थाना क्षेत्र का था।

जानकारी के मुताबिक, बेरला के सुरहोली गांव निवासी कमलेश साहू की आंगनबाड़ी की महिला कार्यकर्ता इंद्राणी साहू से जान पहचान थी। इंद्राणी विधवा थी। वह इंद्राणी से एक तरफा प्यार करने लगा था। इस बीच उसे पता चला कि इंद्राणी का किसी और युवक से प्रेम संबंध है। इस बात को लेकर कमलेश भड़क गया। वह 19 अगस्त को बीएलओ प्रशिक्षण से घर छोड़ने के बहाने इंद्राणी को स्कूटर से बेरला-बेमेतरा मार्ग पर खंडहरनुमा मकान के पास ले गया।

पुलिस ने रोका तो भागने लगा

वहा कमलेश ने इंद्राणी के पेट में चाकू मार दिया। वह जमीन पर गिरी तो पत्थर से सिर कुचल कर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद स्कूटर से जेवरा सिरसा की ओर भागने लगा। इस दौरान जेवरा चौकी प्रभारी पुलिसकर्मियों के साथ ड्यूटी पर थे। कमलेश के कपड़े खून से सने थे और उसके हाथों में भी खून लगा था। यह देख चौकी प्रभारी ने उसे रुकने का इशारा किया, लेकिन वह तेज रफ्तार में भागने लगा। इस पर पीछा कर उसे पकड़ लिया।

परिजनों ने की शव की शिनाख्त

कमलेश ने पूछताछ में इंद्राणी की हत्या करने और लाश पड़ी होने की जानकारी दी। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव बरामद कर लिया। इंद्राणी के परिजनों को बुलाकर शव की शिनाख्त कराई गई। इसके बाद मामला कोर्ट में गया। जहां सोमवार को ADJ कोर्ट का फैसला आया। ADJ पंकज कुमार सिन्हा ने कमलेश को आजीवन कारावास और 2 हजार रुपए अर्थदंड की सजा सुनाई। शासन की ओर से पैरवी अधिवक्ता दिनेश तिवारी ने की।