पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सुरक्षा कवच वैक्सीन और मास्क ही:45+ के 1 लाख 59 हजार 184 तो 18 से 44 साल के सिर्फ 9429 लोगों ने अब तक लगवाया टीका

बालोद8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • वैक्सीनेशन 18+ बड़ी चुनौती क्योंकि टीका लगवाने में बुजुर्ग शुरू से रहे आगे
  • अफवाहों पर ध्यान न दें: अभी समझदारी और जिम्मेदारी दिखाना जरूरी, टीका लगवाएं तभी कोरोना को हरा पाएंगे
  • अंत्योदय कार्डधारी कम पहुंच रहे: 18 साल से ज्यादा उम्र के जिले में 3 लाख, 4 हजार डोज मिली, फिर भी बच रही

अफवाहों के चलते जिले में वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी हो गई है। जिसे विभागीय अफसर भी स्वीकार कर रहे हैं। इसका अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि 2 दिन में 18 से 44 साल के सिर्फ 792 लोग ही टीका लगाने पहुंचे। जिले में 16 जनवरी से अब तक एक लाख 68 हजार 613 लोगों को पहला डोज लग चुका है।

जिसमें 18 से 44 साल के सिर्फ 9 हजार 429 ही हैं। जबकि 45 से 60 साल व इससे ज्यादा उम्र के एक लाख 59 हजार 184 लोग शामिल हैं। स्वास्थ्य विभाग अब ब्लॉकवार लक्ष्य तय नहीं कर रहा है। दरअसल 2 मई को 2 हजार 745 लोगों को टीका लगाने लक्ष्य रखा था लेकिन 464 ही पहुंचे। वहीं 3 मई को 2 मई से भी कम 428 लोग ही पहुंचे। बालोद व डौंडी लोहारा ब्लॉक में सिर्फ 30-30, डौंडी में 89, गुंडरदेही में 103 और गुरूर ब्लॉक में 174 लोगों ने ही वैक्सीनेशन केंद्रों में पहुंचकर टीका लगवाया। प्रशासनिक अफसरों को गांव में पहुंचकर समझाइश देने की नौबत आ रही है। जबकि बुजुर्ग स्वेच्छा से केंद्र पहुंचे थे। टीका लगवाएंगे तभी तो कोरोना को हरा पाएंगे.. यह सब जानने के बाद भी युवा वर्ग टीका लगाने आगे नहीं आ रहे हैं।

पर्याप्त डोज मिलने का इंतजार, चुनौती बरकरार
पहली चुनौती: दूसरी डोज लगाना-
पहली डोज लगवाने वाले एक लाख 68 हजार 613 लोगों में से सिर्फ 25 हजार 371 को दूसरा डोज लग पाया है। एक लाख 43 हजार लोग अभी भी बचे है।
दूसरी चुनौती: शासन की गाइडलाइन- 18 वर्ष से अधिक उम्र वाले 3 लाख से ज्यादा है। प्रत्येक ब्लॉक में 800-800 डोज भेजी गई है। अंत्योदय राशनकार्ड के हिसाब से टीका लगाने शासन ने निर्देश दिए हैं। उसी हिसाब से टीका लगाया जा रहा है।

दो डोज लगने के बाद इन्हें कोरोना तो हुआ बावजूद घर पर रहकर जीत गए जंग

  • अपर कलेक्टर एके वाजपेयी ने बताया कि वैक्सीन का दो डोज मेरे लिए रक्षा कवच का काम किया। डॉक्टरों के सलाह से घर में ही रहकर समय पर दवा का सेवन किया, और जल्दी रिकवर होकर पूरी तरह से ठीक भी हो गया। परिवार की रक्षा चाहते हैं, तो सभी को वैक्सीन लगाना जरूरी है। मुझे खुशी हो रही है कि टीका लगने के कारण मैं स्वस्थ हूं। टीका लगने के बाद दर्द, बुखार, चक्कर आए तो घबराएं नहीं।
  • जिला पंचायत सीईओ लोकेश चंद्राकर ने बताया कि दो डोज लगने के बाद भी दूसरी लहर में कोरोना के संक्रमण में तो आया लेकिन समय पर दवा खाने, व्यायाम करने, काढ़ा पीने से 5 दिन में ही रिकवर होकर ठीक हो गया। अस्पताल जाने की जरूरत नहीं पड़ी। वैक्सीनेशन ही कोरोना से बचा सकती है। खुद के साथ परिवार व समाज को सुरक्षित रखने सभी पात्र लोगों को टीका लगवाना चाहिए।
  • एडिशनल एसपी डीआर पोर्ते ने बताया कि कोरोना वायस के संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीन लगाना जरूरी है तभी आप व आपका पूरा परिवार सुरक्षित रह सकते है। दो डोज लगाने का यह फायदा हुआ कि कोरोना तो हुआ लेकिन घर में ही रहकर जल्दी ठीक हो गया। आज ड्यूटी कर रहा हूंं। युवाओं से अपील करूंगा कि जो भी पात्रता की श्रेणी में आ रहे है, वे तत्काल टीका लगवाएं और सुरक्षित रहें।

टीके को लेकर यह सिर्फ अफवाह है, सच्चाई नहीं जानें पूरा सच क्या है
1. तबीयत खराब हो जाएगी

हकीकत- जिस जगह पर इंजेक्शन लगेगी, वहां पर हल्का दर्द या किसी-किसी को बुखार हो सकता है लेकिन घबराने की बात नहीं है। यह एक दो दिन में अपने आप ठीक हो जाता है।

2. गंभीर स्थिति हो जाएगी
हकीकत- टीका लगने के बाद कई लोगों को बुखार आया, दर्द भी हुआ लेकिन एक दिन आराम के बाद सब ठीक भी हो गए। अब तक जितने को टीके लगे है, उनमें अधिकांश सुरक्षित है।

3. कई लोगों की मौत हो चुकी
हकीकत- ऐसा सोशल मीडिया में चल रहा, जो अफवाह है, अब तक विभाग ने टीका लगने के बाद कोई मौत की पुष्टि नहीं की है।

टीका लगवाने वाले 1.68 लाख लोग सुरक्षित
सीएमएचओ डॉ. जेपी मेश्राम, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. शिरीष सोनी ने बताया कि जिले के एक लाख 68 हजार से ज्यादा लोगों को पहली डोज लग चुकी है। सभी सुरक्षित है। इसमें कुछ ऐसे भी है, जिनको कोरोना तो हुआ लेकिन अस्पताल जाना नहीं पड़ा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें