पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विश्व छात्र दिवस आज:79,260 छात्रों को घर-घर जाकर दी पुस्तक व ड्रेस

बालोद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोनाकाल में राहत देने पहल, पढ़ाई शुरू, नियमित क्लास के लिए स्कूल खुलने का इंतजार

गुरुवार को विश्व छात्र (स्टूडेंट) दिवस है। बच्चों के लिए महत्वपूर्ण यह दिवस इस बार कोरोनाकाल के चलते कई मायनों में यादगार बन गया। दरअसल पहली बार जिले के प्राइमरी व मिडिल स्कूल के 79 हजार 260 छात्रों को पुस्तक और ड्रेस स्कूल के बजाय घर में मिला। संकुल व स्कूलवार शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई थी। जिन्होंने कोरोना कहर के बीच सोशल डिस्टेंस का पालन कर बच्चों के घरों तक ड्रेस और पुस्तकें पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। शासन, प्रशासन, शिक्षा विभाग ने शिक्षकों को निर्देश दिए थे कि घर-घर जाकर बच्चों को ड्रेस और पुस्तक उपलब्ध कराना है। यह काम पूरा हो चुका है। संकुल समन्वयकों का कहना है कि इस साल कोरोनाकाल के कारण देरी हुई लेकिन वर्तमान में अधिकांश बच्चों को निःशुल्क 2-2 सेट ड्रेस और पढ़ाई शुरू हो इसके लिए पुस्तकें उपलब्ध करा दी गई है। नियमित क्लास के लिए स्कूल खुलने का इंतजार हो रहा है। गौरतलब है कि बढ़ते संक्रमण के चलते स्कूल बंद रखने का निर्णय लिया गया है। डीईओ आरएल ठाकुर ने बताया कि जिले के 1200 से ज्यादा सरकारी प्राइमरी व मिडिल स्कूलों के कक्षा पहली से आठवीं तक के 79 हजार से ज्यादा बच्चों को फ्री में यूनिफार्म वितरण कार्य पूरा कर लिया गया है। प्रत्येक को 2-2 सेट ड्रेस उपलब्ध कराया गया है। प्रत्येक स्कूल में दर्ज संख्या अनुसार जानकारी एकत्रित कर शिक्षा विभाग से हाथकरघा, शासन व संबंधितों को भेजी थी।

14 अगस्त तक वितरण पूरा करने दिए थे निर्देश
शासन स्तर में विभागीय कार्रवाई व हाथकरघा रायपुर से ही ड्रेस संकुलों में देर से पहुंची इसलिए वितरण कार्य में देरी हुई। ऐसा शिक्षक कह रहे हैं। जबकि 14 अगस्त तक बांटने के निर्देश शासन ने दिए थे लेकिन इस दौरान एक भी बच्चा को यूनिफार्म नहीं मिल पाया था। सितंबर में वितरण कार्य शुरू किया गया। वर्तमान में प्रवेश प्रक्रिया जारी है। इस दौरान स्कूल में पहुंचने वाले बच्चों को भी स्टॉक में रखे ड्रेस को वितरित किया जा रहा है। स्कूलों में यूनिफार्म व पुस्तकें वितरण करने के निर्देश डीईओ ने संकुल समन्वयकों व शिक्षकों को दिए है। इसे लेकर अपडेट जानकारी मंगाई गई है।

खबरें और भी हैं...