अच्छी खबर / 2 महीने बाद अब स्पेशल ट्रेनों के लिए बालोद से करा सकेंगे रिजर्वेशन

काउंटर पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए इन घेरों को बनाया गया। काउंटर पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए इन घेरों को बनाया गया।
X
काउंटर पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए इन घेरों को बनाया गया।काउंटर पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए इन घेरों को बनाया गया।

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

बालोद. शुक्रवार को रेलवे स्टेशन बालोद में रिजर्वेशन काउंटर खुला। कोरोना के कारण लॉकडाउन के चलते पिछले दो माह से यह बंद था। भले ही ट्रेनें बालोद से होकर नहीं गुजरेगी लेकिन यहां के यात्री भी टिकट बुकिंग कराकर सफर कर सकते हैं। चीफ स्टेशन मास्टर पीके वर्मा ने बताया कि काउंटर खुल गया है, लोग यहीं से टिकट बुकिंग करा सकते हैं। रेलवे विभाग की ओर से स्पेशल ट्रेनें चलाने का निर्णय लिया गया है। जिसमें सफर करने के लिए रिजर्वेशन बालोद में ही हो जाएगा। इसके लिए कहीं और जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। रिफंड के लिए 6 माह का समय दिया गया है इसलिए यात्री धैर्य रखें, किसी प्रकार की हड़बड़ी न करें। अभी सिर्फ रिजर्वेशन कराने वाले ही पहुंचे ताकि भीड़ न हो। 
एक जून से दुर्ग और भिलाई पॉवर हाउस रेलवे स्टेशन से गुजरने वाली मुंबई-हावड़ा-मुंबई मेल, हावड़ा-अहमदाबाद-हावड़ा और गोंदिया-रायगढ़-गोंदिया जनशताब्दी एक्सप्रेस पटरी पर लौटने वाली हैं। दोनों तरफ इन ट्रेनों को शुरू किया जा रहा है। ऑनलाइन बुकिंग भी चल रही है। रेलवे के अनुसार मुंबई से हावड़ा जाने वाली मेल पहले ही दिन 14 जून तक की बुकिंग हो चुकी है। लौटने वाली ट्रेन में भी कुछ सीटें ही बची हैं। रायगढ़ से रायपुर और दुर्ग आने वालों की संख्या अधिक है।
तय स्टेशनों में ही रुकेगी ट्रेनें: सीनियर डीसीएम
सीनियर डीसीएम तन्मय मुखोपाध्याय के अनुसार तीनों ट्रेनें अपनी पुरानी समय सारणी के अनुसार चलेंगी। पुराने सभी स्टेशनों में रुकती हुई चलेगी। यहां यात्री ट्रेन से उतर और चढ़ सकेंगे। तीनों ट्रेनों की सिर्फ आईआरसीटीसी की वैध वेबसाइट में ऑनलाइन बुकिंग ही होगी। ऑफलाइन बुकिंग की शुरुआत नहीं की गई है। काउंटर में सिर्फ केशलैस बुकिंग ही होगी।
ये भी जानिए, सफर में नहीं मिल सकेगा भोजन
इन ट्रेनों में पैंट्री कार नहीं होगी। इसलिए यात्रियों को सफर के दौरान ट्रेनों में भोजन नहीं मिल सकेगा। उन्हें अपने स्तर पर ही भोजन की व्यवस्था करनी होगी। पहले की तरह एसी प्रथम, द्वितीय और तृतीय श्रेणी के यात्रियों को चादर, तकिया, ब्लंकेट और नैपकिन भी नहीं दिया जाएगा। सफर के दौरान यात्रियों को खुद ही नैपकिन और अन्य सामान लेकर चलना होगा। ट्रेन में सुविधाएं नहीं मिलेंगी।
जनरल टिकट में मिलेगी कन्फर्म सीट, होगी बुकिंग
इन ट्रेनों में यदि जनरल कोच में भी यात्रा करना चाहते हैं तो उसकी भी बुकिंग होगी। यदि बैठने के लिए सीट कन्फर्म होगी, तभी ट्रेन में बैठने की अनुमति दी जाएगी। आरएसी टिकट वाले पैसेंजर को बैठने की अनुमति दी जा सकती है। अन रिजर्व टिकट किसी भी हालत में जारी नहीं किया जाएगा। टिकट से संबंधित सारी जानकारियां कॉमर्शियल विभाग के रनिंग स्टाफ यानी टीटीई को भी होगी।
यात्रा से 30 दिन से आगे की बुकिंग नहीं की जाएगी
पहले यात्रा के 120 दिन पहले टिकटों का रिजर्वेशन होता था। 1 जून से शुरू हो रही ट्रेनों में बुकिंग के नियमों में परिवर्तन किया गया है। इसके अनुसार अभी यात्रा से सिर्फ 30 दिन यानी एक महीने पहले तक की ही बुकिंग की जाएगी। इस दौरान तत्काल या प्रीमियम टिकट का वितरण नहीं होगा। पहले की तरह ही टिकट होंगे। पहले आओ और पहले पाओ की तर्ज में बुकिंग होगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना