युकां नेता की मौत का मामला:मौत के 52 घंटे बाद युकां नेता की कोरोना रिपोर्ट आई निगेटिव, मरच्यूरी का ताला तोड़कर लिया शव

बालाेदएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुबह 11 बजे रिपोर्ट, पीएम नहीं, पंचनामा के बाद दोपहर 1.15 बजे परिजनों को शव सौंपा

मौत के 52 घंटे बाद शहर के एनएसयूआई व युकां के पूर्व अध्यक्ष युनूस खान की कोरोना जांच के लिए भेजी सैंपल रिपोर्ट मंगलवार को निगेटिव आई। इसकी पुष्टि सीएमएचओ डॉ. बीएल रात्रे ने की। इसके बाद पुलिस थाने में पहुंचकर परिजनों ने जरुरी कार्रवाई कर शव लेने शवागार (मरच्यूरी) पहुंचे लेकिन यहां ताला लटका हुआ मिला और अंदर फ्रीजर में शव रखा हुआ था। चाबी की जानकारी ली गई तो स्वीपर पप्पू ने कहा कि चाबी नहीं मिल रही है। देरी न करते हुए पुलिस ने उसी से ताला तुड़वाया। तब तक परिजन इंतजार करते रहे। ताला खुलने के बाद शवागार में एसडीएम सिल्ली थॉमस, नायब तहसीलदार मनोज भारद्वाज, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग की टीम की मौजूदगी में पंचनामा व शव का परीक्षण किया गया। यह सब प्रक्रिया होने के बाद दोपहर 1.15 बजे शव परिजनों को सौंपा गया। इसके बाद नपा की गाड़ी से शव ले जाया गया। विभाग की ओर से बाद में नया ताला लगाया गया। बहरहाल कोरोना कहर के बीच सैंपल रिपोर्ट निगेटिव आने से जवाहर पारा सहित शहरवासियों ने राहत की सांस ली है, क्योंकि रविवार से मौत के बाद रिपोर्ट आने का इंतजार हो रहा था। 

पहली चाबी नहीं मिली तो दूसरी से ताला खुलवाया
एसडीएम सिल्ली थॉमस ने बताया कि ताला का चाबी नहीं मिल रही थी। नहीं मिली तो दूसरी चाबी से खुलवाया गया। परिवार वालों ने लिखकर दे दिया था कि मौत का कोई संदिग्ध कारण नहीं है इसलिए पीएम की जरूरत नहीं पड़ी। जरुरी कार्रवाई कर शव परिजनों को सौंप दिए।

सूचना मिली थी कि ताला तोड़ने की नौबत आ रही
टीआई जीएस ठाकुर ने बताया कि ताला तोड़ा गया है या नहीं, कंफर्म नहीं हूं। क्यांेकि उस समय मैं वहां नहीं था। वैसे ताला तोड़ने की नौबत आ रही है, ऐसी जानकारी मिली थी। लेकिन ताला टूटा या नहीं टूटा यह अभी स्पष्ट नहीं है। इसकी शिकायत मेरे पास नहीं पहुंची है।  

इस वजह से ताला तोड़ने की नौबत आई
सीएमएचओ डॉ. बीएल रात्रे ने कहा कि रिपोर्ट निगेटिव आई है। शवागार में पुलिस, अन्य अफसरों की उपस्थिति में ताला तुड़वाया गया है। शव पुलिस की कस्टडी में थी, जो हमारी संस्था के अंतर्गत थी। पता यह चल रहा है कि चाबी लेकर गए थे, उनके आने तक ताला तोड़ दिया गया।

लिखित में दिया कि पीएम की जरूरत नहीं
नायब तहसीलदार मनोज भारद्वाज ने बताया कि जब गया तो शवागार के आसपास पहले से लोग मौजूद थे। ताला टूटने की जानकारी नहीं है। पंचनामा सहित अन्य जरुरी कार्रवाई की गई है। परिजनों ने लिख कर दिया है कि पोस्टमार्टम की जरूरत नहीं है। 

दो घंटे तक इंतजार किया
सैंपल रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद शव को परिजनों को सौंपने तक की कार्रवाई में 2 घंटे से ज्यादा समय लग गया। पिछले दो दिन से सैंपल रिपोर्ट आने का इंतजार फिर शव मिलने का। गौरतलब है कि रविवार सुबह 7 बजे सीने में दर्द होने के बाद युकां नेता की मौत हुई थी। परिजनों ने हार्टअटैक से मौत की जानकारी दी थी लेकिन इनका भतीजा कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने की वजह से होम क्वारिन्टाइन है। सुरक्षा के लिहाज से शव का कोरोना जांच के लिए सैंपल जगदलपुर भेजा था। 

खबरें और भी हैं...