पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत:तांदुला के पानी से मई में पहली बार छलका एनीकट

बालोद13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हीरापुर, सुंदरा नवागांव, पैरी, बघमरा गुंडरदेही एनीकट ओवरफ्लो होने से 20 गांवों में दूर हुई पानी की समस्या

मुख्य गेट की मरम्मत के लिए तांदुला डेम से पानी छोड़ने के कारण हीरापुर, सुंदरा नवागांव, पैरी, बघमरा गुंडरदेही एनीकट ओवरफ्लो हो रहा है। गर्मी के सीजन मई में पहली बार ऐसी स्थिति बनी है। जिसकी पुष्टि सिंचाई विभाग ने की है। अमूमन ऐसी स्थिति मानसून सीजन में रहती है, जब लगातार बारिश होती है। लेकिन इस बार मानसून की दस्तक के पहले ही ऐसी स्थिति बन गई।

इससे क्षेत्र के 20 -22 गांवों के लाेगों को भीषण गर्मी में भरपूर पानी मिल सकेगा। क्षेत्र में जल स्तर बढ़ेगा। सिंचाई विभाग के एसडीओ सीएम मोरवी ने बताया कि डेम का पानी व्यर्थ न बहे इसलिए नदी में ही छोड़ा गया। जो एनीकट में पहुंच गया है। इसका पाॅजिटिव असर भी दिखेगा। एनीकट में पानी होने से वाटर लेवल डाउन नहीं होगा। सुंदरा, नवागांव, हीरापुर, पैरी, बघमरा, गुंडरदेही क्षेत्र के लगभग 20-22 गांव के लोगों को पेयजल संकट का सामना नहीं करना पड़ेगा। इसके अलावा निस्तारी की समस्या नहीं आएगी।

नौतपा के 6वें दिन 43 डिग्री पर पहुंचा तापमान
नौतपा के 6वें दिन रविवार को अधिकतम तापमान 43 डिग्री व न्यूनतम तापमान 28 डिग्री रहा। दिनभर सूर्य की तपिश, गर्म हवा चलने से लोगों को गर्मी व उमस का सामना करना पड़ा। शाम 5 बजे के आसपास बालोद में 2 मिनट के लिए बौछारें पड़ी, लेकिन गर्मी से राहत नहीं मिल पाई। इसके पहले धूप-छांव का सिलसिला चलता रहा। गर्मी से ज्यादा उमस से लोग परेशान हुए। मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा ने बताया कि सोमवार को एक-दो स्थान पर हल्की बारिशे या बूंदाबांदी होने की संभावना है।

खबरें और भी हैं...