जिले में अब दो एक्टिव केस:रात दो बजे घूम रहे युवक को सर्दी-खांसी पुलिस ने कराई जांच तो निकला पॉजिटिव

बालोद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना संक्रमण का खतरा बरकरार क्योंकि 246 लोगों की रिपोर्ट पेंडिंग

जिले के डौंडी ब्लॉक के वार्ड 17 कोंडेकसा पावरहाउस दल्लीराजहरा निवासी 33 वर्षीय युवक की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वह मंगलवार-बुधवार की मध्य रात 2 से 3 बजे के बीच घूम रहा था। जिसे पकड़कर पूछताछ करने के लिए पुलिस ने दल्लीराजहरा थाने लाया था।

इसी दौरान सर्दी, खांसी होने पर स्वास्थ्य परीक्षण के लिए निजी अस्पताल भेजा गया। जहां बुधवार को सबसे पहले एंटीजन किट से कोरोना जांच की गई। जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिसके बाद अस्पताल प्रबंधन की ओर से पुलिस फिर स्वास्थ्य विभाग को जानकारी दी गई। युवक की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने की पुष्टि गुरुवार को जिला व ब्लॉक स्वास्थ्य विभाग ने की है। अब विभाग यह ट्रेस कर रहा है कि युवक के संपर्क में कितने लोग आए हैं। बुधवार को 727 लोगों ने कोरोना जांच कराई। जिसमें 246 की रिपोर्ट पेंडिंग है।

दुर्ग से संक्रमित होने का अनुमान, बालोद में भर्ती
डौंडी बीएमओ डॉ. विजय ठाकुर ने बताया कि संक्रमित युवक जिला कोविड अस्पताल बालोद में भर्ती है। जानकारी के अनुसार युवक दुर्ग में काम करता है। वहां से घर आना-जाना रहता है। आशंका है कि संक्रमण का कनेक्शन दुर्ग से हो सकता है। संपर्क में कितने लोग आए हैं, इसको लेकर अभी ट्रेसिंग चल रही है।

इधर संक्रमित के परिवार के 11 सदस्यों की हुई जांच
दो दिन पहले ग्राम परसराई में 54 वर्षीय ग्रामीण की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। कोरोना जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उनके परिवार के 11 सदस्यों का सैंपल लिया है। जिसका रिपोर्ट आना बाकी है। रिपोर्ट आने तक सभी को सावधानी बरतने व घर में रहने की सलाह दी गई है। ताकि संक्रमण न फैलें।

सावधानी जरूरी क्योंकि 5 दिन में ही बदल गई स्थिति
एक युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद 7 से 12 अक्टूबर लगातार 5 दिन तक संक्रमणमुक्त रहे बालोद जिले में अब दो एक्टिव केस हो गए है। दो दिन में दो पॉजिटिव केस मिलने के बाद जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। गुंडरदेही ब्लॉक के ग्राम परसतराई में जिस 54 वर्षीय ग्रामीण की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, वह मुंबई से दो सप्ताह पहले लौटा था।

कार्रवाई के पहले ही युवक को हो गया कोरोना
दल्लीराजहरा के टीआई टीएस पट्‌टावी ने बताया कि रात में 2-3 बजे के बीच युवक घूम रहा था तो जिसको थाने लाए थे। पूछताछ व पूरी कार्रवाई करने के पहले मुलाहिजा करवाने अस्पताल भेजे थे, जहां कोरोना जांच हुआ और रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। इसलिए आगे कुछ नहीं कर पाए। वैसे उन पर आपराधिक प्रकरण नहीं था। फिर भी रात में किसलिए घूम रहा था। सुरक्षा के लिहाज से लाए थे।

टीका लगवाने वाले भी हो सकते हैं संक्रमित: डॉ. जाना
शहीद अस्पताल दल्लीराजहरा के अधीक्षक डॉ. शैबाल जाना ने बताया कि युवक के सैंपल की जांच एंटीजन किट में हुई। जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिले में ऐसे कई केस सामने आ चुके है, जब कोविड टीका लगवाने के बाद भी लोग कोरोना की चपेट में आए है। जिसमें तत्कालीन अपर कलेक्टर, जिला पंचायत सीईओ से लेकर अन्य प्रशासनिक अफसर भी शामिल है। ऐसे में सावधानी जरूरी है। टीका लगने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

खबरें और भी हैं...