युवक की आत्महत्या पर राजनीति:पीएम आवास की किस्त न मिलने का हवाला देकर राज्य सरकार को कोसा

बालोदएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाजपाइयों ने गुुरुर में किया प्रदर्शन

ग्राम पंचायत कोचवाही के आश्रित गांव अमलीपारा निवासी शीतकुमार नेताम(26) की आत्महत्या मामले में राजनीति का दौर जारी है। बुधवार को इस मामले को केंद्र शासन की महत्वाकांक्षी पीएम आवास योजना से जोड़कर भाजपाइयों ने गुरूर मुख्यालय में धरना प्रदर्शन कर राज्य सरकार को कोसा। जिसमें पूर्व मंत्री केदार कश्यप सहित जिले के पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल हुए। भाजपाइयों ने कहा कि आवास योजना की दूसरी किस्त न मिलने, आर्थिक तंगी के चलते युवक ने आत्महत्या की है। पीड़ित परिवार को एक करोड़ रुपए मुआवजा देने, उसके भाई को नौकरी देने की मांग की। मंत्री कश्यप ने कहा कि जिस परिस्थिति से उसकी माता जूझ रही है, ऐसी स्थिति से किसी और को जूझना न पड़ें इसलिए उसकी मां भी न्याय के लिए धरने में बैठी है।

जबरदस्ती मां को भाजपा वाले ले गए: मृतक का भाई
मृतक के भाई केशव कुमार ने कहा कि मैं जब घर में नहीं था, सामान लेने के लिए चारामा गया हुआ था, तब बिना बताए जबरदस्ती मम्मी को भाजपा वाले ले गए राजनीति करवाने। विधायक ने घर को पूरा करवाने आश्वासन दिया है, इससे संतुष्ट है। इस संबंध में थाने में भी शिकायत करने की बात कही। वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष कृष्णकांत पवार ने कहा कि आरोप बेबुनियाद है। उनकी मां को जबरदस्ती या बहलाकर नहीं लाए है। न्याय के लिए ही धरना प्रदर्शन किए। जिसमें कोचवाही के कई लोग शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...