भिलाई में जांच, नर्स संक्रमित:दिसंबर में पहला मरीज; 2 ब्लॉक में 2 केस एक्टिव, 3 ब्लॉक कोरोनामुक्त, ओमिक्रॉन वैरिएंट अभी जिले से दूर

बालोद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गुंडरदेही ब्लॉक के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अर्जुन्दा में पदस्थ ग्राम कोड़ेवा निवासी 31 वर्षीय स्टाफ नर्स की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जो गर्भवती है और प्रसव के सिलसिले में चेकअप कराने सेक्टर 9 अस्पताल भिलाई गई थी। जहां कोरोना टेस्ट हुआ और रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

गुंडरदेही बीएमओ डॉ. रेणुका प्रसन्नो ने बताया कि स्टाफ नर्स के बीएसपी अस्पताल में कोरोना पॉजिटिव आने की जानकारी मिली है। उनके गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम सैंपलिंग व अन्य गतिविधियों को लेकर गई थी। लगभग दो माह से वह छुट्टी में है। भिलाई में ट्रीटमेंट कराने जाती थी। ऐसे में मान रहे हैं कि इसी दौरान कोरोना की चपेट में आई होगी, क्योंकि वहीं जांच हुई है और वहीं पॉजिटिव आई है। वह होम आइसोलेट है। दिसंबर में जिले में पहला मरीज मिलने के बाद जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है।

विदेश से आने वालों पर नजर रखें, उप सचिव ने कलेक्टर को भेजा पत्र कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के उप सचिव सुरेन्द्र सिंह बाघे ने कलेक्टर को पत्र जारी कर विशेष सावधानी बरतने कहा है। जिसके अनुसार जिला स्तर पर भी गाइडलाइन जारी की गई है। जारी पत्र में उल्लेख किया गया है कि दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 वायरस के नए वैरिएंट की पहचान की गई है। जिसे विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी प्रमाणित किया है। राज्य सर्वेलेंस इकाई से समन्वय स्थापित कर प्रतिदिन विदेशों से यात्रा कर आने वाले यात्रियों की सूची प्राप्त करें। ऐसे व्यक्ति जिन्होंने आने के बाद अपनी 7 दिन की क्वारेंटाइन अवधि पूरी नहीं की है, उन्हें 7 दिन तक होम क्वारेंटाइन नियम का पालन कराएं। जिसके बाद 8वें दिन सैंपल लेकर आरटी-पीसीआर जांच कराना निश्चित करें। जारी पत्र में कहा है कि रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर डब्ल्यूजीएस जांच के लिए सैंपल भेजें। जिससे वेरिफिकेशन किया जा सकें।

गुरूर व गुंडरदेही ब्लॉक में 2 केस एक्टिव
स्वास्थ्य विभाग की सैंपलिंग टीम ने कोरोना जांच के लिए जिले के सभी ब्लॉक व फीवर क्लीनिक जिला अस्पताल में शुक्रवार को कुल 1267 सैंपल कलेक्ट किए। जिसमें 255 लोगों की रिपोर्ट पेंडिंग है। वहीं इस माह पहली बार 825 लोगों की सैंपल की जांच एंटीजन किट और 187 सैंपल की जांच ट्रू-नॉट मशीन से हुई। दोनों माध्यम से 1012 सैंपल की जांच के बाद सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शनिवार शाम तक की स्थिति में जिले के 12 कोविड सेंटर में सभी 1126 बेड खाली थे। वर्तमान में गुरूर निवासी 18 वर्षीय छात्र और गुंडरदेही ब्लॉक के 31 वर्षीय स्टाफ नर्स कोरोना संक्रमित होने के बाद होम आइसोलेट हैं। 3 दिसंबर तक की स्थिति में ओवरऑल 4 लाख 99 हजार 521 सैंपल की जांच हो चुकी है। कुल 27254 संक्रमितों में से 26800 डिस्चार्ज हो चुके हैं। दिसंबर के तीन दिन में रोजाना एक हजार से ज्यादा लोगों के सैंपल कलेक्ट कर जांच कराए गए है। सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है।

बालोद तीसरे नंबर पर, जहां कम एक्टिव केस
प्रदेश के कम एक्टिव केस वाले टॉप-5 जिलों में हमारा जिला तीसरे नंबर पर है लेकिन सुखद स्थिति आगे भी बरकरार रखने के लिए सावधानी जरूरी है। कोरोना से बचाव के लिए रोजाना हर ब्लॉक में वैक्सीनेशन का दौर जारी है। शुक्रवार को 18+ व 45+ दोनों वर्ग में बालोद ब्लॉक में 488, डौंडी में 628, डौंडी लोहारा में 401, गुंडरदेही में 353, गुरूर ब्लॉक में 480, जिले में कुल 2350 लोगों को टीका लगा। अभियान चलाकर टीके लगाए जा रहे हैं। विभाग की टीम घर-घर दस्तक दे रही है।

ज्यादा सैंपल की जांच करने के दिए निर्देश
उप सचिव बाघे ने कलेक्टर सहित जिले के स्वास्थ्य विभाग अफसरों को ज्यादा सैंपल कलेक्ट कर जांच करने के निर्देश दिए है ताकि संक्रमितों की पहचान जल्द हो सकें। स्थानीय स्तर पर विदेश से लौट रहे लोगों की सैंपलिंग टेस्टिंग के लिए कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए गए हैं। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग के अनुसार विदेश से जिले में दो लोग लौटे हैं। लेकिन कहां के रहने वाले हैं और कब लौटे थे, यह जानकारी गोपनीय रखी गई है।

खबरें और भी हैं...