पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अॉक्सीजन इमरजेंसी पर अस्पतालों में सुविधाओं की पड़ताल:कोरोना से जुड़ी अच्छी खबर जो आपको राहत देगी; 11 दिन में 178 बढ़े, अब जिले में 278 ऑक्सीजन बेड, संक्रमण दर 19% घटी

बालोद9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मरीजों की सांसें लगातार चलती रहें  इसलिए एक दिन के अंतराल में जम्बो सिलेंडर की रिफिलिंग करा रहे। - Dainik Bhaskar
मरीजों की सांसें लगातार चलती रहें इसलिए एक दिन के अंतराल में जम्बो सिलेंडर की रिफिलिंग करा रहे।
  • 15 दिन पहले ऑक्सीजन बेड की कमी थी, तब कोविड अस्पताल व देवरीबंगला में 100 ऑक्सीजन बेड थे

जिले में कोरोना संक्रमण से गंभीर हुए हालात धीरे-धीरे सुधरते दिख रहे है। 21 अप्रैल को संक्रमण दर की स्थिति 40 प्रतिशत रही। जो 2 मई को घटकर 21 प्रतिशत में पहुंच गई। इस लिहाज से 11 दिन में संक्रमण दर 19 प्रतिशत घट गई। वहीं तीन सप्ताह बाद रविवार को कुल संक्रमितों का आंकड़ा 300 से कम रहा। एक भी ब्लॉक में 100 से ज्यादा संक्रमित नहीं मिले।

बालोद ब्लॉक में 66, डौंडी में 33, डौंडी लोहारा में 75, गुरूर में 60 और गुंडरदेही ब्लॉक में 62 कुल 296 मरीज मिलने की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। लेकिन सावधानी अभी भी जरूरी है, तभी कोरोना हारेगा। वहीं 15 दिन पहले ऑक्सीजन बेड के लिए मारामारी की स्थिति बन रही थी, तब कोविड अस्पताल बालोद व देवरी बंगला में सिर्फ 100 ऑक्सीजन बेड थे, अब आसानी से संक्रमितों को ऑक्सीजन बेड मिल रहा है। इसका अंदाजा इसी से लगा सकते है कि सोमवार दोपहर की स्थिति में कोविड अस्पताल बालोद में 20 ऑक्सीजन बेड खाली थे। 15 दिन में ही 178 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था की गई है।

हालात अभी और सुधरने के आसार क्योंकि इन केंद्रों में ऑक्सीजन बेड का विस्तार, जानिए अब क्या स्थिति

चिंता अब भी: रोज लगभग पांच संक्रमित दम तोड़ रहे
एक ओर कोविड अस्पताल व सेंटरों में सुविधाएं बढ़ रही है लेकिन मौतों के आंकड़ों में कमी नहीं आ रही है। रोजाना जिले के 5 संक्रमित दम तोड़ रहे है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार मई के दो दिन में ही 11 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। अब तक कोरोना से 276 संक्रमितों की मौत होने की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है।

जिले में 441 नए संक्रमित मिले, 442 डिस्चार्ज भी हुए
सोमवार को जिले में कोरोना के 441 नए मरीज मिले। 442 डिस्चार्ज हुए। 11 संक्रमितों की मौत हुई। जांच के लिए 1581 लोगों का सैंपल लिया गया। अब तक 21 हजार 109 संक्रमित मिल चुके है। जिसमें 17 हजार 96 डिस्चार्ज हो चुके है। एक्टिव केस 3 हजार 721 है। 2581 होम आइसोलेट हैं। अब तक 292 मौतें हुई है।

बालोद कोविड अस्पताल
प्लांट शुरू होने के बाद यहां अब सभी 100 बेड में भर्ती मरीजों को ऑक्सीजन सप्लाई हो सकती है। पहले रिकॉर्ड अनुसार 80 बेड में भर्ती मरीजों को ऑक्सीजन सप्लाई हो रही थी।

पाकुरभाट कोविड सेंटर
यहां इमरजेंसी के लिए 10 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था की है। बालोद सहित अन्य ब्लॉक के मरीजों को यहां शिफ्ट किया जाता है।

दल्लीराजहरा कोविड सेंटर
यहां के पावरहाउस स्थित सेंटर में जम्बो सिलेंडर की उपलब्धता के आधार पर 77 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था की गई है।

शहीद अस्पताल दल्लीराजहरा
यहां 25 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था है। जिसे बढ़ाकर 34 करने की तैयारी चल रही है

खलारी गुंडरदेही कोविड सेंटर
यहां 44 जम्बो व छोटे सिलेंडर की उपलब्धता अनुसार वर्तमान में 10 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था कर ली गई है। अधिकतम 15 मरीजों को ऑक्सीजन सप्लाई की जा सकती है।

धनोरा गुरूर कोविड सेंटर
यहां इमरजेंसी के लिए 4 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था की गई है। जरूरत के आधार पर 10 बेड में भर्ती मरीजों को कभी भी ऑक्सीजन सपोर्ट मिल सकेगा।

देवरी बंगला कोविड अस्पताल
यहां 40 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था है। जम्बो सिलेंडर की उपलब्धता के आधार पर पहले 15 बेड में भर्ती मरीजों को ऑक्सीजन सप्लाई की जा रही थी। जो अब दोगुनी हो गई है।

महावीर कोविड सेंटर बालोद
समाजसेवियों के सहयोग से खुले यहां 4 बेड में भर्ती मरीजों के लिए ऑक्सीजन सपोर्ट देने की व्यवस्था की गई है। जरूरत अनुसार संख्या बढ़ा रहे है।

बटेरा कोविड सेंटर
डौंडी लोहारा ब्लॉक के लिए महत्वपूर्ण इस सेंटर में अभी फिलहाल 2 ऑक्सीजन बेड की सुविधा मिल रही है।

संक्रमण दर पहले से अब कम: डॉ. मेश्राम
सीएमएचओ डॉ. जेपी मेश्राम ने बताया कि संक्रमण दर अब पहले से कम है, जैसे 18 अप्रैल को संक्रमण दर 21 प्रतिशत रही। इसके बाद 19 को बढ़कर 30 प्रतिशत तक पहुंच गई। इसी तरह एक मई तक अधिकांश दिन ऐसी स्थिति बनी कि संक्रमण दर औसतन 25 प्रतिशत के आसपास रही। 2 मई को 1400 लोगों का कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया गया। 296 मरीज मिले। संक्रमण दर कम रही, जो एक मई की तुलना में कम है। यह स्थिति तब बनी जब निर्धारित लक्ष्य(1255) से ज्यादा लोगों ने कोरोना जांच कराया। इस लिहाज से स्थिति सुधर रही है, ऐसा मान सकते है लेकिन लापरवाही होने पर स्थिति विपरीत भी हो सकती है इसलिए कोरोना जांच तत्काल कराएं और मास्क पहनें, सोशल डिस्टेंस बनाए रखें। स्थिति सुधरने में बहुत समय लगता है जबकि बिगड़ने में ज्यादा समय नहीं लगता इसलिए सभी जागरूकता का परिचय दें।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें