पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुखद स्थिति:मई में 10 दिन 100 से कम कोरोना मरीज मिले, 21 दिन में संक्रमण दर 23.5% घटी

बालोद24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुर ब्लॉक के स्वास्थ्य केंद्र का दौरा करने के लिए पहुंचे सीएमएचओ डॉ. जेपी मेश्राम ने कर्मचारियों से जानकारी ली। - Dainik Bhaskar
गुरुर ब्लॉक के स्वास्थ्य केंद्र का दौरा करने के लिए पहुंचे सीएमएचओ डॉ. जेपी मेश्राम ने कर्मचारियों से जानकारी ली।
  • कलेक्टर ने सैंपलिंग व टेस्टिंग बढ़ाने के निर्देश दिए, ताकि संक्रमितों की पहचान जल्द हो सके
  • अब तक जिले के 25 हजार 68 लोग कोरोना को हराने में सफल

कोरोना की रफ्तार अब पहले की तुलना में धीमी पड़ती जा रही है। इसका अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि मई के बीते 29 दिनों में 10 दिन 100 से कम मरीज मिले। शनिवार को पहली बार सबसे कम 56 मरीज मिलने की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। वहीं लगातार 7 दिन से 100 से कम मरीज मिले। जिसे शुभ संकेत माना जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 8 मई को संक्रमण दर 28.5 प्रतिशत थी। जो 29 मई को 5 प्रतिशत पर पहुंच गईा। इस तरह 21 दिन में संक्रमण दर में 23.5% की गिरावट आई। आने वाले दिनों में भी पॉजिटिव केस कम होने के साथ संक्रमण दर घटने का अनुमान स्वास्थ्य विभाग लगा रही है।

हालांकि पहले की तुलना में अब सैंपलिंग टेस्टिंग घट गई है। यह भी कम पॉजिटिव केस मिलने का कारण बन रही है। कलेक्टर जनमेजय महोबे ने स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को रोजाना शासन से निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप सैंपल कलेक्ट कर जांच के निर्देश दिए है। शनिवार को ओवरऑल जिले में आरटीपीसीआर लैब में जांच के लिए निर्धारित लक्ष्य 310 से कम 263 सैंपल कलेक्ट हो पाया। जो लक्ष्य से 15 प्रतिशत कम है। एंटीजन से लक्ष्य 785 से कम 669 सैंपल की जांच हुई। जो लक्ष्य से 15 प्रतिशत कम है। ऐसी स्थिति इस माह पहली बार बनी। ट्रू-नॉट मशीन से लक्ष्य 300 से कम 227 सैंपल की जांच हुई। जो लक्ष्य से 24 प्रतिशत कम है। ओवरऑल 1159 लोगों का सैंपल कलेक्ट करने में विभागीय टीम सफल रही। वर्तमान में एआरटी किट से कोरोना सैंपल की जांच ज्यादा हो रही है। तीन माध्यम से जांच के लिए ब्लॉकवार अलग-अलग लक्ष्य तय किया है।

कोरोना की चपेट में आने वाले 25 हजार 68 लोग ठीक: कोरोना की चपेट में आने वाले जिले के सभी ब्लॉक के 25 हजार 68 लोग ठीक हो चुके हैं। जिसकी पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। वर्तमान में एक्टिव केस एक हजार से कम 960 में पहुंच गया है। 29 मई की स्थिति में 2 लाख 93 हजार 692 सैंपल की जांच हो चुकी है। जिसमें 26 हजार 452 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। शनिवार को 476 संक्रमित होम आइसोलेट थे। वहीं 293 संक्रमित जिले के कोविड अस्पताल व केंद्रों में भर्ती थे।

फीवर क्लीनिक सहित 2 ब्लॉक में लक्ष्य अधूरा
जिला अस्पताल के फीवर क्लीनिक सहित डौंडी व गुंडरदेही ब्लॉक में सैंपल कलेक्शन लक्ष्य की पूर्ति नहीं हो पाई। बाकी ब्लॉक में लक्ष्य की पूर्ति हुई लेकिन ओवरआल जिले में यह स्थिति नहीं बन पाई। फीवर क्लीनिक में अब कोरोना जांच कराने सैंपल देने कम लोग ही पहुंच रहे है। यही स्थिति डौंडी ब्लॉक में भी बनी हुई है। यहां दल्लीराजहरा अब तक संवेदनशील बना हुआ है। बालोद शहर में भी रोजाना कोरोना के मरीज मिल रहे है। इसलिए अभी मास्क व सोशल डिस्टेंस जरूरी है। कलेक्टर जनमेजय महोबे व सीएमएचओ डॉ. जेपी मेश्राम ने सभी बीएमओ को अधिक लोगों का सैंपल लेने निर्देश दिए है। ताकि संक्रमितों की पहचान जल्द हो सकें। इसके अलावा संक्रमित के संपर्क में आने वालों को रोजाना ट्रेस करने कहा गया है। ताकि संक्रमण न बढ़ें। सीएमएचओ ब्लॉक के स्वास्थ्य केंद्रों में पहुंचकर बीएमओ से जरूरी जानकारी ले रहे हैं। इसके अलावा कोरोना संबंधित गतिविधियों पर चर्चा कर रहे हैं।

संक्रमितों की तुलना में स्वस्थ होने वाले अधिक
सीएमएचओ डॉ. जेपी मेश्राम ने बताया कि अब रोजाना मिल रहे संक्रमितों की तुलना में रिकवर होने वाले ज्यादा है। जो अच्छी स्थिति है। रिकवरी दर 5% पर पहुंचना भी शुभ संकेत है। आगे पाॅजिटिव केस कम व संक्रमण दर घटने का अनुमान है। लोगों से अपील कर रहे है कि कोविड गाइडलाइन का पालन करें। मास्क लगाएं, सोशल डिस्टेंस का पालन कर भीड़ का हिस्सा न बनें।

खबरें और भी हैं...