• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bhilai
  • Balod
  • In Tikrapara Of Balod, Women Worshiped At The Door Of Every House, Devotees Danced On Raut Dance In Amapara, Played The Tradition Of Awakening The Mother

गौरा-गौरी की विसर्जन यात्रा...:बालोद के टिकरापारा में हर घर के द्वार पर महिलाओं ने की पूजा, आमापारा में राउत नृत्य पर झूमे भक्त, मातर जगाने निभाई परंपरा

बालोदएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यह नजारा जिला मुख्यालय का है, जहां गौरा-गौरी की विसर्जन यात्रा के दौरान टिकरापारा के हर द्वार में महिलाओं ने पूजा कर सुख शांति की कामना की। वहीं आमापारा वार्ड में राउत नृत्य कर भक्त झूमते नजर आए। शुक्रवार को यादव समाज ने गोवर्धन पूजा पर मातर जगाने की परंपरा निभाई। घर-घर में गाय के गोबर से गोवर्धन पर्वत बनाकर पूजा-अर्चना की गई। आमापारा के गौठान चौक में साहड़ा देव, गौमाता की पूजा-अर्चना की।

खबरें और भी हैं...