नहीं लगेगा एक्सट्रा चार्ज / नहीं लगानी पड़ेगी लाइन, 457 च्वाइस सेंटर से ऑनलाइन जमा कर सकेंगे बिजली बिल

Line will not have to be installed, electricity bill will be able to be submitted online from 457 Choice Center
X
Line will not have to be installed, electricity bill will be able to be submitted online from 457 Choice Center

  • बिजली कंपनी ने नई व्यवस्था से जिले के सभी च्वाइस सेंटरों को जोड़ा

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

बालोद. बिजली बिल भुगतान करने के लिए अब ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को ब्लॉक मुख्यालय आने की जरूरत नहीं है। वे अपने ग्राम पंचायत क्षेत्र में ही रहकर काम करा सकते हैं। जिले के सभी 5 ब्लॉक के ग्राम पंचायत क्षेत्रों में संचालित 457 च्वाइस सेंटर से ऑनलाइन बिजली बिल जमा कर सकते हैं। इसके लिए एक रुपए भी अतिरिक्त चार्ज नहीं देना पड़ेगा। 
दरअसल कोरोना के चलते बिजली कंपनी ने ग्रामीण उपभोक्ताओं की सुविधा में इजाफा किया है। अब उन्हें बिजली बिल जमा करने के लिए ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध कराई है। अंचल के दूरस्थ क्षेत्र में रहने वाले लोग गांव के ही च्वाइस सर्विस सेंटर में जाकर बिल जमा करा सकेंगे। इसके लिए बिजली कंपनी ने जिले के अंचल में संचालित हो रहे केंद्रों में ही सुविधा उपलब्ध कराने का फैसला किया है। फिलहाल जिसके बारे में अधिकतर लोगों को जानकारी नहीं है। जिनको जानकारी है वे अब तक यह समझ रहे हैं कि अतिरिक्त चार्ज देना पड़ेगा इसलिए बिल भुगतान करने बालोद सहित अन्य ब्लॉक मुख्यालयों के बिजली कंपनी कार्यालयों में पहुंचकर लाइन लगा रहे हैं।

हाथ से लिखी पावती पर शिकायत करें, जांच के बाद होगी कार्रवाई
पाॅवर कंपनी के मुख्य अभियंता (राजस्व) मधुकर जामुलकर ने बताया कि ग्रामीण अंचल में ऑनलाइन भुगतान को बढ़ाने के लिए सभी अधिकारियों को आदेश जारी किया गया है। इन सेंटरों के माध्यम से भुगतान करने वाले को एजेंट सिस्टम से जनरेट रिसिप्ट देता है। यदि कोई एजेंट हाथ से लिखी रिसिप्ट देता है तो उसे लेने से इंकार कर दें। साथ ही उसकी शिकायत बिजली कंपनी के कॉल सेंटर पर करें। शिकायत करने के बाद तुरंत आपको जवाब मिलेगा। जांच के बाद कार्रवाई भी होगी।

बालोद जिले के ग्रामीण लाइन लॉस एप का कर सकेंगे इस्तेमाल 
मोर बिजली एप पर बिजली बिल की जानकारी, बिल पेमेंट, बिजली सप्लाई की शिकायत, बिजली खपत पैटर्न, बिल भुगतान वितरण, बिजली बिल हाफ योजना में मिलने वाली छूट, मीटर रीडिंग भेजना और टैरिफ की भी जानकारी ली जा सकती है। ग्रामीण लाइन लॉस एप के माध्यम से अपनी शिकायत भी दर्ज करवा सकते हैं। कंपनी ने इस प्लान को लेकर अपनी तैयारी पूरी कर ली है। ग्रामीण क्षेत्रों की सहूलियत को ध्यान में रखकर कॉमन सर्विस सेंटर से ऑऩलाइन भुगतान की सुविधा है। 

बिजली कार्यालय जाने की जरूरत नहीं, पोर्टल के जरिए करेंगे भुगतान 
सीएससी जिला प्रमुख शिशिर देशमुख ने बताया कि बिजली बिल भुगतान करने के लिए संबंधित कार्यालय में ही जाने की जरूरत नहीं है। ग्रामीण क्षेत्र में संचालित सेंटर में जाने पर वहां एजेंट के माध्यम से आप बिल भुगतान कर सकते हैं। इसके लिए आपको एक रुपए भी अतिरिक्त चार्ज नहीं देना पड़ेगा। एजेंट पोर्टल के माध्यम से बिल भुगतान करेंगे। किसी कारणवश बिल अपडेट नहीं हो पाता है तो भी किसी प्रकार की समस्या नहीं आएगी। एजेंट से ज्यादा जानकारी ले सकते हैं।

ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ताओं को होगा फायदा
सीएसईबी के एई एल. ध्रुव ने बताया कि जिले के कोई भी एक्टिव सेंटर में पहुंचकर उपभोक्ता बिजली बिल भुगतान कर सकते हैं। 24 घंटे शिकायत दर्ज करने के लिए केंद्रीकृत कॉल सेंटर और भुगतान के लिए ऑनलाइन पेमेंट व एटीपी मशीन सहित बड़ी संख्या में च्वाइस सेंटर को जोड़ा गया है। इन केंद्रों का सबसे ज्यादा फायदा अंचल क्षेत्र में रहने वाले ग्रामीणों को होगा। वैसे तो बिजली कंपनी ने इस व्यवस्था को पूरे प्रदेश में लागू किया है। सभी 27 जिले के दूरस्थ व अंचल क्षेत्रों में करीब 15 हजार 786 च्वाइस सर्विस सेंटर संचालित किए जा रहे हैं। संभाग के दुर्ग जिले में 1232, बालोद जिले में 623 और बेमेतरा जिले में 576 विलेज लेवर कॉमन सर्विस सेंटर चल रहे हैं। जिसमें बालोद के 457 च्वाइस सेंटर भी शामिल है। ग्रामीणों को कार्यालय में लंबी लाइन नहीं लगानी होगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना