चिटौद सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास:महिला पंचों से दुर्व्यवहार सरपंच को पद से हटाया

गुरुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जनपद पंचायत गुरुर के अंतर्गत ग्राम पंचायत चिटौद में सरपंच पुरुषोत्तम सिन्हा के कार्य से नाराज पंचों ने अविश्वास प्रस्ताव लाया था। शनिवार को जनपद पंचायत गुरुर में सम्मिलन कराया गया। जिसमें अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 16 मत पड़े। सरपंच काे मात्र 5 वाेट ही मिले। इसमे यह खास बात रही है कि जितने भी वाेट सरपंच के खिलाफ पड़े वे सभी महिला पंचाें का था। क्याेंकि महिला पंचाें ने ही सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया था। सभी महिला पंच अपने निर्णय पर अड़िग रही।

ग्राम पंचायत चिटौद के सरपंच पुरुषोत्तम सिन्हा पर महिला पंचों के साथ अनुचित व्यवहार, पंचायत के कार्यों में मनमानी, लकड़ी नीलामी, सफाई सहित विभिन्न मामलों को लेकर अविश्वास प्रस्ताव लाया था। जनपद में सम्मिलन के दौरान सहायक रिटर्निंग ऑफिसर बीआर गंजीर सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे। रिटर्निंग ऑफिसर गुरुर तहसीलदार परमेश्वर मंडावी ने बताया कि जनपद के सभाकक्ष में सम्मिलन के दौरान सरपंच पुरुषोत्तम सिन्हा सहित कुल 20 पंच उपस्थित थे। चुनाव में 21 लोगों ने भाग लिया। जिसमें सरपंच को पांच मत मिले। इस तरह सरपंच पुरुषोत्तम सिन्हा के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित हो गया। इसके पहले ग्राम पंचायत बड़भूम व ग्राम पंचायत अरमरीकला के सरपंच के खिलाफ भी पंचों ने अविश्वास प्रस्ताव लाया था।

खबरें और भी हैं...