दूर हुई समस्या / नदी पर बना स्टॉपडैम तो दोगुनी फसल लेने लगे

Stop dams on the river started doubling crops
X
Stop dams on the river started doubling crops

  • पानी सहेजने पटेली में बने स्टापडैम से सिंचाई की मिल रही सुविधा, बाेर व कुएं का जलस्तर बढ़ा

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

डौंडी. ब्लाॅक की ग्राम पंचायत पटेली में तांदुला नदी में बनाए गए स्टापडैम में पानी ठहराव हाेने से पटेली, ठेमाखुर्द औऱ पचेड़ा गांव के कुएं और बोर का जलस्तर बढ़ गया है। इसका लाभ गर्मी में किसानों ने अपने खेतों में रबी फसल धान, मक्का व सब्जी में सिंचाई करके उठाया है।
ब्लॉक मुख्यालय डौंडी से 14 किलोमीटर दूर ग्राम पटेली की सरपंच राधाबाई रावटे, ग्राम पटेल पूर्व जनपद सदस्य रामसाय रावटे, मनीराम गयारे, ग्रामीण निर्भय राम रावटे, परमेश्वर रावटे, ललित कुमार उइके, सगराम पटेल, पंच राधाबाई तारम, दुर्गाबाई भूआर्य, प्रीति साहू, डोमेद्र रावटे ने बताया कि पहले गांव के कुएं व बोर गर्मी में सूख जाते थे। इससे रबी फसल की सिंचाई नहीं हो पाती थी। जिसे देखते हुए सरपंच ने महिला व बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया के पास किसान हित में गांव की तांदुला नदी में स्टापडैम बनाने की मांग रखी। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में करीब 40 कुएं है। जिसका भी जल स्तर बढ़ा है। पास के गांव ठेमाखुर्द में करीब 30 बोर और कुएं हैं। वहां के भी किसानों ने इस साल अपने बोर से पानी खींचकर डबल फसल ली। पचेड़ा गांव में करीब 40 बोर हैं। वहां भी अब पानी की समस्या दूर हो गई है।

दो करोड़ 36 लाख से बना 60 मीटर लंबा स्टापडैम
जल संसाधन विभाग ने 2 करोड़ 36 लाख रुपए की लागत से 60 मीटर लंबा, ढाई मीटर ऊंचा स्टापडैम का निर्माण कराया। यह काम फरवरी 2020 तक पूरा हो गया था। इसके बाद नदी में जलभराव बढ़ने लगा। क्षेत्र में धीरे-धीरे जल स्तर भी बढ़ता गया। इस साल गर्मी में स्टापडैम पानी से लबालब भरा रहा। ट्यूबवेल बोर का जलस्तर बढ़ गया। किसानों ने इस सीजन में सब्जी, धान खेती की। नदी किनारे खेत वाले कई किसानों ने भी मशीन से भी पानी खींचकर फसल की सिंचाई की।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना