खिलौने का प्रदर्शन:ककरेल स्कूल के शिक्षक ने खिलौने की मदद से विद्यार्थियों को कराया अक्षर ज्ञान

बालोद11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रारंभिक भाषाई गणितीय कौशल विकास के लिए 100 दिवसीय अभियान के तहत जिला स्‍तरीय पीएलसी टीम के सदस्‍य व प्रभारी प्रधानपाठक शासकीय प्राथमिक शाला ककरेल टुमनलाल सिन्हा ने वर्ण अक्षर पहचानों, खिलौना दौड़ नवाचार का प्रदर्शन किया। कौशल विकास अभियान के तहत खिलौना प्रदर्शनी शासकीय प्राथमिक शाला ककरेल में लगाई। जिसमें कक्षा पहली से पांचवीं तक के बच्चों ने स्वयं व अपने पालकों की सहायता से बनाए गए खिलौने का प्रदर्शन किया।

खिलौने की सहायता से अक्षर ज्ञान व खिलौने का नाम सही बताने के लिए खेल का रूप दिया गया। जिसमें बच्चों को गोल घेरे में घूमने को कहा गया, रुकने पर सामने में रखे खिलौने का नाम व प्रथम अक्षर बोलने को कहा गया। इसे प्रतियोगिता में जो नहीं बोल पाए, उसे उपचारात्मक शिक्षण के लिए हटाकर, सर्वश्रेष्ठ को विजेता रूप दिया गया।

वर्ण अक्षर पहचानों खिलौना दौड़ का नवाचार शाला में प्रस्तुत किया गया। स्तर एक के प्रथम सप्ताह में श्यामपट्ट पर लिखे खिलौनों के नाम की पहचान, 1 से 20 तक की गिनती, एक से 99 तक की गिनती पढ़ पाना व स्तर दो के प्रथम सप्ताह में गड़बो नवा भविष्य पुस्तक में विभिन्न व्यवसायों के नाम चित्र देखकर बता सकता है। गड़बो नवा भविष्य पुस्तक में से कम से कम 20 व्यवसायियों के नाम को याद कर बोल सकते हैं। कार्यक्रम में सहायक शिक्षक भीखमसिंह यादव, टुमनलाल सिन्हा, सीएसी पथराटोला जैलेन्द्र उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...