पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

2 गांव सील:निजी डॉक्टर से युवक ने इलाज करवाया पर कोरोना टेस्ट में कोताही, तबीयत बिगड़ी, मौत

बालाेदएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ओरमा के निजी डॉक्टर ने लगाया था इंजेक्शन, बघमरा का ड्राइवर होम आइसोलेट

जिला मुख्यालय से 3 किलोमीटर दूर ग्राम मेड़की के 26 वर्षीय युवक की दो दिन पहले कोरोना से मौत होने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने ट्रैवल हिस्ट्री तैयार की है। जिसके अनुसार सांस लेने में तकलीफ यानी तबीयत खराब होने के बाद युवक ओरमा के एक निजी डॉक्टर के पास इलाज करा रहा था। मौत के एक दिन पहले ही इंजेक्शन लगाकर दवा दी थी। एएनएम ने भी वास्तविकता जानने जब निजी डॉक्टर से संपर्क किया तो उन्होंने भी स्वीकार किया कि यह सही है मैंने इंजेक्शन लगाया है लेकिन उन्हें सलाह दी थी कि बालोद अस्पताल जाकर इलाज करा लो। कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आने व मौत के एक दिन पहले बालोद के एक निजी अस्पताल में युवक को लाया गया था। यहां भी निजी डॉक्टर ने उन्हें तत्काल कोरोना टेस्ट कराने की सलाह दी थी लेकिन वह घर चला गया। अगले दिन तबीयत ज्यादा खराब होने पर एंबुलेंस के माध्यम से बालोद जिला अस्पताल लाया गया। एआरटी किट से जब कोरोना जांच हुई तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई और विभाग ने रायपुर रेफर करने का निर्णय लिया। रायपुर जाने के पहले ही युवक ने दम तोड़ दिया। गांव में अंतिम संस्का किया गया।

पड़ोसी गांव बघमरा सील, ओरमा में एक संक्रमित मिला
मेड़की के पड़ोसी गांव बघमरा और ओरमा में भी कोरोना वायरस के संक्रमण का असर दिख रहा है। बघमरा के सरपंच गजेंद्र ठाकुर ने बताया कि गांव का एक ड्राइवर जो मेड़की के युवक को बालोद ले गया था, उनको घर में रहने की सलाह दी है। इसके अलावा मेड़की में मिले कोरोना मरीज, जो कृषि केंद्र संचालक है, उनके संपर्क में कितने लोग आए है। इसकी जानकारी ले रहे है। जागरूकता के अभाव में लोग जानकारी छिपा रहे है। जो अनुचित है। लापरवाही व देरी से दूसरों को खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। इसलिए लोगों को भी पहल कर जानकारी देना चाहिए। ओरमा के सरपंच तेजराम साहू ने बताया कि कोरोना केस मिलने के बाद गांव में सैनिटाइजर का छिड़काव किया जा रहा है।

गांव सील, बाहरी लोगों के आने-जाने पर मनाही
युवक के संपर्क में आने वाले परिवार के चार सदस्यों व पड़ोस के एक युवक, बघमरा के ड्राइवर व ओरमा के निजी डॉक्टर को होम आइसोलेट किया गया है। ग्राम पटेल होरीलाल साहू, विधायक प्रतिनिधि कमलेश श्रीवास्तव, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष चंद्रेश हिरवानी, विश्वकांत भारद्वाज ने बताया कि जरूरी काम के सिलसिले में आने जाने वालों को छूट दी गई है। लेकिन बेवजह घूमने वालों पर सख्ती के लिए मेड़की गांव को पूरी तरह से सील किया गया है। गांव के चार स्थानों में बेरिकेडिंग किया गया है। ताकि बाहर से कोई व्यक्ति अंदर घुस न पाए और न ही गांव के लोग घर से बाहर जा सकें।

शिविर लगाकर कोरोना जांच करेगा विभाग
एक मौत होने के बाद स्वास्थ्य विभाग की ओर से निर्णय लिया गया है कि मेड़की में 26 सितंबर को शिविर लगाकर कोरोना जांच किया जाएगा। प्राइमरी संपर्क में आने वालों का जांच सबसे पहले किया जाएगा। इनके अलावा निजी डॉक्टर से कहा गया है कि जितने भी आपके संपर्क में आए हैं सभी की जानकारी देना ताकि सैम्पल लेने की कार्रवाई कर सकें। मृतक युवक की पत्नी व मां की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं इसी गांव में अलग परिवार से चार लोगों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। हालांकि मृतक के संपर्क में नहीं आए थे। यहां एक की मौत व 6 लोगों को कोरोना होने के बाद आसपास गांवों में भी दहशत है।

घर-घर जाकर इलाज करने वालों को गंभीर होने की जरूरत
सीएमएचओ व सिविल सर्जन डॉ. एसएस देवदास ने इस संंबंध में कहा कि कोरोना केस लगातार बढ़ते जा रहे है। संक्रमितों के संपर्क में आने वाले अधिकांश लोग जानकारी छिपाते हैं। जिसके कारण स्थिति बिगड़ सकती है। घर-घर जाकर या अपने घर बुलाकर इलाज करने व दवा देने वाले निजी डॉक्टरों को भी गंभीर होने की जरूरत है। अगर मरीज जानकारी छिपा रहा है तो वे मितानिन, एएनएम, स्वास्थ्य विभाग को सूचित करें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें