पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मानसून:पिछले साल की तुलना में इस बार गुंडरदेही में 193 मिमी ज्यादा, डौंडीलोहारा में 153 मिमी कम बारिश

बालोद7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ओवरऑल जिले में इस साल 25 मिमी ज्यादा बारिश हो चुकी, क्षेत्र में दो दिन छाए रहेंगे बादल

पिछले साल की तुलना में इस बार गुंडरदेही में 193 मिमी ज्यादा व डौंडीलोहारा में 153 मिमी कम बारिश हुई है। ओवरऑल जिले में इस साल 25 मिमी ज्यादा बारिश हो चुकी है। मानसून की विदाई एक सप्ताह के अंदर होेने का अनुमान मौसम विभाग लगा रहा है। तब तक बौछारें पड़ सकती है। सितंबर में जिले में कहीं कम तो कहीं ज्यादा बारिश होने का असर ऐसा रहा कि बारिश का अंतर महज 25 फीसदी में सिमट गया है। हर माह कम व ज्यादा बारिश होने से स्थिति बदलती जा रही है। इस बार 18 अक्टूबर की स्थिति में दो ब्लॉक में पिछले साल की तुलना में ज्यादा तो तीन ब्लॉक में कम बारिश हुई है। जबकि अगस्त में सभी 5 ब्लॉक में पिछले साल की तुलना में ज्यादा बारिश हो चुकी थी। मौसम विभाग ने 23 अक्टूबर तक कभी भी बारिश होने का अनुमान लगाया है। कभी धूप तो कभी छांव के बीच बौछारें पड़ सकती है। ओवरऑल औसत बारिश पर गौर करें तो पिछले साल 18 अक्टूबर 1049.8 मिमी पानी बरसा था। जबकि इस साल 1074.8 मिमी बारिश हुई है यानी पिछले साल की तुलना में इस बार 25 मिमी औसत ज्यादा बारिश हुई है।

तीन ब्लॉक में कम और दो ब्लॉक में ज्यादा पानी बरसा इस साल पिछले साल की तुलना में भले ही तीन ब्लॉक मंे कम बारिश हुई है लेकिन इसकी भरपाई दो ब्लॉक में हुई ज्यादा बारिश से हो गई है। दरअसल जिन दो ब्लॉक मंे ज्यादा बारिश हुई है, अंतर 170 मिमी से ज्यादा का है। बहरहाल मौसम विभाग ने मानसून की विदाई अगले सप्ताह होने का अनुमान लगाया है। आने वाले 48 घंटे में जिले के कुछ क्षेत्रों में बारिश हो सकती है।

द्रोणिका सिस्टम सक्रिय नहीं इसलिए सिर्फ बौछारें पड़ रही
22 अगस्त तक भू-अभिलेख शाखा व मौसम विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट अनुसार सभी ब्लॉक में पिछले साल की तुलना में इस साल ज्यादा बारिश हो चुकी थी। वजह बंगाल की खाड़ी में सिस्टम बनने के साथ अगस्त के तीसरे और अंतिम सप्ताह में मानसून द्रोणिका का सक्रिय रहना रहा। लेकिन वर्तमान में स्थिति बदल गई है। इस बार चक्रवाती घेरा बनने से बौछारें पड़ रही है।

तापमान 2 डिग्री बढ़ा, गर्मी व उमस से नहीं मिल रही राहत
सोमवार को धूप-छांव के बीच अधिकतम तापमान 31 डिग्री रहा। जो पिछले 24 घंटे की तुलना में 2 डिग्री ज्यादा है। लिहाजा लोगों को गर्मी व उमस का सामना करना पड़ा। तीन दिन पहले अधिकतम तापमान में 2 डिग्री की गिरावट हुई थी। सुबह से शाम तक कुछ ही देर के लिए बादल छाए रहे। 8 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चली। बावजूद गर्मी व उमस से राहत नहीं मिल रही है।

गुरुर ब्लॉक में सबसे ज्यादा 1347 मिमी बारिश, पिछले साल से 173 मिमी अधिक
इस साल गुरुर ब्लॉक में सबसे ज्यादा 1347 मिमी बारिश हुई है। जो पिछले साल की तुलना में 173 मिमी ज्यादा है। जबकि पिछले माह यहां दोगुना बारिश हो चुकी थी। दरअसल पिछले साल सितंबर में 300 मिमी से ज्यादा बारिश हुई थी लेकिन इस बार ऐसी स्थिति नहीं बन पाई है। इसलिए अंतर कम होता जा रहा है। गुरुर ब्लॉक में सितंबर के पहले सप्ताह में एक हजार मिमी बारिश हुई थी। जबकि इस बार अगस्त में ही एक हजार मिमी से ज्यादा बारिश हुई है। लेकिन पिछले साल की तुलना में अंतर घटते क्रम पर है। वहीं इस साल डौंडीलोहारा ब्लॉक में सबसे कम बारिश हुई है।

बारिश के बाद नमी की मात्रा 90 फीसदी इसलिए सुबह 6.45 बजे तक छाया रहा कोहरा
रविवार को बालोद शहर सहित गांवों में सुबह 6.45 बजे तक कोहरा छाया रहा। धान की फसल, पेड़ों, पौधों में ओस की बूंदे रही। मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा ने बताया कि 24 घंटे पहले बारिश होने के बाद नमी की मात्रा 90 फीसदी से ज्यादा होने से यह स्थिति बनी। नमी कम होने से मौसम साफ हुआ। धूप खिली। दोपहर 3 बजे तक नमी की मात्रा घटकर 61 फीसदी रही। अधिकतम तापमान 31 डिग्री रहा। बंगाल की खाड़ी में सिस्टम बना है। 2 दिन आंशिक यानी 50 फीसदी तक बादल छाए रहने का अनुमान है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें