ये तो हद हो गई:सिस्टम में संक्रमण: सरकारी जमीन का स्टाम्प पेपर पर सौदा ग्रामीणों को 1-1 लाख रुपए में बेच दी 5-5 डिसमिल जमीन

कवर्धा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई हुई। - Dainik Bhaskar
सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई हुई।

कवर्धा तहसील क्षेत्र के ग्राम बरबसपुर में सरकारी जमीन को बेचने का मामला सामने आया है। अतिक्रमणकारी ने स्टाम्प पेपर पर सरकारी जमीन का सौदा कर दिया। ग्रामीणों को 1-1 लाख रुपए में 5-5 डिसमिल जमीन बेच दी। इसका खुलासा उस वक्त हुआ जब तहसीलदार अतिक्रमण हटाने के लिए गांव पहुंचे। मिली जानकारी के मुताबिक ग्राम पंचायत बरबसपुर में 7 एकड़ सरकारी जमीन है।

उक्त जमीन पर गांव निवासी भंवरलाल पिता अंजोरी समेत 8 अन्य लोगाें ने कब्जा कर लिया था। कुछ ने इसमें खेत बनाकर फसल ले रहे थे, तो कुछ ने बाड़ी बना ली थी। वहीं अतिक्रमणकारी भंवरलाल भवन निर्माण करा रहा था। पंचायत से नोटिस के बाद भी निर्माण कार्य नहीं रोका, तो कवर्धा तहसीलदार बुधवार को दल-बल के साथ गांव पहुंचे। जेसीबी से निर्माण कार्यों को तोड़ा और शासकीय जमीन को कब्जामुक्त कराया। कार्रवाई के दौरान कब्जाधारी भंवरलाल ने अधिकारी को बताया कि उसे हरेली-सहेली योजना के तहत घास भूमि का पट्‌टा मिला है।

इन्हें बेची गई है जमीन
अतिक्रमण पर कार्रवाई के दौरान ग्रामीण नेमीचंद, शिवकुमार व माखनलाल सामने आए। तहसीलदार को बताया कि भंवरलाल से उन्होंने 1-1 लाख रुपए में जमीन खरीदी है। बकायदा स्टाम्प पर जमीन का सौदा हुआ है। तहसीलदार मनीष वर्मा ने शिकायत आने पर जांच करने की बात कही।

गौठान बनाने हटाया कब्जा
छग शासन की योजना के तहत ग्राम पंचायत बरबसपुर में गौठान व चारागाह बनना है। इसके लिए गांव में सरकारी जमीन का चिन्हांकन किया गया। चिन्हांकित 7 एकड़ जमीन पर अवैध कब्जा था, जिसे हटाने की कार्रवाई की गई। अधिकारियों ने कहा है कि अवैध कब्जे के मामलों में सख्ती बरतेंगे। ​​​​​​

खबरें और भी हैं...