पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेमेतरा में कोविड टीकाकरण की रफ्तार धीमी:45+ वाले 10, 60+ केे 5 ही पहुंच रहे, ऐसे में 43 साल से अधिक लगेगा टीका लगाने में

बेमेतरा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्वास्थ्य विभाग 60+ और 45+ के लोगों को दूसरी डोज लगवाने के लिए जोर नहीं दे रहा, इधर कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका से लोगों की बढ़ी फिक्र

कोविड से बचने टीकाकरण की जिले में बुरी स्थिति बन चुकी है। शनिवार को जिले भर में 60 प्लस के सिर्फ 5 लोगों को टीका लगाया गया। वहीं 45 प्लस उम्र के 12 लोगों को टीका लगाया गया। टीके के ये कम आंकड़े चिंता बढ़ा रहे हैं। अगर जिले में टीकाकरण का आंकड़ा यही रहा, 60 प्लस वालों को टीका लगाने के लिए साढ़े 19 साल लग जाएंगे। वहीं 45 प्लस वालों को टीका लगाने में 43 साल लग जाएंगे।

जिले में कोरोना संक्रमण में कमी के साथ ही अब वैक्सीन लगवाने वालों की संख्या में भी कमी आ रही है। जबकि स्वास्थ्य विभाग के लिए लोगों के मन में वैक्सीन को लेकर फैले भ्रम को दूर कर दूसरी डोज लगवाने का अहम समय है। फिर भी स्वास्थ्य विभाग 60 प्लस और 45 प्लस के लोगों को दूसरा डोज लगवाने के लिए जोर नहीं दे रहा है। इधर जिले में कोरोना संक्रमण थम कर 7 महीने पीछे के दौर में चला गया है। शनिवार को जिले में सिर्फ 5 संक्रमित मरीज सामने आए। अब कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना भी है। सोमवार को जिले में फिर से 18 से 44 वर्ष के युवाओं को टीका लगाया जाना शुरू किया जाएगा। जिले में अब तक 15613 युवाओं को टीके का पहला डोज लगाया जा चुका है।

45+ वाले सिर्फ 50042 ने लगवाई पहली डोज
जिले में 45 प्लस एक लाख 63 हजार 678 लोगों को कोरोना का पहली और दूसरी डोज दी जानी है। इस उम्र के 50 हजार 42 लोगों ने पहली डोज तो लगवा ली है, लेकिन दूसरी डोज लगवाने सामने नहीं आ रहे हैं। दूसरे अब तक सिर्फ 4297 लोगों ने ही दूसरी डोज ली है। इसी तरह 60 प्लस लोगों को दूसरी डोज लगवाने के लिए प्रेरित नहीं किया जा रहा है। जबकि 60 प्लस 41 हजार 491 बुजुर्गों को दूसरी डोज लगाने का लक्ष्य तय है। इनमें से सिर्फ 5356 बुजुर्गों ने ही दूसरी डोज लगवाई है।

यूं समझिए, टीका लगाने में कैसे लगेंगे 43 साल
स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक जिले में 45 प्लस के एक लाख 59 हजार 318 को डोज लगाया जाना बाकी है। विभाग एक दिन में सिर्फ 5 से 10 लोगों को ही टीका लगा रहा है। इस तरह 10 लोगों के हिसाब से ही देखा जाए, तो महीने में 300 लोगों को ही टीका लग पाएगा। सालभर में 3600 लोगों को टीका लगेगा। एक लाख 59 हजार 318 लोगों को टीका लगाने में विभाग को 43 साल लग जाएगा। यानी विभाग को अंतिम व्यक्ति को टीका लगाने में 4 दशक से भी अधिक का समय लगेगा।

सीधी बात; डॉ. सतीश शर्मा, सीएमएचओ, बेमेतरा

टीका लगवाने खुद ही आगे आना पड़ेगा
1.59 लाख लोगों को टीके का दूसरा डोज लगाया जाना बाकी है, ऐसे में तो लंबा समय लगेगा?

-कोविशील्ड 84 दिन में और कोवैक्सीन को 28 दिन में दूसरी डोज लगवाना है। जैसे-जैसे दिन आते जाएगा लोग टीका सेंटर पहुंचने लगेंगे।
इन लोगों का तो 3 माह पहले टीकाकरण शुरू हुआ था?
-लोगों को टीका लगवाने के लिए खुद ही आगे आना पड़ेगा।
टीके पर फैले भ्रम को कैसे दूर करेंगे?
-टीका लगने के बाद थोड़ी बहुत तकलीफ होती है। कलेक्टर के माध्यम से हमने सभी विभागों के अधिकारियों को लोगों को टीका लगवाने के लिए प्रेरित करने कहा है।

खबरें और भी हैं...