पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नेशनल लोक अदालत:आपसी बंटवारे व सूखा राहत से जुड़े कुल 4245 मामलों का निकला हल

बेमेतरा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नेशनल लोक अदालत में लंबित आपराधिक, परिवारिक व अन्य मामले सुलझे

नालसा व सालसा के निर्देश पर बेमेतरा में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया। विशेष अदालत में अलग-अलग हजारों की संख्या में मामले निराकृत किए गए। खातेदारों के मध्य आपसी बंटवारे के मामले, वारिसों के मध्य बंटवारे के मामले, सूखा अधिकार से संबंधित ही 4245 मामले निराकृत किए गए। वहीं पति-पत्नी के बीच 10 मामलों में विवाद खत्म किए गए।

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण (नालसा, नई दिल्ली) के निर्देश के अनुसार साल 2021 की नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण (सालसा, बिलासपुर) के निर्देशों के अनुरूप में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण (डालसा, बेमेतरा) के पदेन अध्यक्ष जिला न्यायाधीश जयदीप विजय निमोणकर के निर्देशन में यह आयोजन हुआ। इस संबंध में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव/व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-2 जसविंदर कौर अजमानी मलिक ने बताया कि लोक अदालत में इस बार बेमेतरा व साजा में परिवार न्यायालय सहित कुल 8 खण्डपीठों का गठन किया गया था।

बिजली बिल बकाया के 5.60 लाख की वसूली
लोक अदालत में बिजली विभाग बेमेतरा व साजा द्वारा 23 मामलों में बकाया बिल राशि 560566 रुपए प्री-लिटिगेशन के रूप में वसूल किए गए। बैंकों द्वारा कुल 6 मामलों में बकाया राशि 65850 रुपए प्री-लिटिगेशन के रूप में वसूल किए गए। कार्यालय कलेक्टर ने इस बार लोक अदालत में राजस्व मामले भी निराकृत किए। कुल 4245 मामले निराकृत किए गए। कामिनी वर्मा न्यायिक मजिस्ट्रेट बेमेतरा के न्यायालय ने 103 मामले समझौता के आधार पर निराकृत किए।

तनुश्री के कोर्ट में 174 मामलों में समझौता
जिला न्यायाधीश की खंडपीठ ने 4 क्लेम मामलों में 27.35 लाख रुपए के अवार्ड पारित किए। ओपी गुप्ता परिवार न्यायालय के खंडपीठ ने भी लोक अदालत में 10 मामले निराकृत किए। पंकज सिन्हा अपर सत्र न्या. के न्यायालय ने 14 क्लेम मामलों में कुल 44.30 लाख रु. के अवार्ड पारित किए गए। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट बेमेतरा के कोर्ट ने 60 मामले समझौता के आधार पर निराकृत किए। तनुश्री गवेल न्यायिक मजिस्ट्रेट बेमेतरा के न्यायालय ने 174 मामले निराकृत किए।

गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने सेवा भावना से की भोजन की व्यवस्था
इस नेशनल लोक अदालत की प्रथम खण्डपीठों में अधिवक्ता सदस्य के रूप में ऋषि तिवारी, दुर्गा साहू, माधवी राजपूत, दीपक तिवारी, राजेश कुमार, सनत देवांगन, पी. राजेश्वरी, राहुल साहू, कोमल मानदेव, पीलेश्वर पांडेय, हिमांशु साहू, मणिशंकर दिवाकर, अमन दुबे, देवेन्द्र साहू अधिवक्तागण उपस्थित थे। इन्होंने पक्षकारों को सुलह-समझौते के लिए समझाइश देकर राजी कराने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। न्यायालय परिसर में उपस्थित सभी न्यायालयीन अधिकारीगण, कर्मचारीगण, प्री-लिटिगेशन के समस्त संस्था बिजली विभाग, बैंकिंग विभाग, दूरसंचार विभाग, अधिवक्तागण व उपस्थित पक्षकार गण के लिए गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष हरजिंदर सिंह खनूजा, वरिंदर सिंह सलूजा व साथियों ने भोजन की व्यवस्था की।

खबरें और भी हैं...