पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नया शिक्षा सत्र:जिले के 1298 स्कूलों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू, विद्यार्थी तो नहीं पहुंचेंगे लेकिन सभी शिक्षकों को आना होगा

बेमेतराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रायमरी स्कूल से जिन छात्रों को मिडिल में जाना है, उनकी टीसी स्कूल ने सीधे मिडिल स्कूलों को भेजी

जिले में 16 जून से छात्रों की अगली कक्षा में पढ़ाई के लिए भर्ती की प्रकिया शुरू हो गई है। स्कूलों में फिलहाल सिर्फ शिक्षकों की 100 प्रतिशत उपस्थिति रहेगी। इस बार शिक्षा विभाग कोरोना गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए छात्रों की भर्ती ले रहा है। इसके लिए प्राथमिक स्कूल के शिक्षक अगली कक्षा में जाने वाले छात्रों की टीसी को सीधे मिडिल स्कूल को दे दिया है। इसी आधार पर छात्रों को भर्ती दी जा रही है। 10वीं व 11वीं के छात्र विषय का चयन कर स्कूल में भर्ती होने के लिए पहुंच रहे हैं।

जिले में इस साल 747 प्रायमरी और 391 मिडिल स्कूल के छात्रों को बिना स्कूल पहुंचे ही अगले कक्षा में भर्ती दी जा रही है, लेकिन जिन छात्रों को अन्य स्कूलों में भर्ती लेना है, वे छात्र स्कूल पहुंचकर अपना टीसी लेकर दूसरे स्कूल पहुंच रहे हैं। कलेक्टर बी विलास संदीपान ने शिक्षा विभाग को इस सत्र के 30 जून तक 100 प्रतिशत छात्रों की भर्ती स्कूल में किए जाने के निर्देश दिए हैं। शिक्षक गांव के आगनबाड़ी में पहुंचकर 6 साल से अधिक उम्र के बच्चों के रिकार्ड लेकर उसे स्कूल में भर्ती किए जाने की प्रक्रिया कर रहे हैं।

कक्षा 6वीं से 8वीं तक के विद्यार्थियों के लिए फिर मोहल्ला क्लास की योजना बनाई
शिक्षा विभाग कक्षा 6वीं से 8वीं तक के छात्रों की फिर से पढ़ाई शुरू करने के लिए मोहल्ला क्लास लगाने पर विचार कर रहा है। फिलहाल स्कूलों में शिक्षकों की ड्यूटी डाटा एंट्री, टीसी वितरण और छात्रों की अंकसूची बनाए जाने के लिए लगाई जा रही है। जिले के प्रायमरी के कक्षा दूसरी, मिडिल, हाई व हायर सेकंडरी के छात्रों का मन पढ़ाई में लगा रहे इसके लिए विभाग ने एमआई राइट प्रयोजन दिया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट वर्क में छात्रों को पेड़, जानवर, फूल सहित विभिन्न प्रकार के चित्र बनाकर अपने स्कूल में जमा किया जाना है। शिक्षा अधिकारी मधुलिका तिवारी का कहना है कि स्कूलों में शिक्षकों की अन्य जरूरी कार्यों के लिए 100 प्रतिशत उपस्थिति जरूरी है। फिलहाल छात्रों को स्कूल नहीं आना है। मोहल्ला क्लास में पढ़ाई की योजना बनाई जा रही है।

पढ़ाई तुहार दुवार के माध्यम से छात्रों को बांटेंगे किताब
बेमेतरा ब्लॉक के शिक्षा अधिकारी डीएल डहरिया का कहना है कि जब तक स्कूलों में पढ़ाई शुरू नहीं होती, तब तक गांव में सुविधा अनुसार कक्षा पहली से आठवीं तक के बच्चों को मोहल्ला क्लास के माध्यम से कहानी व खेल के जरिए पढ़ाया जाएगा। शिक्षा का जो स्तर बना हुआ है उस स्तर के ऊपर ही छात्रों की शिक्षा को लेकर जाना है। अभी हमने 73 प्रतिशत तक छात्रों को स्कूल में भर्ती कर लिया है। पढ़ाई तुहार दुवार के माध्यम से छात्रों को उनके घर में ही पहुंचकर गणवेश, मध्याह्न भोजन और किताब भी दे रहे हैं।

21 जून को 12वीं, 1 जुलाई को 10वीं ओपन की परीक्षा
जिले में इस साल 12वीं के छात्रों की 21 जून को और 10वीं के छात्रों की 1 जुलाई को ओपन परीक्षा संचालित होगी। इस दौरान छात्रों को संबंधित स्कूल से प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिका लेना है। इसके बाद अपने घर में 5 दिन में उत्तर लिखकर स्कूल में जमा करना है। कन्या स्कूल बेमेतरा के ओपन परीक्षा प्रभारी पीआर साहू ने बताया कि इस साल कन्या स्कूल में 242 बालिका ओपन परीक्षा दिलाएंगे। इसमें 12वीं में 164 और 10वीं में 78 बालिका हैं। बालिकाओं को परीक्षा संबंधी जानकारी दिया गया है।

बेमेतरा जिले में इस साल खुले चार अंग्रेजी माध्यम स्कूल
जिले में 747 प्रायमरी स्कूल, 391 मिडिल, 72 हाई स्कूल और 94 हायर सेकंडरी स्कूल संचालित है। इस तरह बेमेतरा ब्लॉक में 337, बेरला में 280, नवागढ़ में 328 और साजा में 353 स्कूल हैं। इस साल आत्मानंद उत्कृष्ट योजना के तहत जिले में 4 अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोले गए हैं। बेमेतरा शहर में शिवलाल राठी स्कूल और देवकर, नवागढ़, बेरला में शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल खुल रहा है, जिसमें कक्षा पहली से लेकर 12वीं तक के कक्षाओं में पढ़ाई होगी। हर एक कक्षा में 40 छात्रों की भर्ती की जानी है।

खबरें और भी हैं...