राजीव गांधी न्याय योजना:उद्यानिकी फसल भी शामिल, 10 हजार प्रति एकड़ की दर से प्रोत्साहन राशि

बेमेतरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजीव न्याय योजना में उद्यानिकी फसलों को भी शामिल किया है। - Dainik Bhaskar
राजीव न्याय योजना में उद्यानिकी फसलों को भी शामिल किया है।

उद्यानिकी फसलों को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार ने अब राजीव गांधी न्याय योजना में उद्यानिकी फसलों को शामिल कर लिया है। उद्यानिकी खेती करने वाले किसानों को प्रति एकड़ 9 हजार रुपए का अनुदान मिलेगा। धान के बदले पौध रोपण करने वाले किसानों को 10 हजार प्रति एकड़ की दर से प्रोत्साहन राशि शासन से तीन साल तक मिलेगी।

धान की खेती अभी तक किसान अधिक कर रहे थे। धान की खेती में किसानों को पानी की अधिक जरूरत होती है, वहीं श्रम अधिक है। सोसाइटियों पर खाद बीज के लिए लाइन लगानी पड़ती है। दिसम्बर और जनवरी माह में धान उपार्जन के लिए किसानों को टोकन से लेकर तौल कराने में फजीहत झेलनी पड़ती है। प्रदेश सरकार की ओर से समर्थन मूल्य पर ही किसानों को पैसा मिलता है।

ऐसे में किसानों की आय में वृद्धि अधिक नहीं हो पाती है। इस परम्परागत खेती से किसानों को मुक्ति दिलाने के लिए अब उद्यानिकी फसलों पर जोर दिया जा रहा है। उद्यानिकी खेती करने में किसानों को अधिक मुनाफा होगा। कम पानी में फसल तैयार हो जाती है। बाजार भाव की दर से किसान अपनी फसल बेच लेते हैं। इस खेती को बढ़ावा देने के लिये उद्यान विभाग के माध्यम से किसानों को सब्जी एवं पौधे बांटे जाते हैं। किसानों को सब्जी स्टोर कर रखने के लिये पैक हाउस एवं अन्य अनुदान पर बनाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...