लापरवाही सामने आने लगी:नए आंगनबाड़ी भवन में फर्श ही धंसने लगा, परिसर में खरपतवार भी उग आए

बेमेतरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भवन का निर्माण पूरा होने के बाद आसपास खरपतवार उगे। - Dainik Bhaskar
भवन का निर्माण पूरा होने के बाद आसपास खरपतवार उगे।

शहर के कोबिया स्थित आंगनबाड़ी 1 को संचालित होते 12 साल हो चुके हैं। इसके बाद भी आंगनबाड़ी के कार्यकर्ताओं व बच्चों को खुद का भवन नहीं मिल पाया है। इधर कोबिया में ही आंगनबाड़ी भवन बने 2 साल से अधिक हो चुका है। अफसर आंगनबाड़ी को खुद के भवन में शिफ्ट नही करा पाए हैं।

नवनिर्मित आंगनबाड़ी भवन में अभी से लापरवाही सामने आने लगी है। आंगनबाड़ी भवन में उपयोग किए बगैर ही फर्श धंसने लगे हैं। इसके साथ ही नए आंगनबाड़ी भवन के सामने खरपतवार उग आए हैं। कोबिया में साल 2009 से आंगनबाड़ी भवन दिया गया था। खुद का भवन नहीं होने के कारण शुरुआत में 9 साल तक कोबिया स्थित दंतेश्वरी मन्दिर के बाजू में शेड वाले भवन में संचालित करना पड़ा।

भवन में परेशानी बढ़ी, तो अफसरों द्वारा आंगनबाड़ी के बच्चों को नए आंगनबाड़ी में शिफ्ट करने के बजाय उसके बगल में स्थित सामाजिक भवन में शिफ्ट कर दिया गया। जबकि उक्त भवन में छात्रों के शौचालय सहित खेलने कूदने के लिए पर्याप्त जगह नहीं हैं। कोबिया के वार्ड 9 और 10 के 3 से 6 वर्ष के 63 बच्चे आंगनबाड़ी में हैं। नपा के सीएमओ होरी सिंह ठाकुर का कहना है कि आगनबाड़ी के फर्श अंदर धंसने लगे थे। इस कारण नए आंगनबाड़ी भवन में बच्चों को नहीं बैठाए हैं। ठेकेदार को फर्श ठीक करने बोला हूं। सप्ताहभर में बच्चों को नए आंगनबाड़ी भवन में शिफ्ट कर देंगे।

खबरें और भी हैं...