पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

खेती-किसानी:बेमेतरा जिले में अब तक 1.39 लाख हेक्टेयर में धान की बुआई हो गई पूरी

बेमेतराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में पिछले 10 दिन से मानसूनी बारिश होने के कारण खेतों में पर्याप्त नमी आ गई है, जिससे जिले के किसान धान व अन्य खरीफ फसलों की तैयारी में जुट गए हैं। अनुकूल मौसम स्थिति को देखते हुए कृषि विभाग भी मैदानी अमले के माध्यम से कृषकों को उन्नत खेती की तकनीकी जानकारी दे रहा है। किसानों को दलहनी व तिलहनी फसलों की खेती को प्रोत्साहित करने के साथ उन्हें खेत के मेड़ पर अरहर व तिल लगाने जोर दिया जा रहा है, ताकि किसानों की आय बढ़े।  जिले के उपसंचालक कृषि एमडी मानकर ने बताया कि जिले में अब तक कुल 1.39 लाख हेक्टेयर में धान, 12 हजार हेक्टेयर में सोयाबीन, 494 हेक्टेयर में अरहर, 85 हेक्टेयर में मक्का, 43 हेक्टेयर में उड़द, 19 हेक्टेयर में मूंग, 61 हेक्टेयर में मूंगफली, 239 हेक्टेयर में कपास व 2313 हेक्टेयर में में गन्ना एवं 3 हजार 827 हेक्टेयर में अन्य फसलों की बोआई पूर्ण हो चुकी है। ऐसे में कुल लक्ष्य से 72 प्रतिशत बोनी हो चुकी है।  साढ़े 42 हजार क्विंटल खाद उठा चुके किसान : खरीफ 2020 में फसलों के अधिक उत्पादन के लिए किसानों की मांग अनुसार विभिन्न खाद के रूप में कुल 52934 मी.टन उर्वरकों का सहकारी समितियों व निजी संस्थानों में भण्डारण हो चुका है, जिसमें से वर्तमान में 17739 मी.टन यूरिया, 16016 टन डीएपी, 3814 टन एमओपी, 4384 टन एसएसपी व 583 टन एनपीके सहित कुल 42576 मी. टन खाद का वितरण हो चुका है। दलहनी व तिलहनी फसलों को बढ़ावा देने के लिए किसानों के खेतों में प्रदर्शन आयोजित किया जा रहा है। जिसके लिए अब तक जिले में 610.20 क्विंटल धान, 190.20 क्विंटल अरहर, 30 क्विंटल उड़द व हरी खाद के रूप में 350 क्विं बीजों का वितरण किया गया है। 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें