लेटलतीफी / बारिश के कारण नेशनल हाईवे को फोरलेन बनाने का काम शुरू नहीं, जानलेवा गड्‌ढे बने

The work of making the National Highway fourlane has not started due to rain, lethal pits become
X
The work of making the National Highway fourlane has not started due to rain, lethal pits become

  • 30 करोड़ की लागत से 18 महीने में बननी थी सड़क, अब तक शुरुआती प्रक्रिया में ही उलझा काम

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

बेमेतरा. शहर के भीतर से गुजरने वाली एनएच सड़क को 30 करोड़ रुपए की लागत से फोरलेन का स्वरूप दिया जाना है, लेकिन लोक निर्माण विभाग के माध्यम से बनने वाली इस सड़क का निर्माण कार्य फिलहाल बारिश के कारण शुरू 
नहीं हो पा रहा है। सड़क पर गड्ढे दुर्घटनाओं का कारण बन रहे हैं। बारिश से गड्ढों में पानी भरने के कारण दोपहिया वाहन चालक ही इसका शिकार होते हैं। 
वाहनों के क्राॅसिंग के दौरान कई लोग गड्ढे में फंस कर चोटिल हो चुके हैं। फिर भी निर्माण कार्य को लेकर अभी तक लोक निर्माण विभाग व संबंधित ठेकेदार ने निर्माण शुरू नहीं किया है। जिला मुख्यालय बेमेतरा में सड़कों की दुर्दशा व विकास में पिछड़ने को लेकर एक बार फिर शहर के लोग परेशान हैं। जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी व जनप्रतिनिधि शहर की सड़कों की दशा नहीं सुधार पा रहे हैं। हालांकि अब अधिकारी जल्द काम शुरू होने की बात कर रहे हैं। 
कई बार घोषणा व दावे लेकिन काम शुरू नहीं : जिला प्रशासन के जनसंपर्क विभाग के अनुसार कलेक्टर शिव अनंत तायल व विधायक ने विभिन्न अधिकारियों की बैठक ली थी, जिसमें शहर के बीचों-बीच गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग को फोरलेन में तब्दील करने व बेमेतरा, बेरला, अहिवारा मार्ग के निर्माण को लेकर अधिकारियों को निर्देशित किया था। एनएच को फोरलेन बनाने विधायक ने घोषणा की और अधिकारियों को निर्देशित किया। हालांकि, इससे पहले भी इस सड़क को फोरलेन बनाने को लेकर कई बार घोषणाएं व दावे किए जा चुके हैं लेकिन अब तक फोनलेन बनाने का काम शुरू नहीं हो पाया है।

फोरलेन बनने में लगेंगे डेढ़ साल, दोनों ओर होगी नाली
30 करोड़ की लागत से बनाए जाने वाली फोरलेन सड़क के लिए डेढ़ साल का समय तय किया गया है। एनएच चौड़ी करने के लिए 18 माह की मियाद है। अभी तक सड़क का निर्माण शुरू नहीं किया गया है, जबकि ठेकेदार से अनुबंध डेढ़ माह पूर्व किया गया था। फोरलेन बनाने के साथ ही सड़क के दोनों तरफ नाली, बीच में डिवाइडर व बिजली लाइन आदि का काम सड़क निर्माण के साथ होना है। सड़क के दोनों ओर 56 पेड़ों को भी वन विभाग के माध्यम से कटवाया जाना है। बिजली 

ये दो काम भी अटके हुए
1. वैकल्पिक सड़क का भूमिपूजन लेकिन काम शुरू नहीं  :
एनएच पर शहर के ट्रैफिक को डायवर्ट करने के लिए ग्राम चोरभट्ठी से लेकर कारेसरा तक वैकल्पिक सड़क निर्माण के लिए इसी साल पीडब्ल्यूडी मंत्री ताम्रध्वज साहू ने चोरभट्ठी में भूमिपूजन किया। बावजूद इस सड़क का निर्माण अब तक शुरू नहीं हो पाया है। यह सड़क पीडब्ल्यूडी के बजट में ही नहीं है। बेमेतरा, बेरला, अहिवारा मार्ग के निर्माण को लेकर सड़क के दोनों ओर पेड़ काटने के लिए प्रक्रिया चल रही है।  
2.जल आवर्धन को लेकर 8 वार्डों में पाइप लाइन नहीं बिछा पाए : भाजपा शासनकाल में जिला मुख्यालय में शिवनाथ नदी से पीने के पानी की सप्लाई के लिए जल आवर्धन योजना की शुरुआत की गई थी, लेकिन यह योजना अब तक अधूरी है। शहर के 8 वार्डों के निवासियों को अब तक इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिया गया है, पर योजना धीमी पड़ गई है। 8 वार्डों में नई पाइप लाइन बिछाने का काम पूरा नहीं हो सका है। 
कुछ समस्या थी, उसे दूर कर चुके, जल्द शुरू होगा काम
कलेक्टर शिव अनंत तायल ने बताया कि विधायक के साथ प्रशासन की बैठक हुई थी। सड़क निर्माण में कुछ समस्या थी, उसे दूर कर लिया है। पेड़ काटने की अनुमति दे दी गई है। बिजली कंपनी के कार्य भी जारी है। टेंडर हो चुका है। सड़क के भीतर पाइप लाइन की कुछ समस्या है। पीएचई व नपा के बीच समस्या को हल कर लिया जाएगा। सड़क किनारे बेजा कब्जा हटाने के लिए मार्किंग शुरू हो गई है। काम जल्द शुरू होगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना