बीएसपी अस्पताल / परिजन के ठहरने के लिए बनाए रेस्ट रूम में कूलर-पंखे खराब, तकिये, चादर व गद्दे गंदे

Cooler-fans in the rest room made for the family's stay, pillows, sheets and mattresses dirty
X
Cooler-fans in the rest room made for the family's stay, pillows, sheets and mattresses dirty

  • खिड़कियों में कांच नहीं, टाइल्स उखड़ गई, लोहे के पंलग की भी नहीं हो रही सफाई

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:00 AM IST

दल्लीराजहरा. नगर में बीएसपी का अस्पताल तो है लेकिन बेहतर इलाज की सुविधा नहीं है। डॉक्टरों से लेकर भी स्टाफ की कमी है जिसके चलते अधिकांश मरीजों को भिलाई सेक्टर 9 अस्पताल पर अाश्रित रहना पड़ता है। कई गंभीर मामले में राजहरा अस्पताल से रेफर करने के बाद परिजन इलाज के लिए भिलाई ले जाते हैं लेकिन जिन मरीजों को वहां भर्ती किया जाता है उनके परिजनं के रहने की व्यवस्था नहीं है जिसके कारण काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। 
अक्सर दल्ली के अस्पताल से अधिकतर केस में मरीजों के बेहतर इलाज के लिए भिलाई सेक्टर 9 स्थित पंडित जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय रेफर किया जाता हैै। जिसकी दूरी लगभग 90 किमी है। गंभीर हालात में भर्ती मरीजों के इलाज के दौरान परिजन के ठहरने के लिए सेक्टर 9 स्थित बीएसपी अस्पताल के पास सर्वसुविधायुक्त चार अलग-अलग कमरे का रेस्ट रूम बनाया गया है। जहां पर मरीजों के परिजन अलग-अलग ठहर सकते हैं। लेकिन रेस्ट रूम केयर टेकर के अभाव में वर्तमान हालात दयनीय है। कमरों में लगाया गया टाइल्स कई जगहों से टूट कर खराब हो चुकी है जिसके कारण ठहरने वालों को कठिनाई होती है। जहां पर अलग अलग मरीजों के परिजन आकर ठहरते है, कमरों को सर्वसुविधायुक्त बनाया जाना जरूर है। जिससे काेई परेशानी ना हाे।
रात में जहरीले जीव-जंतुुओं का खतरा 
रोजाना कमरों की साफ सफाई नहीं किए जाने से गंदगी पसरी रहती है, सभी कमरों की खिड़कियां व कांच टूटे चुके है। जिसके कारण दिन में भरी गर्मी से लोग परेशान हो जाते वहीं रात में किसी भी प्रकार के जहरीले जीव जंतु का डर बना रहता है।  कमरों में लगा कूलर व पंखे खराब हो चुके। लोहे का पंलग, गद्दे, तकिया तथा चादर गंदा हो चुके है जिसकी बराबर सफाई नहीं होती है। शिकायत के बाद भी जिम्मेदार इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। 
व्यवस्था ठीक कराई जाएगी: विश्वास
डायरेक्ट आफ माइंस भिलाई मानस विश्वास ने बताया अस्पताल के रेस्ट रूम की समस्या के संबंध में मुझे कोई जानकारी नहीं है। यदि वहां समस्या है तो दौरा कर वस्तु स्थिति से अवगत होकर तत्काल व्यवस्था को ठीक कराया जाएगा, ताकि मरीजाें के परिजन काे परेशानी न हाे। 

होटलों में किराया देकर ठहरने को हैं मजबूर
रेस्ट रूम के कमरों के बाथरूम व टायलेट में गंदगी रहती। सफाई नहीं होने के कारण ठहरने वाला व्यक्ति खुद बीमार महसूस करता है। इस संबंध में मरीजों के परिजन द्वारा शिकायत के करने के बावजूद  कोई भी जिम्मेदार अधिकारी द्वारा इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिसके कारण यहां पर ठहरने वालों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कई मरीजों के परिजन मजबूरी में बाहर होटलों में किराया देकर ठहरते हैं। 
ऑनलाइन मिलेगी रिपोर्ट
नगर के बीएसपी अस्पताल में किसी भी तरह के पैथोलॉजी टेस्ट करवाने के बाद बीमारियों की रिपोर्ट भिलाई से आती है। जिसमें कई बार रिपोर्ट गुम हो जाता था। लोगों को समय पर इसकी जानकारी नहीं मिल पाती थी। लेकिन प्रबंधन ने व्यवस्था में सुधार करते हुए रिपोर्ट को ऑनलाइन कर दिया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना